BBCHindi.com
अँग्रेज़ी- दक्षिण एशिया
उर्दू
बंगाली
नेपाली
तमिल
  अंदाज़-ए-बयाँ
शुक्रवार, 04 अप्रैल, 2008 को 16:43 GMT तक के समाचार
 
मिर्ज़ा ग़ालिब
इतिहास सिर्फ़ राजाओं और बादशाहों की हार-जीत का नहीं होता. इतिहास उन छोटी-बड़ी वस्तुओं से भी बनता है जो अपने समय से जुड़ी होती हैं और समय गुज़र जाने के बाद ख़ुद इतिहास बन जाती हैं.
 
चित्रांकन-रत्नाकर
 
शोएब पाकिस्तानी हैं और वहाँ की जनता को संबोधित करने का उन्हें हक है, लेकिन संबोधन में दुनियाभर के मुसलमानों को शामिल करने की क्या ज़रूरत थी.
 
जगजीत से मेरी दोस्ती की उम्र उतनी ही है जितनी कि मेरी ग़ज़ल, 'दुनिया जिसे कहते हैं, बच्चों का खिलौना है. मिल जाए तो मिट्टी है खो जाए तो सोना' का.
 
निदा साहेब मानते हैं कि ग़ालिब और फ़िराक़ ने अपनी कमजोरियों से शायरी को नुक़सान नहीं पहुँचाया. फिराक़ की यही हुनरमंदी उनके बड़े होने की अलामत है.

 
  मौसम |हम कौन हैं | हमारा पता | गोपनीयता | मदद चाहिए
 
BBC Copyright Logo ^^ वापस ऊपर चलें
 
  पहला पन्ना | भारत और पड़ोस | खेल की दुनिया | मनोरंजन एक्सप्रेस | आपकी राय | कुछ और जानिए
 
  BBC News >> | BBC Sport >> | BBC Weather >> | BBC World Service >> | BBC Languages >>