BBCHindi.com
अँग्रेज़ी- दक्षिण एशिया
उर्दू
बंगाली
नेपाली
तमिल
 
सोमवार, 17 जुलाई, 2006 को 11:36 GMT तक के समाचार
 
मित्र को भेजें कहानी छापें
इंडोनेशिया सूनामी में 200 से अधिक मौतें
 
सूनामी
सूनामी ने एक बार फिर इंडोनेशिया में तबाही मचाई है
इंडोनेशिया में भूकंप के कारण सूनामी लहरों ने फिर तबाही मचाई है जिसमें मरने वालों की संख्या बढ़ कर 245 हो गई है.

राहत एजेंसियों का कहना है कि सबसे अधिक प्रभावित पांगनदरन इलाक़े में अभी डेढ़ सौ लोग लापता हैं.

सोमवार को इंडोनेशिया के जावा प्रांत में ज़बरदस्त भूकंप आया जिसकी तीव्रता रिएक्टर पैमाने पर 7.7 मापी गई.

मारे गए लोगों की निश्चित संख्या के बारे में रिपोर्टे स्पष्ट नहीं है लेकिन कई अधिकारियों का कहना है कि यह संख्या 245 से अधिक है.

कुछ अधिकारी मृतक संख्या 300 तक भी बता रहे हैं.

इसके बात समुद्र में सूनामी लहरें भी उठीं जावा के तटीय इलाकों में तबाही मचा गईं.

भूकंप के कारण समुद्र में दो मीटर की ऊँचाई तक सूनामी लहरें उठीं. क़रीब एक मिनट से भी ज़्यादा समय तक भूकंप के झटके महसूस किए गए.

सरकारी अधिकारियों ने कहा है कि अब इस इलाक़े में फिलहाल कोई और सूनामी नहीं आने वाला है. ऐसी अफवाहें थी कि जावा में फिर सूनामी लहरें उठने वाली हैं जिसके बाद लोग अपने घरों से निकल कर भागने लगे थे.

जावा की इस घटना के बाद भारत के अंडमान निकोबार द्वीप समूह में अलर्ट घोषित कर दिया गया है. इसके अलावा गृह मंत्रालय का नियंत्रण कक्ष सूनामी पर नज़र रखे हुए है.

उल्लेखनीय है कि 26 दिसंबर 2004 को आई सूनामी लहरों से भारत समेत 13 देशों में दो लाख से ज़्यादा लोग मारे गए थे. भारत में इसके कारण 10 हज़ार से अधिक लोगों की मौत हुई थी.

अफ़रातफ़री

एक प्रत्यक्षदर्शी के मुताबिक़ सूनामी लहरों को देखकर इलाक़े के लोगों में अफ़रातफ़री मच गई थी.

सूनामी
इंडोनेशिया के जावा प्रांत में तबाही का मंजर

शुरुआती रिपोर्ट के मुताबिक़ पंगन्दरान शहर में कई इमारतें बुरी तरह क्षतिग्रस्त हो गई हैं. तटीय इलाक़े में स्थित कई होटलों को भी नुक़सान पहुँचा है.

इंडोनेशिया की राजधानी जकार्ता में भी भूकंप के झटके महसूस किए गए और लोग घबरा कर अपने-अपने घरों से निकल गए.

क़रीब दो महीने पहले ही इंडोनेशिया के शहर योग्यकर्ता में भूकंप आया था जिसमें कम से कम छह हज़ार लोग मारे गए थे.

जबकि वर्ष 2004 के दिसंबर में भूकंप के कारण हिंद महासागर में उठी सूनामी लहरों ने दो लाख से भी ज़्यादा लोगों की जान ले ली थी.

 
 
इससे जुड़ी ख़बरें
इंटरनेट लिंक्स
बीबीसी बाहरी वेबसाइट की विषय सामग्री के लिए ज़िम्मेदार नहीं है.
सुर्ख़ियो में
 
 
मित्र को भेजें कहानी छापें
 
  मौसम |हम कौन हैं | हमारा पता | गोपनीयता | मदद चाहिए
 
BBC Copyright Logo ^^ वापस ऊपर चलें
 
  पहला पन्ना | भारत और पड़ोस | खेल की दुनिया | मनोरंजन एक्सप्रेस | आपकी राय | कुछ और जानिए
 
  BBC News >> | BBC Sport >> | BBC Weather >> | BBC World Service >> | BBC Languages >>