BBCHindi.com
अँग्रेज़ी- दक्षिण एशिया
उर्दू
बंगाली
नेपाली
तमिल
 
बुधवार, 06 सितंबर, 2006 को 17:27 GMT तक के समाचार
 
मित्र को भेजें कहानी छापें
'अप्रैल फ़ूल' के पीछे का राज़!
 

 
 
'अप्रैल फूल' के पीछे का राज़!
कुम्हारटोली, हजारीबाग झारखंड से दीपक कुमार सिंह जानना चाहते हैं कि अप्रैल फ़ूल कब और किस घटना के बाद मनाया जाने लगा.

ये कहना बड़ा मुश्किल है कि ये कब शुरु हुआ लेकिन आमतौर पर इसकी शुरुआत यूरोप से हुई मानी जाती है. सन 1582 से पहले अधिकांश यूरोप में 25 मार्च से पहली अप्रैल तक नव वर्ष के समारोह हुआ करते थे. इसी साल पोप ग्रैगरी तेरहवें ने एक नया कैलैंडर लागू किया जिसमें पहली जनवरी को नया साल माना गया. कई देशों में इसका विरोध हुआ लेकिन फ़्रांस ने इसे मानने से इनकार कर दिया. अन्य लोगों ने उनका मज़ाक उड़ाना शुरु कर दिया और उन्हे मूर्ख बताने लगे. शायद तभी से अप्रैल फ़ूल की परम्परा चल निकली.

पामटॉप कम्प्यूटर

पामटॉप कम्प्यूटर क्या है. इसकी विशेषता क्या है. बारी टोला, बेतिया पश्चिमी चम्पारण बिहार से गिरेन्द्र बारी.

पाम शब्द का अर्थ है हथेली और पामटॉप कम्प्यूटर वो होता है जिसे हथेली पर रखा जा सके. सामान्य कम्प्यूटर की तुलना में इसकी क्षमताएं सीमित होती हैं. छोटे आकार का होने की वजह से इसके साथ डिस्क ड्राइव नहीं आती लेकिन कई पामटॉप कम्प्यूटरों में ये सुविधा होती है कि आप डिस्क ड्राइव, मोडैम, मैमरी और अन्य उपकरण डाल सकते हैं.

डिप्रैशन

जगदीशपुर, पीला भोजपुर बिहार से हारुन रशीद अन्सारी पूछते हैं कि डिप्रैशन या अवसाद क्या है और ये किस तरह का नुक़सान पहुंचा सकता है.

डिप्रेशन या अवसाद

डिप्रैशन या अवसाद वो स्थिति है जिसमें व्यक्ति बुझा-बुझा सा रहता है, उसे किसी चीज़ की इच्छा नहीं रहती, वह घोर निराशा का शिकार रहता है, बस पड़ा रहना चाहता है, उसे या तो बहुत नींद आती है या बहुत कम, उसी तरह उसे या तो बहुत भूख लगती है या बहुत कम. इस अवसाद के कई कारण हो सकते हैं जिनका आधार जैविक, मनोवैज्ञानिक और सामाजिक कुछ भी हो सकता है. जैविक कारण है मस्तिष्क में न्यूरोट्रांस्मीटर्स का असंतुलन. ये वह प्राकृतिक तत्व है जिससे मस्तिष्क की कोशिकाएं एक दूसरे से सम्पर्क करती हैं. अवसाद में सैरोटोनिन और न्यूरोपिनफ़्राइन जैसे न्यूरोट्रांस्मीटर्स की कमी हो जाती है. मनोवैज्ञानिक कारणों में आती है आप की मनस्थिति, क्या आपके ऊपर कोई बाहरी दबाव है, क्या आपके निजी जीवन में कोई भारी संकट आ गया है, क्या आपके किसी प्रियजन की मृत्यु हो गई है और इसी तरह सामाजिक कारण भी हो सकते हैं. लेकिन जल्दी से जल्दी डॉक्टर की सलाह लेना चाहिए जिससे इसका इलाज हो सके.

साबूदाना

ग्राम बघेरा, अजमेर राजस्थान के दुल्ह सिंह जानना चाहते हैं कि साबूदाना वनस्पति है या कृत्रिम वस्तु है.

साबूदाना, सागो के पौधे से बनाया जाता है इसलिए उसे आप प्राकृतिक उत्पाद कह सकते हैं. सागो, ताड़ की तरह का एक पौधा होता है जो इस पृथ्वी पर पाए जाने वाले प्राचीनतम पौधों में से एक है. ये मूलरूप से पूर्वी अफ़्रीका का पौधा है और लाखों करोड़ों सालों से वैसे का वैसा बना हुआ है. इसका तना बड़ा मोटा हो जाता है और इसी के बीच को पीसकर पाउडर बनाया जाता है. फिर इसे छानकर गर्म किया जाता है जिससे दाने बन सकें.

ओ के

अंग्रेज़ी शब्द ओ के का क्या अर्थ है और इसका पूरा रूप क्या है. जानना चाहते हैं गांव लिचाना, ज़िला नागौर राजस्थान के अर्जुन राम.

ऑक्सफ़र्ड डिक्शनरी के अनुसार ओ के शब्द ऑल करैक्ट का संक्षिप्त रूप है. जिसका अर्थ है सब ठीक है. लेकिन ऑल करैक्ट को जब अंग्रेज़ी में लिखा जाता है तो उसके हिज्जे होते हैं all correct. फिर इसका संक्षिप्त रूप तो ए सी होना चाहिए. इसका कारण ये है कि उन्नीसवीं शताब्दी के शुरु में अमरीका में ध्वनि के आधार पर अंग्रेज़ी लिखने की शुरुआत हुई और ऑल करैक्ट के हिज्जे बने oll korrect. जिसका संक्षिप्त रूप होता है ओ के. ये शब्द 1840 में अमरीका के राष्ट्रपति पद के चुनाव के दौरान लोकप्रिय हुआ. राष्ट्रपति मार्टिन वैन ब्यूरैन, ओल्ड किंडरहुक के रहने वाले थे और दोबारा चुनाव लड़ रहे थे. बस उनका उपनाम ओल्ड किंडरहुक ही पड़ गया. इसका संक्षिप्त रूप भी ओके बैठता है.

ब्रॉडबैंड इंटरनेट

हसपुरा, औरंगाबाद बिहार से बीरेन्द्र कुमार खत्री पूछते हैं कि ब्रॉडबैंड सेवा क्या है और आर्थिक दृष्टि से ये कितनी फ़ायदेमंद है.

इंटरनेट का इस्तेमाल
ब्रॉडबैंड काफ़ी तेज़ी से बढ़ रहा है

ब्रॉडबैंड शब्द उस हाई बैंडविड्थ इंटरनैट कनैक्शन के लिए प्रयोग किया जाता है जो आम टेलीफ़ोन और मॉडेम की तुलना में डाटा कहीं अधिक तेज़ी से भेजता और प्राप्त कर सकता है. आमतौर पर होता ये है कि आप मॉडेम के ज़रिए अपने कम्प्यूटर पर इंटरनैट खोलते हैं और जितनी देर इंटरनैट पर रहते हैं टेलीफ़ोन का ख़र्च बढ़ता जाता है. लेकिन ब्रॉडबैंड सेवा आपको हर समय इंटरनैट उपलब्ध कराए रहती है. इससे आप संगीत, ऐनीमेशन, वीडियो आदि बड़ी तेज़ी से डाउनलोड कर सकते हैं. इसके लिए आपको हर महीने अपने इंटरनैट प्रोवाइडर को एक निश्चित राशि देनी पड़ती है.

थर्मामीटर

थर्मामीटर का आविष्कार किसने किया था. पूछते हैं कन्हरिया बाज़ार पूर्णिया बिहार से दिलीप कुमार सेंचुरी.

पहला थर्मामीटर 1612 में इटली के संतोरियो संतोरियो ने बनाया था. लेकिन सभी आविष्कारों की तरह थर्मामीटर पर भी कई वैज्ञानिकों ने काम किया. सन 1654 में ग्रैंड ड्यूक ऑफ़ टस्कनी, फ़रडिनैंड द्वितीय ने शीशे का एक थर्मामीटर बनाया जिसमें अल्कोहल भरा था. लेकिन यह सही तापमान नहीं बताता था. पारे से भरा थर्मामीटर सबसे पहले गेब्रियल फ़ैरनहाइट ने 1714 में बनाया. अब तो कई तरह के थर्मामीटर मिलते हैं.

 
 
नाइट ईटिंग सिंड्रोम क्या होता है?नाइट ईटिंग सिंड्रोम
रात को खाने या नींद में चलने की तरह खाने की भी आदत होती क्या यह...
 
 
चमगादड़ उल्टे क्यों लटकते हैं?चमगादड़ का लटकना
चमगादड़ उल्टे क्यों लटकते हैं या फिर रात में ही क्यों निकलते हैं...
 
 
लंदन की बिग बैन घड़ीघड़ियाँ आगे-पीछे क्यों?
कुछ पश्चिमी देशों में गर्मियों और सर्दियों का समय आगे-पीछे क्यों किया जाता है?
 
 
13 का चक्कर!!!13 का चक्कर!!!
क्या आप जानना चाहेंगे कि 13 की संख्या को आख़िर मनहूस क्यों माना जाता है...
 
 
साँपों की उम्र क्या होती है?साँपों की उम्र?
साँपों के नाम से ही फुरहरी होने लगती है लेकिन इनकी उम्र क्या होती है?
 
 
भारतीय तिरंगातिरंगा किसने बनाया?
क्या आप जानना चाहेंगे कि भारतीय तिरंगा किसने और कब बनाया?
 
 
इससे जुड़ी ख़बरें
चमगादड़ उल्टे क्यों लटकते हैं?
23 अगस्त, 2006 | पहला पन्ना
झूठ पकड़ने वाली मशीन का तरीका?
16 अगस्त, 2006 | पहला पन्ना
अपना हाथ-जगन्नाथ लेकिन कौन सा?
29 जुलाई, 2006 | पहला पन्ना
समय आगे-पीछे करने का मामला!
22 जुलाई, 2006 | पहला पन्ना
13 का चक्कर!!!
15 जुलाई, 2006 | पहला पन्ना
एलियन किस ग्रह के प्राणी हैं...
08 जुलाई, 2006 | पहला पन्ना
इंटरनेट लिंक्स
बीबीसी बाहरी वेबसाइट की विषय सामग्री के लिए ज़िम्मेदार नहीं है.
सुर्ख़ियो में
 
 
मित्र को भेजें कहानी छापें
 
  मौसम |हम कौन हैं | हमारा पता | गोपनीयता | मदद चाहिए
 
BBC Copyright Logo ^^ वापस ऊपर चलें
 
  पहला पन्ना | भारत और पड़ोस | खेल की दुनिया | मनोरंजन एक्सप्रेस | आपकी राय | कुछ और जानिए
 
  BBC News >> | BBC Sport >> | BBC Weather >> | BBC World Service >> | BBC Languages >>