BBCHindi.com
अँग्रेज़ी- दक्षिण एशिया
उर्दू
बंगाली
नेपाली
तमिल
 
शनिवार, 14 अक्तूबर, 2006 को 10:14 GMT तक के समाचार
 
मित्र को भेजें कहानी छापें
जेहाद का मतलब और संदर्भ?
 

 
 
इस्लामी जेहाद का एक लड़ाका
एक फ़लस्तीनी चरमपंथी संगठन का नाम इस्लामी जेहाद भी है
जेहाद इन दिनों मीडिया में सबसे चर्चित शब्द है. मंदसौर मध्य प्रदेश से मोहम्मद हनीफ़ ख़ान यह जानना चाहते हैं कि जेहाद का क्या अर्थ है, इसका मूल कहाँ है और इसकी परिभाषा क्या है.

जेहाद का मतलब है मेहनत और मशक़्क़त करना. इस्लाम में इसकी बड़ी अहमियत है. दो तरह के जेहाद बताए गए हैं. एक है जेहाद अल अकबर यानी बड़ा जेहाद और दूसरा है जेहाद अल असग़र यानी छोटा जेहाद. जेहाद अल अकबर अहिंसात्मक संघर्ष है जिसमें आदमी अपने सुधार के लिए प्रयास करता है. इसका उद्देश्य है बुरी सोच या बुरी ख़्वाहिशों को दबाना और कुचलना. जेहाद अल असग़र का उद्देश्य इस्लाम के संरक्षण के लिए संघर्ष करना होता है. जब इस्लाम के अनुपालन की आज़ादी न दी जाए, उसमें रुकावट डाली जाए, या किसी मुस्लिम देश पर हमला हो, मुसलमानों का शोषण किया जाए, उनपर अत्याचार किया जाए तो उसको रोकने की कोशिश करना और उसके लिए बलिदान देना जेहाद अल असग़र है.

रक्त वर्ग

मानव शरीर में कितने तरह के रक्त वर्ग होते हैं. पूछा है, गांव दिगवडीह धनबाद बिहार से क़मरुद्दीन अंसारी.

सन् 1901 में ऑस्ट्रिया के कार्ल लैंडश्टाइनर ने मानव रक्त के तीन प्रमुख वर्गों की खोज की जिससे एक व्यक्ति का ख़ून, दूसरे को सुरक्षा पूर्वक चढ़ाया जा सके. इस खोज के लिए उन्हें 1930 में चिकित्सा विज्ञान का नोबेल पुरस्कार भी मिला. यह वर्गीकरण हमारे ख़ून में मौजूद प्रोटीन अणुओं के आधार पर किया गया जिन्हें ऐन्टीजैन और ऐन्टीबॉडी कहा जाता है. अलग - अलग लोगों में इन अणुओं के अलग-अलग मेल होते हैं. यूँ तो आजकल कोई 20 रक्त वर्ग समूह ज्ञात हैं लेकिन दो वर्ग समूह सबसे महत्वपूर्ण माने जाते हैं. एक है एबीओ और दूसरा आरएच. एबीओ के अंतर्गत ख़ून के चार वर्ग हैं, ए, बी, एबी और ओ. कुछ लोगों के ख़ून में आरऐच तत्व भी होता है इस हिसाब से आठ वर्ग और बनते हैं.

रक्तदान

क्या कोई अफ़्रीकी व्यक्ति अपना ख़ून यूरोपीय या एशियाई व्यक्ति को दे सकता है. क्या महिला का ख़ून पुरुष को दिया जा सकता है. जानना चाहते हैं गोलपहाड़ी से जंगबहादुर सिंह और उमा सिंह.

बिल्कुल. बस देखना यह होता है कि ख़ून देने वाले और लेने वाले के का रक्त वर्ग एक जैसा हो. अगर ऐसा नहीं होगा तो दान किया गया ख़ून जमने लगेगा. जमी हुई रक्त कोशिकाएं रक्त वाहिकाओं में बाधा उत्पन्न करेंगी और रक्त का बहाव रुक जाएगा. ये रक्त कोशिकाएं टूट कर रक्त वाहिकाओं से बाहर आ सकती हैं जो रोगी के लिए घातक हो सकता है.

तालियाँ क्यों

किसी कार्यक्रम के उद्घाटन के समय या फिर किसी दूसरे मौक़े पर तालियां बजाई जाती हैं. इनकी शुरुआत कैसे हुई. शासन घुठिया, बांका बिहार से मनोज प्रसाद यादव.

तालियाँ बजाते कुछ दर्शक
तालियाँ तारीफ़ का एक तरीक हैं

ये कहना बहुत मुश्किल है कि तालियां बजाने की परम्परा कब और कहां शुरु हुई. ताली बजाने से ध्वनि पैदा होती है और हो सकता है आदि मानव ने ध्यान आकर्षित करने के लिए इसका प्रयोग किया हो या फिर ख़ुशी प्रकट करने के लिए ताली बजाई हो. प्राचीन मिस्र में ताल वाद्य बजाने के सिलसिले में इसका ज़िक्र मिलता है. बाइबिल में ईश्वर का गुणगान करते हुए ताली बजाने का निर्देश दिया गया है. प्राचीन रोम के सम्राट नीरो के बारे में सुना जाता है कि वो अपने गाने की तारीफ़ में ताली बजाने वालों को पैसा दिया करते थे क्योंकि वो बहुत बेसुरा गाते थे. आज भी ताली बजाने के कारण आज भी वही हैं, ख़ुशी या तारीफ़.

ग्राउंड ज़ीरो

भू शून्य या ग्राउंड ज़ीरो कहाँ है. पाटाहाटू, सिंहभूम बिहार से लक्ष्मी लयंगी.

ग्राउंड ज़ीरो अमरीका के महानगर न्यूयॉर्क में है. यह वो स्थान है जहाँ वर्ल्ड ट्रेड सैंटर की दो, बहुमंज़िला इमारतें खड़ी थीं. ग्यारह सितम्बर 2001 को जब अमरीका पर आतंकवादी हमले हुए तो अमेरिकन एयरलाइन्स का एक विमान उत्तरी इमारत से जा टकराया इसके 17 मिनट बाद यूनाइटेड एयरलाइन्स का एक और विमान दक्षिणी इमारत से जा टकराया. देखते ही देखते ये दोनों इमारतें पूरी तरह ध्वस्त हो गईं.

क्रिकेट

सुंडमारा, गोड्डा झारखंड से मनोज कुमार पंडित पूछते हैं क्रिकेट में राउंड द विकेट और ओवर द विकिट का क्या अर्थ है.

सीधे हाथ का गेंदबाज़ जब अम्पायर की बांई तरफ़ से गेंद फेंकता है तो वह ओवर द विकिट कहलाता है. लेकिन अगर वह अम्पायर के दाएँ हाथ की तरफ़ से गेंद फेंक रहा हो तो वह राउंड द विकिट होता है. बांए हाथ के गेंदबाज़ के लिए यह उल्टा हो जाता है.

मिर्च का मिज़ाज

दनियालपुर, तेघड़ा बेगुसराय बिहार के संदीप अनल पूछते हैं कि हरी मिर्च का तीखापन उसके बीज में होता है या उसके छिलके में.

मिर्च
कुछ मिर्च ज़्यादा तो कुछ कम तीखी होत हैं

हरी मिर्च का तीख़ापन कैप्साएसिन नाम के रासायनिक योग के कारण होता है. अगर मिर्च के सब हिस्सों को मिलाकर देखा जाए तो उसमें दशमलव 48 प्रतिशत कैप्साएसिन होता है. सबसे ज़्यादा तीख़ापन मिर्च के गूदे में होता है, उसके बाद उसके छिलके में और सबसे कम उसके बीजों में होता है. लेकिन जब मिर्च सूखने लगती है तो उसका गूदा उसके छिलके में चिपक जाता है इसलिए यह पता नहीं चलता कि गूदा कहां है.

हावड़ा पुल

कृपया बताएं कि हावड़ा पुल किसने और कब बनवाया था. हथगांव, फ़तहपुर उत्तर प्रदेश से सुप्रिया गुप्ता.

हावड़ा ब्रिज हुगली नदी पर बना पहला झूलता पुल है जो 1874 में बनकर तैयार हुआ. इसे हावड़ा और कोलकाता को जोड़ने के लिए बनाया गया था. इस पुल के कुछ हिस्से ब्रिटन में बने थे और कुछ भारत में. यह 270 फ़िट ऊँचा और 1528 फ़िट लम्बा है. जाने माने ब्रिटिश इंजीनियर सर ब्रैडफ़र्ड लैस्ली को इस पुल की परियोजना के लिए नियुक्त किया गया था. इसमें कोई साठ लाख रुपए ख़र्च हुए थे.

ईमेल सेवा

कौन सी कम्पनी ने सबसे पहले ईमेल सेवा प्रदान की थी. जावेद क़मर, रामपुर केशो, शिवहर बिहार.

आमतौर से यह माना जाता है कि ईमेल प्रणाली इंटरनेट की देन है. लेकिन सच ये है कि ईमेल, इंटरनेट से पहले शुरु हो चुका था. सन 1965 में इसकी शुरुआत इस तरह हुई कि किसी एक कार्यालय में बहुत सारे लोग एक प्रमुख कम्प्यूटर के ज़रिए एक दूसरे के साथ सम्पर्क करें. जल्दी ही यह सुविधा नेटवर्क ईमेल में बदल गई जिसमें अलग-अलग कम्प्यूटर इस्तेमाल करने वाले एक दूसरे को संदेश भेज पाते थे.

यूं तो ईमेल का इतिहास कुछ धुंधला है लेकिन संभवत 1966 में ऑटोडिन प्रणाली ने इस तरह की सेवा उपलब्ध कराई. ईमेल के विकास में अर्पानैट कम्प्यूटर नैटवर्क का भी भारी योगदान है. 1971 में प्रयोगकर्ताओँ के नामों को अलग करने के लिए रे टॉमलिन्सन ने @ चिन्ह का प्रयोग किया. अब इंटरनैट सुविधा विभिन्न इंटरनैट सर्विस प्रोवाइडर द्वारा उपलब्ध कराई जाती हैं.

 
 
गेंहूँ की बालीहरित क्रांति का जनक?
भारत में हरित क्रांति की पृष्ठभूमि क्या है और इसके जनक कौन थे...
 
 
पेटेंट और कॉपीराइट का चक्कर!पेटेंट और कॉपीराइट
पेटेंट क्या है और यह कॉपीराइट से किस तरह और कितना अलग है?
 
 
तितली के पंखों की सुंदरता कैसे?तितली के पंखों पर
ये तो हम जानते ही हैं कि तितली के पंख बहुत सुंदर होते हैं लेकिन...
 
 
'अप्रैल फ़ूल' के पीछे का राज़!'अप्रैल फ़ूल' का राज़!
दुनिया भर में मूर्ख दिवस के रूप में मशहूर अप्रैल फ़ूल के पीछे क्या राज़ है...
 
 
आपका दिल कितना भारी?दिल कितना भारी!
दिल का मामला नाज़ुक और बहुत अहम होता है. दिल कितना भारी होता है?
 
 
नाइट ईटिंग सिंड्रोम क्या होता है?नाइट ईटिंग सिंड्रोम
रात को खाने या नींद में चलने की तरह खाने की भी आदत होती क्या यह...
 
 
चमगादड़ उल्टे क्यों लटकते हैं?चमगादड़ का लटकना
चमगादड़ उल्टे क्यों लटकते हैं या फिर रात में ही क्यों निकलते हैं...
 
 
इससे जुड़ी ख़बरें
हरित क्रांति का जनक कौन?
16 सितंबर, 2006 | पहला पन्ना
चमगादड़ उल्टे क्यों लटकते हैं?
23 अगस्त, 2006 | पहला पन्ना
झूठ पकड़ने वाली मशीन का तरीका?
16 अगस्त, 2006 | पहला पन्ना
अपना हाथ-जगन्नाथ लेकिन कौन सा?
29 जुलाई, 2006 | पहला पन्ना
समय आगे-पीछे करने का मामला!
22 जुलाई, 2006 | पहला पन्ना
13 का चक्कर!!!
15 जुलाई, 2006 | पहला पन्ना
एलियन किस ग्रह के प्राणी हैं...
08 जुलाई, 2006 | पहला पन्ना
इंटरनेट लिंक्स
बीबीसी बाहरी वेबसाइट की विषय सामग्री के लिए ज़िम्मेदार नहीं है.
सुर्ख़ियो में
 
 
मित्र को भेजें कहानी छापें
 
  मौसम |हम कौन हैं | हमारा पता | गोपनीयता | मदद चाहिए
 
BBC Copyright Logo ^^ वापस ऊपर चलें
 
  पहला पन्ना | भारत और पड़ोस | खेल की दुनिया | मनोरंजन एक्सप्रेस | आपकी राय | कुछ और जानिए
 
  BBC News >> | BBC Sport >> | BBC Weather >> | BBC World Service >> | BBC Languages >>