BBCHindi.com
अँग्रेज़ी- दक्षिण एशिया
उर्दू
बंगाली
नेपाली
तमिल
 
 
मित्र को भेजें कहानी छापें
याहू का पूरा नाम क्या है?
 

 
 
याहू
याहू इंटरनेट की दुनिया में बड़ा नाम है
याहू डॉट कॉम का किसने आविष्कार किया. हिन्दी डॉट कॉम के ज़रिए यह सवाल किया है बांगलादेश से संजीव सिंह ने.

याहू डॉटकॉम की स्थापना अमरीका के स्टैनफ़र्ड विश्वविद्यालय में इलैक्ट्रिकल इंजीनियरिंग में पीएचडी कर रहे दो छात्रों, डेविड फ़िलो और जैरी यांग ने 1994 में की थी. यह वेबसाइट जैरी ऐन्ड डेविड्स गाइड टू द वर्ल्ड-वाइड-वैब के नाम से शुरु हुई थी लेकिन फिर उसे एक नया नाम मिला, यट अनदर हाइरार्किकल ऑफ़िशियस ओरैकिल. जिसका संक्षिप्त रूप बनता है याहू. जैरी और डेविड ने इसकी शुरुआत इंटरनेट पर अपनी व्यक्तिगत रुचियों के लिंकों की एक गाइड के रूप में की थी लेकिन फिर वह बढ़ती चली गई. फिर उन्होंने उसे श्रेणीबद्ध करना शुरु किया. जब वह भी बहुत लम्बी हो गई तो उसकी उप-श्रेणियां बनाईं. कुछ ही समय में उनके विश्वविद्यालय के बाहर भी लोग इस वेबसाइट का प्रयोग करने लगे. अप्रैल 1995 में सैकोया कैपिटल कम्पनी की माली मदद से याहू को एक कम्पनी के रूप में शुरू किया गया. इसका मुख्यालय कैलिफ़ोर्निया में है और यूरोप, एशिया, लातीनी अमरीका, ऑस्ट्रेलिया, कनाडा और अमरीका में इसके कार्यालय हैं.

ल मॉंड कहां का समाचार पत्र है और किस भाषा में छपता है. ग्राम औरहा, मधुबनी बिहार से राधेकुमार मंडल.

ल मॉंड फ्रांसीसी सांध्य दैनिक है. दूसरे विश्वयुद्ध के दौरान जब जर्मन सेना को पेरिस से खदेड़ दिया गया, तो फ़्रांस के सैन्य नेता जनरल चार्ल्स डि गॉल के आग्रह पर, 1944 में ह्यूबर्ट ब्यूवे मैरी ने इसकी स्थापना की. ल मॉंड का अर्थ है विश्व.

ग्राम बेल्हवाड़, मधुबनी बिहार से मोहम्मद अज़ीज़ुल हक़ पूछते हैं कि पाकिस्तान की ख़ुफ़िया एजेंसी आई एस आई का पूरा रूप क्या है और इसका क्या उद्देश्य है.

पाकिस्तान की ख़ुफ़िया एजेंसी आई एस आई का पूरा रूप है इन्टर सर्विसिज़ इन्टैलिजेन्स. इसकी नींव एक ब्रिटिश सेना अधिकारी मेजर जनरल आर कॉथोम ने 1948 में रखी थी जो उस समय पाकिस्तानी सेना के डिपुटी चीफ़ ऑफ़ स्टाफ़ थे. पाकिस्तान के राष्ट्रपति फ़ील्ड मार्शल अय्यूब ख़ान ने 1950 के दशक में इस एजेन्सी की भूमिका बढ़ाई. इसका काम है विदेशी और घरेलू ख़ुफ़िया जानकारी जुटाना, सेना की तीनों शाखाओं के बीच समन्वय रखना, प्रसार माध्यमों, दूरसंचार, पाकिस्तानी राजनेताओं, विदेशी और पाकिस्तानी राजनयिकों पर नज़र रखना और गुप्त रूप से आक्रामक अभियान चलाना आदि.

दुनिया में किस जानवर की आयु सबसे ज़्यादा होती है. जानना चाहते हैं ग्राम राजन, गया बिहार से साधु साव सज्जन.

कछुआ
कुछ कछुओं की उम्र सैकड़ों साल होती है

विशालकाय कछुए की आयु सबसे अधिक होती है. ये 120 से 200 वर्ष तक जी सकते हैं. सिर से पूँछ तक इनकी लम्बाई 6 फ़िट होती है और वज़न 225 किलो के लगभग होता है. ये बहुत धीरे-धीरे चलते हैं, एक घंटे में कोई चौथाई किलोमीटर. दक्षिण अमरीकी देश ऐक्वाडोर से कोई 1000 किलोमीटर पश्चिम की ओर प्रशान्त महासागर में गैलैपेगॉस द्वीप समूह है जो इनका प्राकृतिक वास है. ये विशाल कछुए घास, पौधों के पत्ते और फल आदि खाकर जीते हैं यानी शाकाहारी होते हैं.

गांव जतुका, दरभंगा बिहार से आसिफ़ अख़्तर मिन्टू पूछते हैं कि दवा बनाने वाली कम्पनियां, किसी दवा की ऐक्स्पाइरी डेट का निर्धारण कैसे करती हैं. किसी दवा की समय सीमा एक साल, तो किसी की चार साल होती है, ऐसा क्यों.

किसी भी दवा की समय सीमा एक वैज्ञानिक पद्धति से तय की जाती है. इन दवाइयों को सामान्य से कठिन परिस्थितियों में रखा जाता है जैसे 75 आर ऐच से अधिक आर्द्रता या 40 डिग्री से अधिक तापमान. फिर हर महीने या हर हफ़्ते उनकी प्रभावशीलता की जांच की जाती है. इसी आधार पर यह तय किया जाता है कि अमुक दवा की समय सीमा डेढ़ साल हो, दो साल या तीन साल. जब दवा बाज़ार में आ जाती है तो फिर उसका अध्ययन किया जाता है और उसकी प्रभावशीलता के अनुसार ही उसकी समय सीमा बढ़ाई जाती है.

पाकिस्तानी शहर हसन अब्दल क्यों मशहूर है और किस अर्थ में यहां की संस्कृति भारतीय है. ग्राम बलिया काशीबाड़ी, किशनगंज बिहार से हसन जावेद.

हसन अब्दल, रावलपिंडी से कोई 55 किलोमीटर दूर ग्रैंड ट्रंक रोड पर बसा शहर है. यहां पंद्रहवीं शताब्दी के मुस्लिम संच बाबा वली क़ंधारी रहा करते थे. कहते हैं कि 1521 में गुरु नानक अपने शिष्य भाई मरदाना के साथ यहां आए थे. मरदाना को बड़ी प्यास लगी थी. गुरु ने कहा बाबा वली कंधारी से जाकर पानी मांग लो. लेकिन बाबा ने पानी देने से इनकार कर दिया. फिर गुरु नानक ने मरदाना से एक पत्थर हटाने को कहा तो उसके नीचे से पानी की धार बह निकली. उधर बाबा का कुंआ ख़ाली हो गया. नाराज़ होकर उन्होंने एक बड़ी चट्टान गुरु नानक की तरफ़ लुढ़काई तो गुरु ने उसे अपनी हथेली रोक लिया. हरि सिंह नलवा ने यहां गुरुद्वारा बनवाया जो पंजा साहेब के नाम से मशहूर है.

आईसीसी के प्रथम अध्यक्ष कौन थे तथा वो किस देश के नागरिक थे. ग्राम सुपौल बिहार शेखर कुमार कुशवाहा.

आईसीसी के प्रथम अध्यक्ष थे लॉर्ड काउड्री जिन्होंने यह पद 1989 से 1993 के बीच सँभाला. इनका जन्म 24 दिसम्बर 1932 में तमिल नाडु के ऊडगमंडलम नगर में हुआ था. इनके पिता ने इनका नाम रखा माइकिल कॉलिन काउड्री. तेरह वर्ष की अल्पायु में ये इंग्लैंड के टनब्रिज स्कूल के लिए लॉर्ड्स के मैदान पर खेलने उतरे थे. 1959 में इन्हें इंगलैंड का कप्तान बनाया गया. चवालीस साल की उम्र में कॉलिन ने क्रिकेट से सन्यास ले लिया लेकिन क्रिकेट के संगठनों से जुड़े रहे.

 
 
अप्पू घरअप्पू घर कैसे बना
क्या आप जानना चाहते हैं कि राजधानी दिल्ली का अप्पू घर किसने बनवाया.
 
 
गेंहूँ की बालीहरित क्रांति का जनक?
भारत में हरित क्रांति की पृष्ठभूमि क्या है और इसके जनक कौन थे...
 
 
पेटेंट और कॉपीराइट का चक्कर!पेटेंट और कॉपीराइट
पेटेंट क्या है और यह कॉपीराइट से किस तरह और कितना अलग है?
 
 
तितली के पंखों की सुंदरता कैसे?तितली के पंखों पर
ये तो हम जानते ही हैं कि तितली के पंख बहुत सुंदर होते हैं लेकिन...
 
 
'अप्रैल फ़ूल' के पीछे का राज़!'अप्रैल फ़ूल' का राज़!
दुनिया भर में मूर्ख दिवस के रूप में मशहूर अप्रैल फ़ूल के पीछे क्या राज़ है...
 
 
आपका दिल कितना भारी?दिल कितना भारी!
दिल का मामला नाज़ुक और बहुत अहम होता है. दिल कितना भारी होता है?
 
 
नाइट ईटिंग सिंड्रोम क्या होता है?नाइट ईटिंग सिंड्रोम
रात को खाने या नींद में चलने की तरह खाने की भी आदत होती क्या यह...
 
 
इससे जुड़ी ख़बरें
हरित क्रांति का जनक कौन?
16 सितंबर, 2006 | पहला पन्ना
चमगादड़ उल्टे क्यों लटकते हैं?
23 अगस्त, 2006 | पहला पन्ना
झूठ पकड़ने वाली मशीन का तरीका?
16 अगस्त, 2006 | पहला पन्ना
अपना हाथ-जगन्नाथ लेकिन कौन सा?
29 जुलाई, 2006 | पहला पन्ना
समय आगे-पीछे करने का मामला!
22 जुलाई, 2006 | पहला पन्ना
13 का चक्कर!!!
15 जुलाई, 2006 | पहला पन्ना
एलियन किस ग्रह के प्राणी हैं...
08 जुलाई, 2006 | पहला पन्ना
सुर्ख़ियो में
 
 
मित्र को भेजें कहानी छापें
 
  मौसम |हम कौन हैं | हमारा पता | गोपनीयता | मदद चाहिए
 
BBC Copyright Logo ^^ वापस ऊपर चलें
 
  पहला पन्ना | भारत और पड़ोस | खेल की दुनिया | मनोरंजन एक्सप्रेस | आपकी राय | कुछ और जानिए
 
  BBC News >> | BBC Sport >> | BBC Weather >> | BBC World Service >> | BBC Languages >>