BBCHindi.com
अँग्रेज़ी- दक्षिण एशिया
उर्दू
बंगाली
नेपाली
तमिल
 
शनिवार, 20 अक्तूबर, 2007 को 12:47 GMT तक के समाचार
 
मित्र को भेजें कहानी छापें
मच्छर को कौन सा रक्त ज़्यादा पसंद है?
 

 
 
मच्छर को कौन सा रक्त ज़्यादा पसंद है?
मच्छरों को कुछ ख़ास क़िस्म का रक्त ज़्यादा पसंद होता है
सिद्धार्थ नगर उत्तर प्रदेश के कैलाश नाथ मिश्र पूछते हैं कि मच्छरों को क्या ए बी पोज़ीटिव ख़ून अधिक पसंद है क्योंकि उन्हें मच्छर बहुत काटते हैं और उनका ब्लड ग्रुप यही है.

कैलाश नाथ जी वैज्ञानिक लंबे समय से इस पहेली से जूझ रहे हैं कि कुछ लोगों को मच्छर ज़्यादा क्यों काटते हैं लेकिन अभी तक कोई निश्चित उत्तर नहीं मिल सका है. हाँ, इतना ज़रूर है कि मच्छर कार्बन डाइऑक्साइड की गंध से आकर्षित होकर हमारी तरफ़ आते हैं क्योंकि हर साँस के साथ हम कार्बन डाइऑक्साइड बाहर फेंकते हैं लेकिन इसके साथ कुछ अम्ल भी हैं जो मच्छरों को आकर्षित करते हैं. अमरीका के मच्छर नियंत्रण संगठन के अनुसार ऐसे कोई 400 यौगिक हैं जो मच्छरों के लिए चुंबक का काम करते हैं. इनमें से कुछ यौगिक शरीर के भीतर पैदा होते हैं और कुछ बाहरी होते हैं. जिनके शरीर में कुछ ख़ास क़िस्म के अम्ल अधिक बनते हैं ख़ासकर यूरिक ऐसिड या मूत्राम्ल, उन्हें मच्छर दूर से ही सूंघ लेते हैं. पसीने की ग्रंथियों से निकलने वाले लैक्टिक ऐसिड या दुग्धाम्ल भी मच्छरों को आकर्षित करता है.

खिलजी वंश के संस्थापक जलालुद्दीन खिलजी और अलाउद्दीन खिलजी का आपस में क्या रिश्ता था. यह सवाल किया है बाड़मेर राजस्थान के जगदीश नेहरा ने.

अलाउद्दीन, जलालुद्दीन खिलजी का भतीजा और दामाद था. सन 1290 में ग़ुलाम वंश के बाद जलालुद्दीन खिलजी ने दिल्ली की राजगद्दी संभाली लेकिन अलाउद्दीन खिलजी बड़ा महत्वाकांक्षी था. वह सारे भारत पर राज करना चाहता था. उसने 1296 में जलालुद्दीन खिलजी की हत्या करके राजगद्दी पर क़ब्ज़ा कर लिया.

हमारे शरीर में पाई जाने वाली हड्डियों में से सबसे मज़बूत हड्डी कौन सी है. पूछते हैं ग्राम सोनबे पलामु झारखंड से भोले बम.

हमारी जांघ की हड्डी जिसे फ़ीमर कहते हैं हमारे शरीर की सबसे लंबी सबसे बड़ी और सबसे मज़बूत हड्डी होती है.

माइलू कार्बिआंगलांग असम से लक्ष्मी नारायण अधिकारी ने पूछा है कि हर भारतीय नोट पर लिखा रहता है कि मैं धारक को अमुक राशि अदा करने का वचन देता हूं. इसका क्या अर्थ होता है.

भारतीय रुपया

सन् 1934 के भारतीय रिज़र्व बैंक अधिनियम के खंड 26 के अधीन बैंक किसी भी नोट की क़ीमत अदा करने के लिए ज़िम्मेदार है क्योंकि उसी ने ये नोट छापे हैं. यह कोई अनुबंध नहीं है बल्कि क़ानूनी व्यवस्था है. बैंक का यह दायित्व है कि किसी भी नोट के बदले वह उतने मूल्य के सिक्के अदा करे. मैं धारक को अमुक राशि अदा करने का वचन देता हूँ जैसी कोई बात सिक्कों पर इसलिए नहीं लिखी जाती क्योंकि सिक्के भारत सरकार जारी करती है और वह प्रभुसत्ता सम्पन्न है इसलिए उसे वचन देने की ज़रूरत नहीं वह सिक्कों की क़ीमत अदा करेगी ही.

ईसाई धर्म में किसने सिस्टीन चैपल की स्थापना की. यह सवाल किया है सीतामढ़ी बिहार के मणि प्रवीण ने.

सिस्टीन चैपल कैथलिक चर्च के सर्वोच्च धर्मगुरू पोप के आधिकारिक निवास, एपॉस्टोलिक महल में बना प्रार्थनालय है लेकिन इसकी ख्याति इसके वास्तुशिल्प और भित्तिचित्रों के कारण अधिक है. सिस्टीन चैपल वह जगह है जहाँ नए पोप के चयन के लिए बैठक होती है. इसे पोप सिक्सटस चतुर्थ के लिए बाच्चियो पॉंटैली ने डिज़ाइन किया था और जियोवान्नीनो डि डॉल्ची के निरीक्षण में इसका निर्माण कार्य 1473 से लेकर 1484 के बीच पूरा हुआ. पोप सिक्सटस के नाम पर ही इसका नाम सिस्टीन पड़ा.

ट्रैकोमा कैसा रोग है और शरीर के कौन से अंग को प्रभावित करता है. यह पूछा है रावली नाडी, बाड़मेर राजस्थान से जगदीश नेहरा ने.

ट्रैकोमा आँख की बीमारी है जिसका अगर इलाज न कराया जाए तो आदमी अंधा भी हो सकता है. यह बीमारी क्लैमीडिया ट्रैकोमैटिस नामक बैक्टीरिया से फैलती है. इसके लक्षण कंजंक्टिवाइटिस जैसे ही होते हैं जैसे आँख से पानी आना, सफ़ेद कीचड़ निकलना, आँख में दाने हो जाना, खुजली होना और आंखे लाल होना. इसका इलाज सल्फ़ोनामाइड ऐंटी बायटिक से किया जाता है. आंखों में डालने के लिए सल्फोसीटामाइड आई ड्रॉप और खाने के लिए सल्फ़ोनोमाइड गोलियाँ दी जाती हैं. ये ऐंटी बायटिक आमतौर पर छह सप्ताह या उससे ज़्यादा लेनी पड़ती हैं. ट्रैकोमा छूत की बीमारी है इसलिए रोगी के कपड़ों, रूमाल, तौलिया आदि का प्रयोग नहीं करना चाहिए.

कौलागढ़ देहरादून उत्तराखंड से सूरज शर्मा पूछते हैं कि अजीनो मोतो क्या है और उसका हमारे शरीर पर क्या असर पड़ता है.

अजीनो मोतो जापानी भाषा का शब्द है, जिसका मतलब है स्वाद का अरक. इस नाम की एक कंपनी भी है जो तरह- तरह के तेल, मसाले और खाद्य पदार्थ बनाती है. लेकिन इस कंपनी का सबसे मशहूर उत्पाद है मोनोसोडियम ग्लूटामेट, जो ग्लूटामेट अम्ल का, नमक जैसा रूप है. ग्लूटामेट अम्ल, ख़मीर उठाकर, पकाकर या अन्य तरीक़े से तैयार किया जाता है और मोनोसोडियम ग्लूटामेट बनता है ग्लूटामेट, नमक और पानी के मिश्रण से. चीनी और जापानी खाने में इसका इस्तेमाल सदियों से होता आया है लेकिन यह सब हमारी ज़बान के स्वाद पर निर्भर करता है. कई लोग यह मानते हैं कि इसके प्रयोग से सिरदर्द, चक्कर आना छाती में दर्द की शिकायत होती है लेकिन सबको नहीं.

क्या मछलियाँ भी अन्य जीवों की तरह सोती हैं. यह सवाल पूछा है जमुई बलिया उत्तर प्रदेश से बलवंत कुमार राम ने.

मछली जल की रानी होती है

शार्क मछलियों को छोड़कर बाक़ी मछलियों की पलकें नहीं होतीं इसलिए वो आंखें तो बंद कर नहीं सकतीं. हाँ, आराम कर सकती हैं और करती हैं लेकिन अलग-अलग प्रजातियाँ अलग-अलग ढंग से आराम करती हैं. कुछ नदी तल की मिट्टी के भीतर घुस जाती है, कुछ समुद्री चट्टान की दरार में घुसकर एक जैलीनुमां पदार्थ निकालती हैं जो उनके शरीर पर सुरक्षा कवच सा बना देता है और फिर वह सो जाती हैं. कुछ मछलियाँ रात के समय निश्चल पड़ी दिखाई देती हैं कुछ चट्टानों पर टेक लगाकर आराम करती हैं लेकिन सोते समय भी वो ख़तरे को लेकर सजग रहती हैं और पानी में हल्की सी हरकत होते ही जाग जाती हैं.

सपन बाउरी, बोकारो झारखंड से स्वामी विवेकानंद जानना चाहते हैं कि वर्ल्ड ट्रेड सैंटर का निर्माण कब हुआ था और उसके वास्तुकार कौन थे.

अमरीका के न्यूयॉर्क शहर में बनी वर्ल्ड ट्रेड सैंटर की इमारतों के वास्तुकार थे मिनोरू यामासाकी और इनका निर्माण न्यूयॉर्क और न्यूजर्सी की पोर्ट अथॉरिटी ने कराया था. इसका विचार डेविड रॉकफ़ैलर और उनके भाई और न्यूयॉर्क के गवर्नर नैलसन रॉकफ़ैलर ने 1961 में रखा था. 1966 से 1973 के बीच ये बनकर तैयार हुईं. बारह लाख चालीस हज़ार वर्ग मीटर क्षेत्र के इस परिसर में जुड़वां मीनारों समेत कुल सात इमारतें थीं जो 11 सितंबर 2001 को हुए हमले में ध्वस्त हो गईं.

हैदराबाद से सिम्पल ने पूछा है कि तुर्कमेनिस्तान की राजधानी क्या है.

तुर्कमेनिस्तान की राजधानी है अशख़ाबाद. तुर्कमेनिस्तान 1924 में सोवियत संघ में शामिल हो गया था लेकिन 1991 में जब सोवियत संघ का विधटन हुआ तो वह स्वतंत्र हो गया.

 
 

नाम
आपका पता
किस देश में रहते हैं
ई-मेल पता
टेलीफ़ोन नंबर*
* आप चाहें तो जवाब न दें
क्या कहना चाहते हैं
 
  
आपकी राय के लिए धन्यवाद. हम इसे अपनी वेबसाइट पर इस्तेमाल करने की पूरी कोशिश करेंगे, लेकिन कुछ परिस्थितियों में शायद ऐसा संभव न हो. ये भी हो सकता है कि हम आपकी राय का कुछ हिस्सा ही इस्तेमाल कर पाएँ.
 
छींक अक्सर नाक में दम कर देती हैआप छींके तो...
छींक कभी-कभी नाक में दम कर देती है लेकिन यह आती ही क्यों है...
 
 
पैदल चलना सेहत के लिए अच्छा हैकितने क़दम चले
स्वस्थ रहने के लिए रोज़ाना दस हज़ार क़दम चलना चाहिए लेकिन गिनें कैसे...
 
 
पृथ्वीपृथ्वी घूमने से...
पृथ्वी घूमने का अनुभव क्यों नहीं होता और छठी इंद्री कैसे जगाई जाती है...
 
 
युद्ध के विरोध में प्रदर्शनसीएनडी का वजूद
सीएनडी कब वजूद में आया और क्या अब इसमें कोई दम बचा है...
 
 
क्या साँप सुन सकते हैं...साँप कैसे सुनता है
साँप के कान तो नहीं होते तो फिर वे किस तरह सुनते हैं? क्या आँखों से...
 
 
बिजली का कड़कना...बिजली की कड़कड़ाहट...
बिजली कड़कने से सूर्य से भी ज़्यादा तापमान पैदा हो सकता है...
 
 
इससे जुड़ी ख़बरें
महाशक्ति के मज़लूम नागरिक
22 सितंबर, 2005 | पहला पन्ना
घड़ी का आविष्कार कब, कैसे और कहाँ?
15 फ़रवरी, 2007 | पहला पन्ना
वाल्मीकि रामायण, तुलसी रामायण!
10 फ़रवरी, 2007 | पहला पन्ना
महात्मा गाँधी के कितने भाई-बहन?
20 जनवरी, 2007 | पहला पन्ना
कबड्डी, कबड्डी, कबड्डी!!!
16 जनवरी, 2007 | पहला पन्ना
सुर्ख़ियो में
 
 
मित्र को भेजें कहानी छापें
 
  मौसम |हम कौन हैं | हमारा पता | गोपनीयता | मदद चाहिए
 
BBC Copyright Logo ^^ वापस ऊपर चलें
 
  पहला पन्ना | भारत और पड़ोस | खेल की दुनिया | मनोरंजन एक्सप्रेस | आपकी राय | कुछ और जानिए
 
  BBC News >> | BBC Sport >> | BBC Weather >> | BBC World Service >> | BBC Languages >>