BBCHindi.com
अँग्रेज़ी- दक्षिण एशिया
उर्दू
बंगाली
नेपाली
तमिल
 
मंगलवार, 09 सितंबर, 2008 को 03:55 GMT तक के समाचार
 
मित्र को भेजें   कहानी छापें
पसीने का घबराहट से नाता...
 

 
 
पसीने में सराबोर जॉर्ज बुश
पसीना आने के कई कारण हो सकते हैं उनमें से एक घबराहट भी है
देहरादून से भरत पूछते हैं कि जब हम घबराते हैं तो हमें पसीना क्यों आता है.

भरत जी जब हम डरते या घबराते हैं तो हमारा मस्तिष्क, हमारे केंद्रीय स्नायु तन्त्र या सैंट्रल नरवस सिस्टम को चौकन्ना कर देता है जिससे हमारी नाड़ियां सक्रिय हो उठती हैं और हमारे ऐड्रिनल ग्लैंड या अधिवृक्क ग्रन्थि से ऐपाइनफ़्राइन का रिसाव होने लगता है. इनसे हमारे पसीने की ग्रंथियाँ सक्रिय हो उठती हैं और हमें पसीना छूटने लगता है. हमारे शरीर में पसीने की कोई 50 लाख ग्रंथियाँ हैं. इनमें से अधिकांश हमारी हथेली में हैं. और बाकी की ग्रंथियों में से अधिकतर हमारी बगल और पैरों के तलवे में हैं.

मुरारपट्ट, सीवान बिहार से अश्वनी कुमार सिंह ये जानना चाहते हैं कि हिंदी फ़िल्में बनाने लगने वाला धन कहां से आता है. कौन लोग पैसा लगाते हैं.

फ़िल्मों में कई तरह से पैसा लगाया जाता रहा है. पहले ज़माने में कला प्रेमी पैसा लगाते थे या फिर बड़े फ़िल्म स्टूडियो पैसा लगाता है. उसके बाद ऐसे प्रोड्यूसर आए जिन्होने अपने स्तर पर निवेशक ढूंढे. मुम्बई फ़िल्म जगत में एक समय ऐसा भी आया जब अंडर वर्ल्ड का पैसा लगने लगा. लेकिन वक्त के साथ साथ चीज़ें बदलीं. संगीत कम्पनियां आईं, विडियो कम्पनियाँ आईं उनका पैसा लगा. आज जो स्थिति है उसमें बैंक पैसा उधार देते हैं, बड़े बड़े उद्योग घर और टेलीविज़न कंपनियाँ पैसा लगाती हैं. उदाहरण के लिए ज़ी टीवी ने फ़िल्म गदर बनाई थी. फ़िल्म भी एक उद्योग है जिसका लक्ष्य है मनोरंजन के ज़रिए पैसा कमाना. निवेशक अपना पैसा फ़िल्म के विडियो अधिकार, सैटेलाइट, ओवरसीज़, थियेटर अधिकार बेचकर पैसा कमा लेते हैं. कुछ पैसा सूद पर भी दिया जाता है.

चीन तिब्बत विवाद कब शुरु हुआ. क्या दोनों में कोई सांस्कृतिक संबंध है. बीबीसी हिन्दी डॉट कॉम के ज़रिए यह सवाल किया है सिद्धार्थनगर, उत्तर प्रदेश से लक्ष्मी कांत मणि ने.

दोनों के बीच विवाद, तिब्बत की क़ानूनी स्थिति को लेकर है. चीन कहता है कि तिब्बत तेरहवीं शताब्दी के मध्य से चीन का हिस्सा रहा है लेकिन तिब्बतियों का कहना है कि तिब्बत कई शताब्दियों तक एक स्वतन्त्र राज्य था और चीन का उसपर निरंतर अधिकार नहीं रहा. मंगोल राजा कुबलई ख़ान ने युआन राजवंश की स्थापना की थी और तिब्बत ही नहीं बल्कि चीन, वियतनाम और कोरिया तक अपने राज्य का विस्तार किया था. फिर सत्रहवीं शताब्दी में चीन के चिंग राजवंश के तिब्बत के साथ संबंध बने. 260 साल के रिश्तों के बाद चिंग सेना ने तिब्बत पर अधिकार कर लिया. लेकिन तीन साल के भीतर ही उसे तिब्बतियों ने खदेड़ दिया और 1912 में तेरहवें दलाई लामा ने तिब्बत की स्वतन्त्रता की घोषणा की. फिर 1951 में चीनी सेना ने एक बार फिर तिब्बत पर नियन्त्रण कर लिया और तिब्बत के एक शिष्टमंडल से एक संधि पर हस्ताक्षर करा लिए जिसके अधीन तिब्बत की प्रभुसत्ता चीन को सौंप दी गई. दलाई लामा भारत भाग आए और तभी से वे तिब्बत की स्वायत्तता के लिए संघर्ष कर रहे हैं.

लोहरा बरामदपुर अंबेडकर नगर उत्तर प्रदेश से राजेश कुमार पांडेय पूछते हैं कि अपोलो कौन था.

अपोलो, प्राचीन ग्रीक मिथक के एक लोकप्रिय देवता हैं. उन्हे प्रकाश और सूर्य का देवता माना जाता है, सत्य और भविष्यवाणी का, और तीरंदाज़ी, औषध, संगीत, काव्य, ललित कलाओं आदि का. अपोलो, देवाधिदेव ज़ूस और लातो के पुत्र हैं और उनकी जुड़वां बहन है आर्तिमिस. अपोलो की छवि एक सुन्दर युवा की है. उनके हाथ में तीर कमान रहता है. कभी कभी इन्हे एक तरह की वीणा और मिज़राब के साथ दिखाया जाता है. भेड़िया, डॉलफ़िंस, हिरण, हंस, बाज़, कौवा, सांप, चूहा और शेर और गरुड़ का मिथक रूप, अपोलो के लिए पवित्र जीव हैं. अपोलो मेल मिलाप, व्यवस्था और विवेक के प्रतीक हैं और उन्हे मध्यमार्ग का आदर्श माना जाता है. ये सब सुनने में हिंदू देवी देवताओं से जुड़े मिथक जैसा लगता है. लेकिन यहां ये बता दें कि ग्रीस में अब 97 प्रतिशत लोग ईसाई धर्म के अनुयायी हैं जिसे ग्रीक ऑर्थोडॉक्स चर्च के नाम से जाना जाता है.

 
 
भारत या इंडिया? भारत या इंडिया?
भारत का एक नाम इंडिया भी है. जानना चाहेंगे कि कैसे पड़ा यह नाम?
 
 
भारतीय तिरंगा तिरंगा किसने बनाया?
क्या आप जानना चाहेंगे कि भारतीय तिरंगा किसने और कब बनाया?
 
 
सूरज धूप का असली रंग?
धूप सफ़ेद क्यों नज़र आती है जबकि उसमें अनेक रंग होते हैं. क्या है यह पहेली?
 
 
छींक अक्सर नाक में दम कर देती है आप छींके तो...
छींक कभी-कभी नाक में दम कर देती है लेकिन यह आती ही क्यों है...
 
 
पैदल चलना सेहत के लिए अच्छा है कितने क़दम चले
स्वस्थ रहने के लिए रोज़ाना दस हज़ार क़दम चलना चाहिए लेकिन गिनें कैसे...
 
 
मच्छर एक मच्छर...
इंसान को बेचैन करने की ताक़त रखने वाले मच्छर की आख़िर नस्ल क्या है.
 
 
पृथ्वी पृथ्वी घूमने से...
पृथ्वी घूमने का अनुभव क्यों नहीं होता और छठी इंद्री कैसे जगाई जाती है...
 
 
इससे जुड़ी ख़बरें
ज़ोर देकर शराब पिलाने पर जुर्माना
07 मई, 2007 | मनोरंजन एक्सप्रेस
आधी रात को सूरज का नज़र आना!
08 दिसंबर, 2007 | पहला पन्ना
हवा कैसे चलती है...
27 नवंबर, 2007 | पहला पन्ना
तितली की आँखें तो बड़ी मगर...
27 सितंबर, 2007 | पहला पन्ना
सुर्ख़ियो में
 
 
मित्र को भेजें   कहानी छापें
 
  मौसम |हम कौन हैं | हमारा पता | गोपनीयता | मदद चाहिए
 
BBC Copyright Logo ^^ वापस ऊपर चलें
 
  पहला पन्ना | भारत और पड़ोस | खेल की दुनिया | मनोरंजन एक्सप्रेस | आपकी राय | कुछ और जानिए
 
  BBC News >> | BBC Sport >> | BBC Weather >> | BBC World Service >> | BBC Languages >>