BBCHindi.com
अँग्रेज़ी- दक्षिण एशिया
उर्दू
बंगाली
नेपाली
तमिल
 
शनिवार, 04 अक्तूबर, 2008 को 04:42 GMT तक के समाचार
 
मित्र को भेजें   कहानी छापें
किसी का मन पढ़ने की कला...
 

 
 
किसी का मन पढ़ने की कला...
किसी का मन पढ़ने की कला... इंद्रियों के दायरे से बाहर बताई जाती है
अलखोबर, सउदी अरब से सैयद मुजममील ने सवाल किया है कि टेलीपैथी क्या होती है.

टेलीपैथी दो व्यक्तियों के बीच विचारों और भावनाओं के उस तबादले को कहते हैं जिसमें हमारी पांच ज्ञानेंद्रियों का इस्तेमाल नहीं होता. यानी इसमें देखने, सुनने, सूंघने, छूने और चखने की शक्ति का इस्तेमाल नहीं होता है. टेलीपैथी शब्द का सबसे पहले इस्तेमाल 1882 में फ़्रैड्रिक डब्लू एच मायर्स ने किया था. कहते हैं कि जिस व्यक्ति में यह छठी ज्ञानेंद्रिय होती है वह जान लेता है कि दूसरों के मन में क्या चल रहा है. यह परामनोविज्ञान का विषय है जिसमें टेलीपैथी के कई प्रकार बताए गए हैं. लेकिन इसे प्रमाणित करना बड़ा मुश्किल है. इस क्षेत्र में बहुत से प्रयोग हो चुके हैं लेकिन संशय करने वालों का तर्क है कि टेलीपैथी के कोई विश्वसनीय वैज्ञानिक प्रमाण नहीं मिल सके हैं. कुछ लोग टैक्नोपैथी की बात करते हैं. उनका मानना है कि भविष्य में ऐसी तकनोलॉजी विकसित हो जाएगी जिससे टेलीपैथी संभव हो. इंगलैंड के रैडिंग विश्वविद्यालय के कैविन वॉरिक का शोध इसी विषय पर है कि किस तरह एक व्यावहारिक और सुरक्षित उपकरण तैयार किया जाए जो मानव के स्नायु तंत्र को कंप्यूटरों से और एक दूसरे से जोड़े. उनका कहना है कि भविष्य में हमारे लिए संपर्क का यही प्रमुख तरीक़ा बन जाएगा.

दुनिया का सबसे बड़ा क्रिकेट स्टेडियम कौन सा है. ये सवाल किया है ग्राम लोहरा बरामदपुर, अंबेदकर नगर उत्तर प्रदेश से राजेश कुमार पांडेय ने.

मैलबर्न क्रिकेट स्टेडियम दुनिया का सबसे बड़ा क्रिकेट स्टेडियम है जिसमें कोई एक लाख दर्शकों के बैठने की व्यवस्था है. सन 1970 के दशक तक इसमें एक लाख बीस हज़ार तक लोग आ जाया करते थे. सन 1959 में बिली ग्रेहम के एक कार्यक्रम को देखने एक लाख तीस हज़ार लोग इस स्टेडियम में ठुंस गए थे. लेकिन सुरक्षा नियमों के कारण अब इसमें एक लाख से कुछ कम सीटों की व्यवस्था है.

ग्राम बक्शीवाला, बिजनौर उत्तर प्रदेश से सलमान अहमद ये जानना चाहते हैं कि पीएचडी करने वाले अपने नाम के पहले डॉक्टर क्यों लगाते हैं.

पीएचडी का पूरा रूप है डॉक्टर ऑफ़ फ़िलॉसोफ़ी. इसमें पीएच फ़िलॉसोफ़ी का संक्षिप्त रूप है और डी डॉक्टर का. डॉक्टर लैटिन भाषा का शब्द है जिसका मतलब है शिक्षक. और फ़िलॉसोफ़ी, प्राचीन ग्रीक शब्द फ़िलॉसोफ़िया से निकला है जिसका मतलब है ज्ञान का अनुराग या विवेक का अनुराग. और ज्ञान किसी भी विषय का हो सकता है. इसलिए मध्ययुग के यूरोपीय विश्वविद्यालयों ने लगभग सभी विषयों को फ़िलॉसोफ़ी के अधीन रखा. अगर कोई भौतिकशास्त्र में पीएचडी करता है तो कहा जाएगा डॉक्टर ऑफ़ फ़िलॉसोफ़ी इन फ़िज़िक्स यानि भौतिकशास्त्र के ज्ञान में अनुराग रखने वाला शिक्षक.

ग्राम दियालेख ज़िला अल्मोड़ा उत्तरांचल से सुंदरर एस नेगी यह जानना चाहते हैं कि शादी में सात फेरे क्यों लगाए जाते हैं और इनका क्या महत्व है.

दूल्हों की बजाय दुल्हन घोड़ी चढ़ीं
सात फेरे हिंदू विवाह रीति का अटूट हिस्सा हैं

हिंदू विवाह संस्कार के अंतर्गत वर-वधू अग्नि को साक्षी मानकर पति-पत्नी के रूप में एक साथ सुख से जीवन बिताने के लिए प्रण करते हैं और इसी प्रक्रिया में दोनों सात फेरे लेते हैं, जिसे सप्तपदी भी कहा जाता है. और यह सातों फेरे या पद सात वचन के साथ लिए जाते हैं. जिसमें पहला वचन होता है, पति-पत्नी को जीवन भर पर्याप्त और सम्मानित ढंग से भोजन मिलता रहे, दूसरा दोनों का जीवन शांतिपूर्ण और स्वस्थ ढंग से बीते, तीसरा दोनों अपने जीवन में आध्यात्मिक और धार्मिक दायित्वों को निभा सकें, चौथा फेरा इस वचन के साथ लिया जाता है कि दोनों सौहार्द्र और परस्पर प्रेम के साथ जीवन बितायें, पाँचवे फेरे का वचन होता है विश्व का कल्याण हो और संतान कि प्राप्ति हो, छठे में प्रार्थना की जाती है कि सभी ऋतुएं अपने अपने ढंग से समुचित धनधान्य उत्पन्न करके दुनिया भर को सुख दें क्योंकि सभी के सुख में दंपत्ति का भी भला होता है और सातवें फेरे में पति-पत्नी परस्पर विश्वास, एकता, मतैक्य और शांति के साथ जीवन बिता सकें. इन सात फेरों के साथ लिए वचनों में अपने और विश्व की शांति और सुख की प्रार्थना की जाती है.

ग्राम रमपूरवा पश्चिमी चम्पारण बिहार से मोहम्मद अमन कुरैशी ये जानना चाहते हैं कि भारत की प्रथम महिला कौन है जिने ओलंपिक पदक प्राप्त किया.

ओलंपिक पदक पाने वाली पहली भारतीय महिला थीं आंध्र प्रदेश की करनम मल्लेश्वरी. उन्होंने सन 2000 में सिडनी में हुए ओलंपिक खेलों की भारोत्तोलन प्रतियोगिता में कांस्य पदक जीता था.

मनुष्य के गुर्दे का भार कितना होता है. ये जानना चाहती हैं कनक कुमारी, नरपतगंज अररिया बिहार से.

हमारे शरीर में दो गुर्दे होते हैं जो पसलियों के ठीक नीचे रीढ़ की हड्डी के दोनों तरफ़ रहते हैं. इनका आकार राजमा के दानों जैसा होता है और व्यास 9 से 13 सेन्टीमीटर तक. गुर्दों का वज़न शरीर के कुल वज़न का .5 प्रतिशत होता है. हालांकि गुर्दे बहुत छोटे अवयव हैं लेकिन हमारे दिल से पम्प होने वाला 20 प्रतिशत ख़ून गुर्दों को मिलता है. लेकिन इनके ज़िम्मे बहुत से काम भी हैं, जैसे मूत्र के ज़रिए ये हमारे शरीर से कई तरह के मल पदार्थ निकालता है, यह हमारे शरीर में पानी की मात्रा को स्थाई बनाए रखता है, हमारे ख़ून में अम्ल, खनिज और आयन का स्तर बनाए रखते हैं, कई तरह के हारमोन का स्राव करते हैं. रक्तचाप का नियमन करते हैं, शरीर में कैल्शियम का स्तर बनाए रखते हैं.

बीरगंज, परसा नेपाल से जमील अंसारी ने पूछा है कि साइनस क्या होता है. दुबई संयुक्त अरब अमीरात से लक्ष्मण दास लिखते हैं कि मुझे साइनस की समस्या है रोज़ बहुत छींके आती हैं इसे कैसे नियन्त्रित करूं और दोहा क़तर से जहांगीर ने जानना चाहा है कि साइनस के मरीज़ को किस चीज़ से बचना चाहिए.

सबसे पहले मैं यह बता दें कि साइनस हमारे चेहरे की हड्डियों के भीतर के खोखले हिस्से हैं जिनमें से हवा गुज़रती है. इसके पांच जोड़े होते हैं जो आपस में जुड़े हुए होते हैं और नाक की नली से भी. इनमें एक तरह की लाइनिगं या अस्तर होता है जिससे स्राव होता रहता है. यह कीटाणुओं को नाक के रास्ते बाहर निकालने में मदद करता है. लेकिन कभी कभी इस लाइनिंग में सूजन आ जाती है इसी को साइनसाइटस कहते हैं. इसके कई कारण हैं. यह वायरस के संक्रमण से हो सकता है या फिर किसी चीज़ से ऐलर्जी होने के कारण. ये ऐलर्जी प्रदूषण से, धूल से, पराग से या किसी और चीज़ से हो सकती है. इसमें दर्द होता है, बुख़ार भी आ सकता है, नाक बंद रहती है, नाक से पीले या हरे रंग का बलगम निकलता है और जीभ का स्वाद और घ्राण शक्ति जाती रहती है. इसके इलाज के लिए ऐन्टी बायटिक्स, ऐंटी ऐलर्जी की दवाओं, दर्द की दवाओं और नाक खोलने की दवाओं का प्रयोग किया जाता है.

गंगा नदी का उद्गम स्थान कौन सा है और गंगा की लम्बाई कितनी है. यह जानना चाहते हैं गांव बेरीवाला, बाड़मेर राजस्थान से रघुवीर सिंह डूडी.

गंगा नदी
गंगा नदी को बहुत पवित्र माना जाता है

गंगा नदी हिमालय में गंगोत्री ग्लेशियर से निकलकर 2510 किलोमीटर की यात्रा करती हुई बंगाल की खाड़ी में जा समाती है. गंगा के उद्गम स्थान को गोमुख कहते हैं लेकिन उस समय वह भागीरथी के नाम से जानी जाती है. उधर सतोपंत और भागीरथ खड्ग ग्लेशियर से निकलती है अलकनंदा. विष्णुप्रयाग में अलकनंदा में मिलती है धौलीगंगा, नंदप्रयाग में नंदाकिनी, कर्णप्रयाग में पिंडर और रुद्रप्रयाग में मंदाकिनी. इसके बाद देवप्रयाग में अलकनंदा और भागीरथी मिलती हैं जहां से वह गंगा कहलाती है.

संयुक्त राष्ट्र संघ के सर्वप्रथम महासचिव कौन थे और किस देश के थे. सिसवा बाबू, महाराजगंज उत्तर प्रदेश से जैलेंद्र कुमार यादव.

ग्लैडविन जैब ने संयुक्त राष्ट्र के कार्यकारी महासचिव के रूप में 24 अक्तूबर 1945 से 2 फ़रवरी 1946 तक कार्यभार संभाला. वे ब्रिटेन के एक प्रमुख राजनयिक और राजनेता थे. लेकिन पहले महासचिव बने नौरवे के त्रिग्वे ली. ये 2 फ़रवरी 1946 से 10 नवंबर 1952 तक इस पद पर रहे.

 
 
भारत या इंडिया? भारत या इंडिया?
भारत का एक नाम इंडिया भी है. जानना चाहेंगे कि कैसे पड़ा यह नाम?
 
 
भारतीय तिरंगा तिरंगा किसने बनाया?
क्या आप जानना चाहेंगे कि भारतीय तिरंगा किसने और कब बनाया?
 
 
सूरज धूप का असली रंग?
धूप सफ़ेद क्यों नज़र आती है जबकि उसमें अनेक रंग होते हैं. क्या है यह पहेली?
 
 
छींक अक्सर नाक में दम कर देती है आप छींके तो...
छींक कभी-कभी नाक में दम कर देती है लेकिन यह आती ही क्यों है...
 
 
पैदल चलना सेहत के लिए अच्छा है कितने क़दम चले
स्वस्थ रहने के लिए रोज़ाना दस हज़ार क़दम चलना चाहिए लेकिन गिनें कैसे...
 
 
मच्छर एक मच्छर...
इंसान को बेचैन करने की ताक़त रखने वाले मच्छर की आख़िर नस्ल क्या है.
 
 
पृथ्वी पृथ्वी घूमने से...
पृथ्वी घूमने का अनुभव क्यों नहीं होता और छठी इंद्री कैसे जगाई जाती है...
 
 
इससे जुड़ी ख़बरें
ज़ोर देकर शराब पिलाने पर जुर्माना
07 मई, 2007 | मनोरंजन एक्सप्रेस
आधी रात को सूरज का नज़र आना!
08 दिसंबर, 2007 | पहला पन्ना
हवा कैसे चलती है...
27 नवंबर, 2007 | पहला पन्ना
तितली की आँखें तो बड़ी मगर...
27 सितंबर, 2007 | पहला पन्ना
सुर्ख़ियो में
 
 
मित्र को भेजें   कहानी छापें
 
  मौसम |हम कौन हैं | हमारा पता | गोपनीयता | मदद चाहिए
 
BBC Copyright Logo ^^ वापस ऊपर चलें
 
  पहला पन्ना | भारत और पड़ोस | खेल की दुनिया | मनोरंजन एक्सप्रेस | आपकी राय | कुछ और जानिए
 
  BBC News >> | BBC Sport >> | BBC Weather >> | BBC World Service >> | BBC Languages >>