BBCHindi.com
अँग्रेज़ी- दक्षिण एशिया
उर्दू
बंगाली
नेपाली
तमिल
 
रविवार, 21 जून, 2009 को 14:28 GMT तक के समाचार
 
मित्र को भेजें   कहानी छापें
कैसे बचें ख़र्राटों से
 

 
 
सोते समय ख़र्राटे
सोते समय क्यों आते हैं ख़र्राटे
ब्रूनई दारुस्सलाम के फ़िरोज़ आलम ने पूछा है कि ख़र्राटे क्यों आते हैं.

जागृत अवस्था में जब हम सांस लेते हैं तो हमारे नाक, मुंह और गले की मांसपेशियां, श्वास नलिका को खुला रखती हैं लेकिन सोते समय ये मांसपेशियां ढीली पड़ जाती हैं.

इससे होता ये है कि जब हम सांस लेते हैं तो हमारे तालू के मुलायम हिस्सों में कम्पन पैदा होता है और एक आवाज़ निकलती है.

ख़र्राटे और भी कई कारणों से आ सकते हैं, जैसे निचले जबड़े का पीछे होना, बंद नाक, टेढ़ी नाक, गले के काग में सूजन, टॉन्सिल्स का बढ़ जाना, थॉएराएड ग्रन्थि का कम काम करना, मोटापा और धूम्रपान.

ख़र्राटे रोकने के उपाय उनके कारणों पर ही निर्भर करते हैं. अगर नाक बंद है तो उसे खोलने के उपाय करें, अगर मोटापा इसका कारण है तो वज़न घटाएं, धूम्रपान न करें क्योंकि इससे श्वास नलिका में सूजन आ जाती है, करवट से सोएं, सीधे सोने से जीभ पीछे की ओर चली जाती है जिससे गले का रास्ता अवरुद्ध हो जाता है, सिर ऊंचा रखें.

यहां आपको यह भी बता दूं कि ख़र्राटे बडी़ आम तकलीफ़ है. दस में से चार वयस्क इससे पीड़ित हैं.

गोलपहाड़ी जमशेदपुर से जंगबहादुर सिंह और उमा सिंह ने पूछा है कि ईसाई धर्म में ऐज़म्पशन डे क्या है.

ईसाई धर्म के सभी सम्प्रदायों में ऐज़म्पशन डे या माता मरियम का उद्ग्रहण दिवस नहीं मनाया जाता. कैथलिक सम्प्रदाय में जितना महत्व ईसा मसीह की माता मरियम को दिया जाता है उतना अन्य ईसाई सम्प्रदायों में नहीं दिया जाता.

कैथलिक यह मानते हैं कि माता मरियम की मृत्यु नहीं हुई बल्कि वे शरीर और आत्मा समेत स्वर्ग पहुंचा दी गईं.

वहां ईश्वर ने उन्हे एक विशेष स्थान दिया और मुकुट पहनाया गया. उद्ग्रहण दिवस हर साल 15 अगस्त को मनाया जाता है. कैथलिक सम्प्रदाय जो माला जपते हैं वह माता मरियम को ही समर्पित होती है.

ग्राम अंधारी, भोजपुर बिहार से राघो राम ने पूछा है कि मानव विकास सूचकांक कौन जारी करता है और यह किस आधार पर जारी किया जाता है.

मानव विकास सूचकांक किसी भी देश में, औसत आयु, साक्षरता, शिक्षा के स्तर, और प्रति व्यक्ति सकल घरेलू उत्पाद के आधार पर तैयार किया जाता है.

इसका विकास 1990 में पाकिस्तान के अर्थशास्त्री महबूब-उल-हक़ और सर रिचर्ड जॉली, येल विश्वविद्यालय के गुस्ताव रेनिस और लंदन स्कूल ऑफ़ इकोनॉमिक्स के लॉर्ड मेघनाद देसाई ने मिलकर किया था.

इसी के आधार पर संयुक्त राष्ट्र विकास कार्यक्रम या यूऐनडीपी अपनी सालान रिपोर्ट प्रकाशित करता है. लेकिन जब से मानव विकास सूचकांक का विकास हुआ इसकी आलोचना भी होती रही है कि इससे अधूरी तस्वीर सामने आती है.

सहारनपुर उत्तर प्रदेश से शहज़ाद अहमद ने पूछा है कि भारत में मुग़ल शासन कब शुरु हुआ, पहला शासक कौन था और उसके बाद कितने शासक बने.

मुग़ल शासन की स्थापना बाबर ने की. उनके पिता तिमूर लंग के वंशज थे और माता चंगेज़ ख़ान की. बाबर ने 1526 से 1530 तक राज किया जिसके बाद गद्दी संभाली उनके पुत्र हुमायूं ने.

फिर अकबर, जहांगीर, शाह जहां, ऑरंगज़ेब, शाह आलम मुग़ल सम्राट रहे. लेकिन धीरे धीरे ईस्ट इंडिया कम्पनी की जड़ें देश में मज़बूत होने लगीं इसलिए जितने भी सम्राट आए उनका वह असर नहीं रहा.

अंतिम सम्राट थे बहादुर शाह द्वितीय जिन्हे 1857 की क्रान्ति के बाद अंग्रेजों ने गद्दी से हटाकर बर्मा निर्वासित कर दिया. उनके अंतिम साल बर्मा की राजधानी रंगून में बीते.

जम्मू कश्मीर के अंतिम राजा कौन थे. क्या भारत में अब भी कहीं कोई राजा महाराजा हैं. धनकुटा कोशी नेपाल से सैम जॉनसन ने यह पूछा है.

राजा हरि सिंह जम्मू और कश्मीर के अंतिम राजा थे. वो 1925 में राजगद्दी पर बैठे. राजा हरि सिंह ने दूसरे विश्व युद्ध में इम्पीरियल वॉर कैबिनेट के सदस्य रहे.

लेकिन भारत के बंटवारे के बाद सभी रियासतों के शासकों को यह विकल्प दिया गया कि वे पाकिस्तान में शामिल हों भारत में या विशेष परिस्थितियों में आज़ाद रहें. राजा हरि सिंह ने तीसरा विकल्प चुना लेकिन जब अक्टूबर 1947 में पाकिस्तान से क़बाइलियों का हमला हुआ तो उन्होने भारत सरकार से मदद मांगी.

इस मदद के बदले उन्होंने भारत में शामिल होना स्वीकार कर लिया.

भारतीय सेना क़बाइलियों को रोका लेकिन जो हिस्सा उनके क़ब्ज़े में आ चुका था उसे ख़ाली करवाने की अनुमति उन्हे नहीं मिली. सन 1951 में जम्मू कश्मीर के भारत के एक राज्य बन जाने पर राजा हरि सिंह की सत्ता समाप्त हो गई.

सन 1964 में उनके पुत्र करन सिंह को सद्रे रियासत और राज्य का गवर्नर बनाया गया. भारत एक गणतन्त्र है और अब वहां कोई राजा नहीं है लेकिन पुराने राज घराने अब भी हैं जिनके बहुत से सदस्य राजनीति में सक्रिय हैं.

ग्राम केशो नारायणपुर समस्तीपुर बिहार से अर्जुन कुमार पूछते हैं कि पोलियो वायरस का क्या नाम है. यह वायरस 5 साल से छोटे बच्चों को ही क्यों पकड़ता है.

पोलियो का टीका
भारत में पोलियो टीकाकरण

पोलियो वायरस का नाम पोलियो वायरस ही है. यह पांच वर्ष से छोटे बच्चों को इसलिए अधिक पकड़ता है क्योंकि उनमें इस वायरस से लड़ने की क्षमता कम होती है यानि उनके शरीर में पर्याप्त रोग प्रतिकारक नहीं होते.

बड़े हो जाने पर या तो ये प्रतिकारक प्राकृतिक रूप से विकसित हो जाते हैं या पोलियो का टीका लगवा लेने से उनमें पोलियो से लड़ने की क्षमता पैदा हो जाती है.

पोलियो से बचने का सबसे सरल और पुख़्ता उपाय टीका ही है. इसकी पहली ख़ोराक जब बच्चा पैदा होता है तभी दी जाती है.

जब वह डेढ़ महीने का हो जाता है तो अन्य टीकों के साथ पोलियो के टीके की ख़ुराक भी पिलाई जाती है.

तीसरी ख़ुराक ढाई महीने पर और चौथी साढ़े तीन महीने पर दी जाती है.

जब बच्चा डेढ़ साल का हो जाता है तो उसे पोलियो की बूस्टर ख़ुराक दी जाती है.

यह तो सामान्य टीकाकरण हुआ. इसके अलावा भारत सरकार और राज्य सरकारें हर ज़िले में पल्स पोलियो का राउंड चलाती हैं.

जब भी यह टीकाकरण हो रहा हो तो पांच साल से छोटे हर बच्चे को इसकी ख़ुराक पिलाई जानी चाहिए.

दुनिया में सांपों की कितनी प्रजातियां पाई जाती हैं. बीबीसी हिन्दी डॉट कॉम के ज़रिए ये सवाल किया है प्रणव ने.

दुनिया में सांपों की 2700 से अधिक प्रजातियां पाई जाती हैं.

रूस के पहले राष्ट्रपति कौन थे. जानना चाहते हैं खिरौनी, फ़ैज़ाबाद उत्तर प्रदेश से वैष्णो नन्द दुबे.

बरीस येल्तसिन रूसी गणराज्य के पहले राष्ट्रपति बने. 12 जून 1991 को वो रूसी सोवियत संघीय समाजवादी गणराज्य के राष्ट्रपति चुने गए थे और जब 25 दिसम्बर 1991 में रूसी गणराज्य के रूप में उसका पुनर्गठन हुआ तब भी वही राष्ट्रपति रहे.

रेलगाड़ी जब पुल पार करती है तब उसकी आवाज़ बदल जाती है. ऐसा क्यों, पूछते हैं गोराडीह भागलपुर बिहार से डॉ हेमन्त कमार.

इसलिए क्योंकि उसके नीचे ख़ाली जगह होती है या फिर नदी बहती है.

भारत के पहले रेल मन्त्री कौन थे. कोलकाता से भगवान मिश्रा.

भारत के पहले रेल मन्त्री जॉन मथाई थे. वो एक जाने माने अर्थशास्त्री थे और वित्तमन्त्री भी रहे.

उन्होने दो बजट पेश किए लेकिन फिर योजना आयोग की बढ़ती शक्ति के विरोध में उन्होने 1950 में इस्तीफ़ा दे दिया.

 
 
इससे जुड़ी ख़बरें
पसीने का घबराहट से नाता...
09 सितंबर, 2008 | पहला पन्ना
सूर्य की पहली किरण कहाँ?
13 अक्तूबर, 2008 | पहला पन्ना
सपनों का आना-जाना!
22 फ़रवरी, 2009 | पहला पन्ना
टमाटर - सब्ज़ी या फल!
12 मार्च, 2009 | पहला पन्ना
सुर्ख़ियो में
 
 
मित्र को भेजें   कहानी छापें
 
  मौसम |हम कौन हैं | हमारा पता | गोपनीयता | मदद चाहिए
 
BBC Copyright Logo ^^ वापस ऊपर चलें
 
  पहला पन्ना | भारत और पड़ोस | खेल की दुनिया | मनोरंजन एक्सप्रेस | आपकी राय | कुछ और जानिए
 
  BBC News >> | BBC Sport >> | BBC Weather >> | BBC World Service >> | BBC Languages >>