पाकिस्तान में फ़ेसबुक पर लगेगा ताला

  • 19 मई 2010
Image caption फ़ेसबुक पर पैगंबर मोहम्मद के अपमान का आरोप लगा है.

लाहौर हाई कोर्ट ने सोशल नेटवर्किंग वेबसाईट फ़ेसबुक पर प्रतिबंध लगाने का आदेश दिया है.

लाहौर हाई कोर्ट के न्यायाधीश जस्टिस ऐजाज़ अहमद चौधरी ने यह आदेश इस्लामिक लॉयर्स मूवमेंट की उस याचिका पर दिया जिस में कहा गया था कि फ़ेसबुक ने पैग़म्बर मोहम्मद की तस्वीर बनाने की प्रतियोगिता का आयोजन किया है.

याचिका में अदालत से आग्रह किया गया कि इस वेबसाईट को तुंरत बंद किया जाए क्योंकि इससे पैगंबर मोहम्मद का अपमान हो रहा है.

अदालत ने पाकिस्तान टेलीकॉम्यूनिकेशन अथॉरिटी को आदेश दिया है कि फ़ेसबुक के इस्तेमाल पर प्रतिबंध लगाया जाए और अगली सुनवाई में इस के बारे में लिखित जवाब पेश करें.

पाकिस्तान टेलीकॉम्यूनिकेशन के अधिकारियों ने अदालत को बताया कि फ़ेसबुक के उन हिस्सों को बंद किया गया है जिन पर पैग़म्बर मोहम्मद की तस्वीर बनाने की प्रतियोगिता हो रही है.

इस पर याचिकाकर्ता के वकील चौधरी ज़ुल्फिक़ार अली ने आपत्ति जताई कि वेबसाईट के किसी भी हिस्से को उस वक्त तक बंद नहीं किया जा सकता है जब तक इसे पूरी तरह बंद न किया जाए.

उन्होंने अदालत को बताया कि पाकिस्तान एक इस्लामी देश है और वहां ऐसा कोई काम नहीं किया जा सकता जो इस्लाम के विरुद्ध है.

उन्होंने कहा कि फ़ेसबुक में ऐसे कई पन्ने हैं जो इस्लामी सिद्धांतों के ख़िलाफ हैं और यह मुसलमानों के लिए चिंता का विषय है.

उनका कहना था कि चीन, सऊदी अरब और संयुक्त अरब अमीरात ने पहले ही फ़ेसबुक पर पाबंदी लगा रखी है.

संबंधित समाचार