पाकिस्तान में 40 चरमपंथी मारे गए

  • 19 मई 2010
फ़ाइल फ़ोटो - तालिबान
Image caption दोनों पक्षों के बीच झड़पें लगभग तीन घंटे तक चलीं और ख़ासी गोलीबारी हुई

पाकिस्तान के अधिकारियों के अनुसार पश्चिमोत्तर में स्थित ऑरकज़ई क्षेत्र में सेना और चरमपंथियों के बीच हुई झड़पों में कम से कम 40 चरमपंथी मारे गए हैं. इसकी स्वतंत्र सूत्रों ने फ़िलहाल पुष्टि नहीं की है.

ग़ौरतलब है कि ये झड़पें तब हुई हैं जब अमरीकी सुरक्षा सलाहकार जिन जोन्स और ख़ुफ़िया एजेंसी सीआईए के निदेशक लीओन पैनेटा पाकिस्तान की राजधानी इस्लामाबाद में हैं.

वे टाइम्स स्क्वायर में बम धमाका करने की असफल कोशिश के बारे पूछताछ करने और पाकिस्तानी अधिकारियों पर चरमपंथियों के ख़िलाफ़ कार्रवाई तेज़ करने के लक्ष्य से वहाँ पहुँचे हुए हैं.

भीषण झड़पें हुई

सैन्य अधिकारियों का कहना है कि पाकिस्तानी तालिबान ने ऑरकज़ई क्षेत्र में बुधवार तड़के एक सुरक्षा नाके पर धावा बोल दिया.

समाचार एजेंसी रॉयटर्स के अनुसार घने जंगलों वाले पहाड़ों से निकलकर चरमपंथियों ने दोबबारी इलाक़े में हमला किया और रॉकेट के ज़रिए ग्रेनेड चलाए और फिर गोलीबारी शुरु कर दी.

रॉयटर्स ने एक सरकारी अधिकारी नौमन ख़ान के हवाले से कहा है कि सेना ने जल्द ही जवाबी कार्रवाई शुरु की और तीन घंटे की भीषण लड़ाई में अनेक चरमपंथी मारे गए,.

पिछले साल दक्षिणी वज़ीरिस्तान में चरमपंथियों के ख़िलाफ़ सेना के अभियान के दौरान चरमपंथी ऑरकज़ई क्षेत्र में चले गए थे और सेना ने वहाँ अतिरिक्त सुरक्षाबल तैनात किए थे.

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार