प्रतिबंधित जमात-उद-दावा को सरकारी पैसा

हाफ़िज़ सईद
Image caption हाफ़िज़ सईद जमात-उद-दावा के प्रमुख हैं

पाकिस्तानी प्रांत पंजाब की सरकार ने इस वर्ष के अपने बजट में प्रतिबंधित संगठन जमात-उद-दावा के लिए आठ करोड़ 20 लाख रुपए जारी किए हैं.

बजट दस्तावेज़ के अनुसार पंजाब सरकार ने जमात-उद-दावा के कार्यालय मरकज़ ए तैयबा के विकास के लिए सात करोड़ 90 लाख रुपए रखे हैं.

बजट में क़रीब तीन करोड़ रुपए जमात-उद-दावा के स्कूलों पर ख़र्च किए जाएंगे जो पंजाब के विभिन्न ज़िलों में स्थित हैं.

सूबा पंजाब के क़ानून मंत्री राणा सनाउल्लाह ने बीबीसी से बात करते हुए कहा,“जब संयुक्त राष्ट्र ने जमात-उद-दावा पर प्रतिबंध लगा दिया तो हमारी सरकार ने उसके स्कूलों, अस्पतालों और दूसरे काल्याणकारी केंद्रों का नियंत्रण अपने हाथ में ले लिया था.”

सरकार के अधीन

उन्होंने आगे बताया, “हमने केंद्र सरकार और संयुक्त राष्ट्र से कहा था कि अगर वे चाहते हैं कि हम उन स्कूलों को बंद करदें तो पंजाब सरकार तुरंत ऐसा करेगी.”

राणा सनाऊल्लाह के अनुसार केंद्र सरकार के कहने पर पंजाब की सरकार ने स्कूलों और अस्पतालों के विकास के लिए बजट में पैसा रखा है.

उन्होंने ये भी बताया कि इन स्कूलों और अस्पतालों की आर्थिक सहायता करने का उद्देश्य सिर्फ़ ये है कि कल्याण का काम जारी रहे और ग़रीब लोगों को इससे लाभ हो.

क़ानून मंत्री ने कहा कि इस प्रकार के स्कूलों और अस्पतालों का नियंत्रण पंजाब सरकार हाथ में है न कि जमात-उद-दावा के हाथ में.

उधर जमात-उद-दावा के प्रवक्ता यहया मुजाहिद ने इस का बात खंडन किया है.

संबंधित समाचार