सात वेबसाइटों पर नज़र

गूगल
Image caption जिन साइटों पर नज़र रखी जाएगी उनमें गूगल भी शामिल है

पाकिस्तान दुनिया की सात बड़ी वेबसाइटों पर गहरी नज़र रखने वाला है क्योंकि उसके मुताबिक़ ये साइटें 'मुसलमानों की भावना को ठेस पहुँचाने वाली सामग्री' प्रकाशित कर रही हैं.

गूगल, याहू, यूट्यूब, आमेज़न, एमएसएन, हॉटमेल और बिंग, ये वे सात साइटें हैं जिन पर प्रकाशित होने वाली सामग्री पर निगरानी रखी जाएगी, इसके अलावा 17 अन्य छोटी-मोटी वेबसाइटों को ब्लॉक किया जा रहा है.

पाकिस्तानी सरकार के अधिकारी वेबसाइट पर लगाए जाने वाले "आपत्तिजनक" लिंकों को ब्लॉक कर देंगे.

मई महीने में पाकिस्तान ने सोशल नेटवर्किंग साइट फ़ेसबुक पर प्रतिबंध लगा दिया था क्योंकि उस पर कुछ लोगों ने हज़रत मोहम्मद का स्केच बनाने की प्रतियोगिता शुरू कर दी थी.

पाकिस्तान के दूरसंचार विभाग के अधिकारी खुर्रम मेहरान ने बताया है कि जिन लिंकों को आपत्तिजनक पाया जाएगा सिर्फ़ उन्हें ही ब्लॉक किया जाएगा लेकिन वेबसाइटों पर पाबंदी नहीं लगाई जाएगी.

फ़ेसबुक पर लगाई गई पाबंदी दो सप्ताह बाद हटा ली गई थी जब 'एवरीबडी ड्रॉ मोहम्मद' नाम का पेज फेसबुक से हटा लिया गया.

'एवरीबडी ड्रॉ मोहम्मद' के ख़िलाफ़ पाकिस्तान में ज़ोरदार प्रदर्शन हुए थे, इस्लाम धर्म में पैगंबर हज़रत मोहम्मद का किसी तरह से चित्रण करने पर रोक है.

इससे पहले भी वर्ष 2007 में पाकिस्तान में यूट्यूब पर पाबंदी लगा दी गई थी जिसका उद्देश्य परवेज़ मुशर्रफ़ की आलोचना करने वाली सामग्री को लोगों तक पहुँचने से रोकना था, कुछ समय बाद यूट्यूब पर लगा प्रतिबंध हटा लिया गया था.

इस बार अधिकारियों ने स्पष्ट किया है कि वेबसाइटों पर प्रतिबंध नहीं लगाया जा रहा है बल्कि आपत्तिजनकों पन्नों को लोगों तक पहुँचने से रोका जाएगा.

संबंधित समाचार