'पाक और लोगों पर केस चलाए'

Image caption चिदम्बरम ने पाकिस्तानी गृह मंत्री रहमान मलिक से बातचीत पर संतोष व्यक्त किया

भारत के गृह मंत्री पी चिदंबरम ने कहा है कि पाकिस्तान को मुंबई हमले के मामले में कुछ और लोगों के ख़िलाफ मुक़दमा चलाना चाहिए.

सार्क देशों के गृह मंत्रियों की बैठक के बाद इस्लामाबाद में पत्रकारों से बातचीत में उन्होंने कहा कि सार्क देशों ने जिस तरह आतंकवाद की निंदा की है उस से यह स्पष्ट है कि सब देश इस के ख़िलाफ एकजुट हैं.

उन्होंने कहा, “यह बहुत ही महत्वपूर्ण बात है कि सार्क देशों के गृह मंत्रियों ने आतंकवाद को प्रमुख मुद्दा बनाया है.”

उन्होंने आगे कहा, “मैं समझता हूँ कि इस बैठक में यह बहुत बड़ी प्रगति है. इस के साथ ही रहमान मलिक के साथ मेरी मुलाक़ात बहुत अच्छी रही, हम ने काफ़ी देर तक एक दूसरे से बात की और मुझे विश्वास है कि भविष्य में इस मुलाक़ात के बेहतर परिणाम निकलेंगे.”

पी चिदंबरम ने बताया कि रहमान मलिक के समक्ष उन्होंने कई मुद्दे उठाए और मुंबई हमलों को लेकर भी बात हुई.

मुक़दमा

पाकिस्तान में चल रहे मुंबई हमलों के मुक़दमे पर बात करते हुए भारतीय गृह मंत्री ने कहा कि पाकिस्तान इस सिलसिले में कुछ ओर लोगों के ख़िलाफ भी मुक़दमे चलाए.

उन्होंने कहा, “हम जानते हैं कि इस मामले में सात लोगों के ख़िलाफ मुक़दमा चल रहा है. मुक़दमे के बारे में पाकिस्तान सरकार ही कुछ कह सकती है. मैं समझता हूँ कि मुंबई हमलावरों की मदद करने वाले कुछ ओर लोगों के ख़िलाफ भी मुक़दमा चलना चाहिए. यह बात हमने पाकिस्तान सरकार से कही है.”

इससे पहले सार्क देशों के गृह मंत्रियों की बैठक में इस बात पर सहमति जताई गई कि आतंकवाद सब से बड़ा मुद्दा है जिसके ख़िलाफ़ सामूहिक प्रयास करने होंगे. बैठक में सार्क के लिए पुलिस बल बनाने, मानव तस्करी को रोकने सहित कई क्षेत्रीय मुद्दों पर विचार विमर्श हुआ.

पाकिस्तान के गृह मंत्री रहमान मलिक ने पत्रकारों को बताया कि सार्क देशों ने इस बात का संकल्प लिया है कि उनकी ज़मीन का किसी और देश के ख़िलाफ इस्तेमाल नहीं होगा.

आतंकवाद पर बात करते हुए उन्होंने कहा, “पाकिस्तान सरकार को इस के लिए जो भी करना पड़े वह करेगी और दूसरे सदस्य देश भी इस मामले पर चिंतित हैं. मैं समझता हूँ कि सब की एक साथ कोशिश कुछ बेहतर नतीजे लाएगी.”

सार्क गृह मंत्रियों की अगली बैठक 2011 में भूटान में होगी.

संबंधित समाचार