पाकिस्तान में 23 चरमपंथी मारे गए

  • 7 जुलाई 2010
पाकिस्तानी सेना
Image caption पाकिस्तानी सेना ने मालाकंड में चरमपंथियों के ख़िलाफ़ 2008 में अभियान शुरू किया था.

पाकिस्तान की पुलिस ने कहा है कि उत्तर-पश्चिम इलाक़े लोअर दीर में पाकिस्तानी सेना के साथ मुठभेड़ में कम से कम 23 चरमपंथी मारे गए हैं.

अधिकारियों का कहना है कि सूबा ख़ैबर पख़तूनख़्वाह के ज़िले लोअर दीर के तमीर गिरह इलाक़े में सोमवार को फ़ौजी कैंप पर आत्मघाती हमले के बाद पाकिस्तानी सुरक्षाबलों ने चरमपंथियों के ख़िलाफ़ कार्रवाई शुरू की है.

अधिकारियों के अनुसार मंगलवार को इस कार्रवाई के दौरान कलपानी में सुरक्षा बलों के साथ मुठभेड़ में 23 चरमपंथी मारे गए हैं.

सरकारी सूत्रों ने बताया कि लोअर दीर ज़िले के विभिन्न इलाक़ों में सोमवार और मंगलवार की रात को चरमपंथियों के ख़िलाफ़ अभियान शुरू किया गया था जिसके तहत कई जगह छापे मारे गए.

ज़िला दीर के पुलिस अधिकारी मुमताज़ ज़र्रीन ने पेशावर में बीबीसी के संवाददाता को बताया कि इस कार्रवाई के दौरान 284 संदिग्ध व्यक्तियों को हिरासत में लिया गया और उनसे पूछताछ जारी है.

कर्फ़्यू

उधर लोअर दीर के स्थानीय लोगों ने बताया कि सोमवार की रात से ज़िले भर में कर्फ़्यू लगा दिया गया है और घर-घर तलाशी ली गई है.

याद रहे कि मालाकंद डिवीज़न में चरमपंथियो के विरुद्ध फ़ौजी अभियान 2008 में शुरू किया गया था. अधिकारियों के मुताबिक़ उस कार्रवाई में बड़ी संख्या में चरमपंथी मारे गए और चरमपंथियों को गिरफ़्तार भी किया गया था.

लोअर दीर का इलाक़ा मालाकंद डिवीज़न का हिस्सा है और यह चरमपंथियों के निशाने पर रहा है.

इस साल फ़रवरी में भी दीर के इलाक़े में रिमोट कंट्रोल से किए गए धमाके में तीन अमरीकी फ़ौज़ी समेत आठ लोग मारे गए थे.

इसके अलावा इस साल अप्रैल में जश्ने ख़ैबर पख़तूनख़्वाह के मौक़े पर भी धमाके से 43 व्यक्ति मारे गए थे.

संबंधित समाचार