अमरीका ने किया पूरी सहायता का वादा

  • 20 अगस्त 2010
रिचर्ड हॉलब्रूक
Image caption रिचर्ड हॉलब्रूक ने कहा है कि अमरीका पाकिस्तान की सहायता के लिए सबसे पहले सामने आया था.

बाढ़ से प्रभावित पाकिस्तान के लिए अंतरराष्ट्रीय सहायता जुटाने के मक़सद से हो रही सुयंक्त राष्ट्र की आपातकालीन बैठक से पहले अमरीका ने कहा है कि वो पाकिस्तान की पूरी सहायता करेगा.

क्षेत्र में अमरीका के विशेष दूत रिचर्ड हॉलब्रूक ने बीबीसी को बताया है कि अमरीका किसी भी अन्य देश की तुलना में पाकिस्तान की अधिक सहायता कर रहा है.

सुयंक्त राष्ट्र ने कहा है कि पाकिस्तान में क़रीब चालीस लाख लोगों के पास सर ढकने के लिए जगह नहीं है और लाखों लोगों की तुरंत सहायता की ज़रुरत है.

हफ़्तों से हो रही बारिश के चलते पाकिस्तान का एक बड़ा हिस्सा पानी में डूब गया है. पानी अब तेज़ी से देश के दक्षिणी हिस्सों की ओर बढ़ रहा है, जिसके चलते और इलाक़ों के बाढ़ की चपेट में आने की आशंका भी बढ़ रही है.

न्यूयॉर्क में हॉलब्रूक ने कहा कि अमरीका पाकिस्तान की सहायता के लिए सबसे पहले आगे आया था. उन्होंने कहा कि अफ़गानिस्तान में सैनिक अभियान में जुटे हेलीकॉप्टरों को भी पाकिस्तान में राहत और बचाव कार्य के लिए इस्तेमाल किया गया है.

होलब्रूक ने कहा, “जब तक संभव है और ज़रुरत है, हम सहायता करते रहेंगे. हम इस सकंट में पाकिस्तान के सबसे अच्छे दोस्त हैं. हम पूरी सहायता कर रहे हैं.”

सयुंक्त राष्ट्र की विशेष बैठक

इसीबीच पाकिस्तान के लिए सहायता जुटाने के उद्देश्य से सयुंक्त राष्ट्र की न्यूयॉर्क में एक विशेष बैठक हो रही है.

सयुंक्त राष्ट्र ने कहा है कि पाकिस्तान में अब अस्सी लाख लोगों को तुरंत सहायता की ज़रुरत है जिनमें से आधों के पास रहने को घर नहीं है.

पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद क़ुरेशी ने चेतावनी दी हैं कि अगर पाकिस्तान को पर्याप्त अंतरराष्ट्रीय सहायता नहीं मिलती है तो देश की राजनीतिक स्थिति नियंत्रण से बाहर हो सकती है.

संबंधित समाचार