पाक ने भारतीय मछुआरों को रिहा किया

भारतीय मछुआरे (फ़ाइल फ़ोटो)
Image caption पाकिस्तान के सुप्रीम कोर्ट ने मछुआरों को रिहाई के आदेश दिए हैं

पाकिस्तान सरकार ने वहां की सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर 100 भारतीय मछुआरों को रिहा कर दिया है. मंगलवार को वाघा सीमा पर उन्हें भारतीय अधिकारियों के हवाले किया जाएगा.

ग़ौरतलब है कि पाकिस्तान की सुप्रीम कोर्ट ने 26 अगस्त को एक याचिका पर फ़ैसला सुनाते हुए उन भारतीय मछुआरों को रिहा करने का आदेश दिया था जो अपनी सज़ाएँ पूरी कर चुके हैं.

कराची के लांढी जेल के अधीक्षक शाकिर शाह ने बीबीसी को बताया, "इस जेल में 584 भारतीय मछुआरे क़ैद हैं जिनमें से 100 को रिहा किया जा रहा है."

उन्होंने कहा कि सरकार ने 442 मछुआरों को रिहा करने का आदेश दिया है और इन सबको चार चरणों में रिहा किया जाएगा.

अदालत का आदेश

शाह के मुताबिक पहले चरण में 100 भारतीय मछुआरों को रिहा किया गया है जिन्हें मंगलवार को वाघा सीमा पर भारतीय अधिकारियों के हवाले किया जाएगा.

उन्होंने बताया कि दो, चार और छह सितंबर को बाक़ी 342 भारतीय मछुआरों को रिहा किया जाएगा.

पाकिस्तान में मछुआरों के अधिकारों के लिए काम करने वाली संस्था 'फ़िशर फ़ोल्क फ़ोरम' ने 5 अगस्त को सुप्रीम कोर्ट में एक याचिका दायर की थी जिसमें कहा था कि पाकिस्तान की जेलों में क़ैद 582 मछुवारों में से 452 अपनी सज़ा पूरी कर चुके हैं और उन्हें तुरंत रिहा किया जाए.

फिशर फोरम के अध्यक्ष मोहम्मद अली शाह ने बीबीसी को बताया कि भारतीय मछुआरों की रिहाई दोनों देशों के बीच संबंध बेहतर करने के लिए नहीं, बल्कि अदालत के आदेश पर हुई है.

संबंधित समाचार