पाकिस्तान में नए इलाक़ों में बाढ़ का ख़तरा

  • 7 सितंबर 2010
पाकिस्तान में बाढ़

ताज़ा बाढ़ के कारण पाकिस्तान के दक्षिणी प्रांत सिंध में लाखों लोगों को अपना घरबार छोड़कर पलायन करना पड़ा है.

सिंध के उत्तर में तूरी डैम के टूटने के बाद पानी तेज़ी से दादू ज़िले की ओर बढ़ रहा है.

पिछले कुछ हफ़्तो में सिंध के 23 में से 19 ज़िले बाढ़ के पानी में डूब चुके हैं.

सहायता एजेंसियों के अनुसार मानसून हवाओं के कारण हुई भारी बारिश के चलते अब तक पाकिस्तान में विस्थापित हुए 80 लाख लोगों को भोजन और पीने के पानी की सख़्त ज़रुरत है.

तूरी डैम

तूरी डैम अगस्त में टूट गया था और अब ये आस-पास के इलाक़ों में फैलना शुरु हो गया है.

डैम के टूटने से सिंधु नदी दो भागों में बंट गई है. एक हिस्सा तो अपने परंपरागत रास्ते से अरब सागर की ओर बह रहा है लेकिन दूसरा हिस्सा रास्ते में आने वाले गांवों में फ़सलों और रिहाइशी इलाक़ों को पानी में डूबो रहा है.

ये पानी अब दादू ज़िले के क़रीब आ पहुंचा है और वहां स्थित मंछार नामक झील में जमा हो रहा है.

क्षेत्र में इतना पानी जमा हो गया है कि अब उन इलाक़ों के भी बाढ़ में डूबने की आंशका है जो अब तक तबाही से बचे रहे थे.

अगर मंछार झील के लबालब भरने के बाद पानी बाहर निकलता है तो पाकिस्तान का ‘इंडस हाइवे’ से संपर्क टूट सकता है.

प्रयास

पाकिस्तानी सेना के इंजीनियर ऐसे ही हालात के रोकने के लिए तूरी डैम को दुरुस्त करने में जुटे हैं. लेकिन पाकिस्तान के उत्तर में हुई ताज़ा भारी बारिश उनके प्रयासों में बाधा बनकर आई है.

सिंध के दादू ज़िले में अधिकारी दादू शहर और जोही के रिहाइशी इलाक़ों को बचाने की कोशिश में लगे हैं.

Image caption पाकिस्तान में लाखों लोग भोजन और पानी के लिए राहत संस्थाओं पर निर्भर हो गए हैं.

सिंध के सिंचाई मंत्री जाम सैफ़ुल्ला धारेजो ने समाचार एजेंसी एएफ़पी को बताया, “हम लोगों को बाढ़ से बचाने के लिए हर संभव प्रयास कर रहे हैं.”

ज़िले के एक अधिकारी इक़बाल मेमन के मुताबिक जोही क़स्बे को बाढ़ के पानी से ज़्यादा ख़तरा है. मेमन ने एक समाचार एजेंसी को बताया, “ख़ैरपुर, नाथनशाह और मेहर को डूबोने के बाद पानी अब तेज़ी से जोही की ओर बढ़ रहा है.”

जोही की 60 हज़ार आबादी में से 80 फ़ीसदी पलायन कर चुके हैं. पूरे इलाक़े में क़रीब साढ़े तीन लाख लोग अपने घरबार छोड़ सुरक्षित स्थानों की ओर रुख़ कर रहे हैं.

पाकिस्तान में आई बाढ़ में अब तक एक हज़ार छह सौ लोग मारे जा चुके हैं. देश में क़रीब एक करोड़ 70 लाख लोग बाढ़ से प्रभावित हो चुके हैं.

संबंधित समाचार