शमीम ने संभाली पाक सेना की संयुक्त कमान

ख़ालिद शमीम
Image caption लेफ़्टिनेंट जेनरल ख़ालिद शमीम को पाकिस्तान के ज्वाईंट चीफ़्स ऑफ स्टाफ़ कमेटी का अध्यक्ष बनाया गया है.

पाकिस्तानी सेना के एक वरिष्ठ अधिकारी लेफ्टीनेंट जनरल ख़ालिद शमीम को ज्वाईंट चीफ़्स ऑफ स्टाफ़ कमेटी का अध्यक्ष नियुक्त किया गया है.

शमीम आठ अक्टूबर को अपना पद संभालेंगे.

ज़ुल्फिक़ार अली भुट्टो के कार्यकाल में बनाए गए इस पद पर आसीन होनेवाले जनरल ख़ालिद शमीम 14वें चीफ़ ऑफ स्टाफ़ कमेटी के अध्यक्ष हैं.

इस पद पर अभी जनरल तारिक़ मजीद हैं जो सात अक्टूबर को सेवानिवृत्त हो रहे हैं.

कौन हैं जनरल शमीम

जनरल ख़ालिद शमीम का जन्म पंजाब के शहर सियालकोट में हुआ और उन्होंने अपनी प्राथमिक शिक्षा बलूचिस्तान की राजधानी क्वैटा में हासिल की.

1972 में वो सेना में भर्ती हुए और क़रीब नौ सालों तक बलुचिस्तान में विभिन्न पदों पर तैनात रहे.

उनके साथी सैन्य अधिकारियों का कहना है कि संस्कृति और सुरक्षा के लिहाज़ से वह बलूचिस्तान प्रांत के अच्छे जानकार हैं.

पूर्व सैन्य शासक परवेज़ मुशर्रफ़ के कार्यकाल में बलूचिस्तान में सैन्य अभियान हुआ तो उस समय जनरल ख़ालिद शमीम कोर कमाँडर थे.

सबसे बड़ा पद

पाकिस्तान में ज्वाईंट चीफ़ ऑफ स्टाफ़ कमेटी के अध्यक्ष का पद वायुसेना, नौसेना और थलसेना के प्रमुखों से भी बड़ा होता है लेकिन सभी मामले थलसेना के प्रमुख के नियंत्रण में होते हैं.

जब यह पद बनाया गया तो ये तय हुआ था कि तीनों सेनाओं के अधिकारी बारी-बारी से इस पद पर तैनात होंगे.

लेकिन अभी तक नौसेना के केवल दो अधिकारी और वायुसेना के एक अधिकारी ही इस पद पर रहे हैं. बाक़ी सभी थलसेना के अधिकारी ही इस पद पर आसीन रहे हैं.

जनरल ख़ालिद शमीम 57 वर्ष के हैं और सेनाध्यक्ष जनरल अशफाक़ परवेज़ कियानी के बाद सबसे वरिष्ठ अधिकारी हैं.

संबंधित समाचार