'क़ुरान के रास्ते पर चलूँगा'

Image caption ऑल पाकिस्तान मुस्लिम लीग के झंडे के साथ परवेज़ मुशर्रफ़

'सबसे पहले पाकिस्तान' के नारों के बीच सेनाध्यक्ष से राष्ट्रपति बनने वाले परवेज़ मुशर्रफ़ ने लंदन में अपनी राजनीतिक पार्टी ऑल पाकिस्तान मुस्लिम लीग का घोषणापत्र जारी किया है.

उन्होंने कहा कि "मैं इस्लाम के दिखाए रास्ते पर चलकर पाकिस्तान में नई रोशनी लाना चाहता हूँ".

परवेज़ मुशर्रफ़ ने अपने कार्यकाल में हुई ग़लतियों के लिए माफ़ी माँगते हुए नए सिरे से शुरूआत करने की बात कही है.

उन्होंने कहा, "कुछ फ़ैसले ऐसे हुए जिनमें ग़लतियाँ हुईं जिनसे पाकिस्तान को नुक़सान पहुँचा, मैं उन ग़लतियों के लिए पाकिस्तान की जनता से माफ़ी माँगता हूँ, मैंने अपनी ग़लतियों से सीखा है और आइंदा वैसी ग़लतियाँ नहीं करूँगा."

उन्होंने कहा कि ऑल पाकिस्तान मुस्लिम लीग में वे वही जोश चाहते हैं जो ऑल इंडिया मुस्लिम लीग में था जिसकी वजह से पाकिस्तान बना.

राजनीति में आने के अपने फ़ैसले के बारे में उन्होंने कहा, "पाकिस्तान की जनता के सामने कोई सही राजनीतिक विकल्प उपलब्ध नहीं है इसलिए मैंने राजनीति में आने का फ़ैसला किया".

'क़ुरान की रोशनी'

ऑल पाकिस्तान मुस्लिम लीग की नीतियों के बारे में उन्होंने कहा कि पार्टी का दिशा निर्देश करने वाली किताब क़ुरान है और सारे फ़ैसले उसी के मुताबिक़ किए जाएँगे.

उन्होंने कहा, "हम इस्लामिक रिपब्लिक के नाम से जाने जाते हैं, इसलिए मैं ये कहना चाहता हूँ कि हम जो कुछ भी करेंगे, जो भी सांविधानिक क़दम उठाएँगे वह क़ुरान और सुन्नत के मुताबिक़ होगा."

उनके समर्थकों ने इस घोषणा के बाद 'नारा-ए-तक़बीर, अल्लाह हो अकबर' के नारे लगाए.

पाकिस्तान में वंशवाद और भ्रष्टाचार का ख़ात्मा करने की बात करते हुए परवेज़ मुशर्रफ़ का कहना है कि अगर पाकिस्तान की जनता उन्हें मौक़ा दे तो वे अपने घोषणापत्र पर पूरी गंभीरता से अमल करेंगे.

उन्होंने अपनी पार्टी की विदेश नीति के बारे में संक्षेप में बात की और कहा कि वे अपने पड़ोसी देशों के साथ "अमन का रिश्ता" रखना चाहते हैं, साथ ही उन्होंने ये भी जोड़ा कि दुनिया के हर देश के साथ पाकिस्तान के रिश्ते में "पाकिस्तान की इज़्ज़त का ख़याल सबसे पहले" रखेंगे.

परवेज़ मुशर्रफ़ का कहना है कि वे अगले आम चुनाव से पहले पाकिस्तान जाएँगे.

संबंधित समाचार