पाक: ड्रोन हमले में 15 की मौत

Image caption अमरीका इन ड्रोन हमलों की सीधी ज़िम्मेदारी स्वीकार नहीं करता

पाकिस्तान के क़बालयी इलाक़े ख़ैबर एजेंसी में अमरीका के मानवरहित विमानों यानी ड्रोन के हमले में 15 लोग मारे गए हैं और कई अन्य घायल हो गए.

स्थानीय प्रशासन के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बीबीसी से बातचीत में बताया कि ख़ैबर एजेंसी की तीराह घाटी के दो विभिन्न इलाक़ों में अमरीका के ड्रोन विमानों ने संदिग्ध चरमपंथी ठिकानों को निशाना बनाया.

अधिकारी के अनुसार इन हमलों में 15 लोग मारे गए हैं और कम से कम 12 लोग घायल हुए हैं.

मरने वालों में दो चरमपंथी भी शामिल हैं जिनमें से एक नाम फ़ैज़ी ख़ान बताया जा रहा है.

अधिकारी ने बताया कि इन हमलों में प्रतिबंधित संगठन ‘तनज़ीम लश्करे इस्लाम’ के केंद्र को निशाना बनाया गया है.

पहली बार किसी अमरिकी ड्रोन विमान ने इस संगठन के ठिकानों को निशाना बनाया है.

तीसरा हमला

इससे पहले ड्रोन विमानों ने वज़ीरिस्तान में अफ़ग़ान तालिबान कमांडर गुल बहादुर और तालिबान के स्थानीय ठिकानों को निशाया बनाया था.

इस बीच स्थानीय लोगों का कहना है कि मरने वालों की संख्या ज़्यादा है.

लोगों के अनुसार शुक्रवार की सुबह से ही कई अमरीकी विमान इलाक़े में गश्त लगा रहे थे.

ग़ौरतलब है कि 2010 में इस इलाक़े में यह अब तक का तीसरा हमला है इससे पहले गुरुवार को भी एक अमरीकी ड्रोन ने हमला किया था जिस में सात लोग मारे गए थे.

अधिकारियों के अनुसार इस हमले में मरने वालों का संबंध अफ़ग़ानिस्तान में तालिबान के कमांडर हाफ़िज़ गुल बहादुर गुट और स्वात के तालिबान गुट से बताया गया था.

ख़ैबर एजेंसी में इस साल मई में पहला ड्रोन हमला हुआ था.

संबंधित समाचार