पाकिस्तान से आया प्याज़

  • 22 दिसंबर 2010
प्याज़
Image caption भारतीय बाज़ारों में प्याज़ की कीमत आसमान छू रही है

भारत में प्याज़ की आसमान छूती क़ीमतों के बाद पाकिस्तान के प्याज़ अब भारत के व्यंजनों को स्वादिष्ट बना रहे हैं.

लाहौर के व्यापारियों का कहना है कि उन्होंने पिछले दिनों करीब एक सौ मीट्रिक टन प्याज़ भारत को निर्यात किया है. इतना ही नहीं भारतीय व्यापारियों ने और प्याज़ की माँग की है.

पंजाब के ज़िले राजनपुर के एक किसान राओ अफ़सर अली ख़ान ने बीबीसी को बताया, "लाहौर के कुछ व्यापारियों से मुझसे संपर्क किया है प्याज़ खरीदने के लिए. ये व्यापारी भारत को निर्यात करने के लिए प्याज़ ख़रीदना चाहते हैं."

उनका कहना था, '' भारत में प्याज़ की कमी हो गई है और लाहौर के व्यापारी हम किसानों से प्याज़ ख़रीद कर भारत निर्यात करना चाहते हैं.''

राओ अफ़सर के अनुसार बाढ़ के कारण पाकिस्तान की बाज़ारों में किसानों को सही दाम नहीं मिल रहा है और अब भारतीय मांग से किसानों को बेहतर क़ीमत मिल रही है.

व्यापार दोनों के लिए बेहतर

उन्होंने कहा कि भारत के साथ व्यापार होना दोनों देशों के संबंधों के लिए अच्छा है लेकिन यह बराबरी की बुनियाद पर होना चाहिए.

ग़ौरतलब है कि पाकिस्तान में प्याज़ की क़ीमत 50 से 55 रुपय प्रति किलोग्राम है और करीब 22 लाख टन प्याज़ बाज़ारों में आता है जो पाकिस्तान की ज़रुरत के लिए काफ़ी है.

पाकिस्तान में सब से ज़्यादा प्याज़ की उपज बलूचिस्तान प्रांत में होती है. दूसरे नंबर पर सिंध, तीसरी पर ख़ैबर पख़्तूनख़्वाह और चौथे नंबर पर पंजाब प्रांत है. 40 प्रतिशत प्याज़ केवल बलूचिस्तान से बाज़ारों में लाया जाता है.

दूसरी ओर कुछ व्यापारी संगठनों ने भारत को प्याज़ के निर्यात का विरोध किया है. किसानों के अधिकारों के लिए काम करने वाली संस्था पाकिस्तान एग्री फोरम ने आशंका जताई है कि दूसरे देशों को प्याज़ की निर्यात न रोकी गई तो पाकिस्तान में प्याज़ की क़ीमतें बढ़ जाएँगी.

पाकिस्तान एग्री फोरम के अध्यक्ष इब्राहीम मुग़ल ने बीबीसी को बताया कि इस साल पाकिस्तान में प्याज़ की फ़सल अच्छी हुई है लेकिन इतनी भी अच्छी नहीं हुई कि दूसरे देशों को निर्यात की जाए.

उन्होंने कहा कि इस साल 23 से 24 लाख टन प्याज़ की पैदावर हुई है जो देश के ज़रुरत पूरी कर सकती है. उनका कहना था कि प्याज़ को निर्यात करने के बजाए उसे स्टोर किया जाए तो उससे पाकिस्तान में प्याज़ की क़ीमत और भी कम हो जाएगी.

उन्होंने चेतावनी दी की अगर सरकार ने भारत को प्याज़ का निर्यात न रोका तो कुछ दिनों में पाकिस्तान को ख़ुद प्याज़ आयात करना पड़ेगा.

संबंधित समाचार