मुठभेड़ में 11 पाक सैनिक मारे गए

पाकिस्तानी सेना
Image caption पाकिस्तान की उत्तर-पश्चिमी सीमा पर स्थित मोहमंद क्षेत्र को तालिबान का गढ़ माना जाता है.

पाकिस्तान में अधिकारियों का कहना है कि अफ़ग़ानिस्तान की सीमा से सटे इलाक़े में तालिबान लड़ाकों और सुरक्षाकर्मियों के बीच मुठभेड़ में 11 सैनिक मारे गए हैं और चार घायल हैं.

मुठभेड़ में 20 चरमपंथियों के भी मारे जाने की ख़बर है.

समाचार एजेंसी एएफ़पी को एक अधिकारी ने बताया है कि मुठभेड़ तब शुरू हुई जब क़रीब 150 तालिबान लड़ाकों ने बेदनामी क्षेत्र के आस-पास के पांच अर्धसैनिक अड्डों पर हमला बोल दिया.

तालिबान का दावा है कि उन्होंने 12 सैनिकों को मारा है और अर्धसैनिकों बलों की एक चेकपोस्ट को अपने कब्ज़े में ले लिया है.

आरोप

तालिबान प्रवक्ता ने कहा है कि उन्होंने 'फ़्रंटियर कॉर्प्स' के दो सैनिकों को पकड़ लिया है. सरकारी अधिकारियों ने तालिबान के इस दावे को ग़लत बताते हुए कहा है कि कोई भी सैनिक लापता नहीं है.

मोहमंद का ये इलाक़ा अफ़गानिस्तान की सीमा से सटा है और इसे तालिबान का गढ़ माना जाता है.

हाल के महीनों में पाकिस्तानी सेना ने इस क्षेत्र में सैन्य अभियान छेड़ा हुआ है लेकिन यहां चरमपंथियों को हमले लगातार होते रहे हैं.

इसी महीने क्षेत्र के ग़लानाई क़स्बे में एक सरकारी इमारत पर दो आत्मघाती हमले हुए थे जिनमें 43 लोग मारे गए थे. उस समय निशाने पर आई इमारत के भीतर तालिबान के विरुद्ध कार्रवाई करने के लिए योजना बनाई जा रही थी.

संबंधित समाचार