पाकिस्तान के लिए 'ख़ूनी' शनिवार

  • 25 दिसंबर 2010
पाकिस्तान

पाकिस्तान में शनिवार का दिन हिंसा से भरा रहा. देश में हुई अलग-अलग घटनाओं में 80 से ज़्यादा लोग मारे गए हैं. अधिकारियों का दावा है कि इनमें 40 चरमपंथी भी हैं.

पाकिस्तानी अधिकारियों के मुताबिक़ सूबा सरहद में विश्व खाद्य कार्यक्रम के एक वितरण केंद्र पर हुए आत्मघाती धमाके में 41 लोगों की मौत हो गई और बड़ी संख्या में लोग घायल हुए हैं.

आत्मघाती हमलावर के बारे में अलग-अलग दावे किए जा रहे हैं. कुछ अधिकारियों का कहना है कि हमलावर बुर्क़ा पहने हुए था, तो कुछ का कहना है कि आत्मघाती हमलावर महिला थी.

आत्मघाती धमाका क़बायली ज़िले बाजौड़ के मुख्य शहर खार में हुआ. एक समय ये इलाक़ा तालिबान चरमपंथियों का गढ़ था और यहाँ लगातार आत्मघाती धमाके होते थे.

कार्रवाई

क़बायली प्रशासनिक अधिकारी सोहैल ख़ान ने बताया, "आत्मघाती धमाके में कम से कम 41 लोग मारे गए हैं और 60 से ज़्यादा लोग घायल हुए हैं."

उन्होंने बताया कि वितरण केंद्र के बाहर हमलावर की जाँच के दौरान ही धमाका हो गया.

अधिकारियों का कहना है कि खार में कर्फ़्यू लगा दिया गया है और सुरक्षाकर्मी गश्त लगा रहे हैं. स्थानीय सरकारी अस्पताल के डॉक्टर मोहम्मद हफ़ीज़ का कहना है कि मारे गए लोगों में कई महिलाएँ और बच्चे थे.

इस आत्मघाती धमाके के कुछ ही घंटों बाद एक अन्य हिंसाग्रस्त क़बायली ज़िले मोहमंद में सेना ने चरपमंथियों के कई ठिकानों पर कार्रवाई की.

अधिकारियों का दावा है कि इस कार्रवाई में 40 चरमपंथी मारे गए. इस कार्रवाई में भारी बंदूकों से लैस हेलिकॉप्टरों का इस्तेमाल किया गया.

एक वरिष्ठ अधिकारी अमजद अली ख़ान ने समाचार एजेंसी एएफ़पी को बताया कि शुक्रवार से ही पाकिस्तानी सुरक्षाकर्मियों ने चरमपंथियों के ठिकाने पर कार्रवाई शुरू की थी. उन्होंने बताया कि सेना की कार्रवाई में 40 चरमपंथी मारे गए हैं.

संबंधित समाचार