पाकिस्तान: 24 घंटे में पांच ड्रोन हमले

  • 29 दिसंबर 2010
ड्रोन हमला
Image caption विकीलीक्स के अनुसार पाकिस्तानी सरकार गुप्त रुप से ड्रोन हमलों का समर्थन करती है.

पाकिस्तान के क़बायली इलाक़े उत्तरी वज़ीरिस्तान में अमरीका के मानवरहित विमानों ने तीन हमले किए जिन में 22 लोग मारे गए और सात अन्य घायल भी हो गए.

इस हमले के बाद पिछले 24 घंटों के भीतर हुए ड्रोन हमलों की संख्या पांच हो गई है. साथ ही इन हमलों में मरने वालों की संख्या 40 तक पहुँच गई है.

अधिकारियों के अनुसार उत्तर वज़ीरिस्तान के मुख्य शहर मीरानशाह से 15 किलोमीटर की दूरी पर अफ़ग़ानिस्तान की सीमा के पास एक ड्रोन हमला हुआ जिस में एक ठिकाने को निशाना बनाया गया.

इस हमले में जिस ठिकाने को निशाना बनाया गया उसके बारे में कहा जाता है कि वह स्थानीय तालिबान नेता हाफ़िज़ गुल बहादुर गुट के चरमपंथियों का था.

क्यों हुई है ड्रोन हमलों में बढ़ोतरी

स्थानीय प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारी ने बीबीसी को बताया कि इस हमले में इमारत को काफ़ी नुक़सान पहुँचा और वहाँ खड़ी एक गाड़ी क्षतिग्रस्त हो गई. इस हमले में सात लोग मारे गए और दो अन्य घायल हो गए.

हमले के एक घंटे बाद जब लोग इमारत के मलबे से शव निकालने में व्यस्त थे तो उस समय उसी स्थान पर एक और मिसाइल गिरी जिससे 12 लोग मारे गए.

हमलों का विरोध

कुछ देर बाद मीरानशाह के पास एक वाहन को निशाना बनाया गया जिस में तीन लोग मारे गए.

इस इलाक़े में अधिकतर ठिकाने अफ़ग़ान तालिबान कमांडर जलालुद्दीन हक़्क़ानी के बताए जाते हैं. हमलों में अधिकतर उन्ही के ठिकानों को निशाना बनाया गया है. अधिकारी यह भी बताते हैं कि मरने वालों में कोई बड़ा नेता नहीं है.

ओबामा के कार्यकाल में ड्रोन हमले बढ़े

इस से पहले सोमवार को दो ड्रोन विमानों के हमले में 18 लोग मारे गए थे और छह अन्य घायल हो गए थे.

ग़ौरतलब है कि सरकारी आँकड़ों के अनुसार उत्तर और दक्षिण वज़ीरिस्तान के क़बायली इलाक़ों में इस साल ड्रोन हमलों में मरने वालों की संख्या 100 से अधिक हो गई है.

इन हमलों के ख़िलाफ देश भर में विरोध प्रदर्शन हो रहे हैं.

क़रीब दो सप्ताह पहले इस्लामाबाद में ड्रोन हमलों में मारे गए लोगों के परिजनों ने अमरिकी खुफिया एजेंसी सीआईए के प्रमुख और अन्य अमरिकी अधिकारियों के ख़िलाफ मुकदा दर्ज करने के लिए अदालत में याचिका दायर की थी.

पाकिस्तान सरकार लगातार ड्रोन हमलों का विरोध करती रही है. हालांकि विकीलीक्स की ओर से जारी एक दस्तावेज़ के अनुसार पाकिस्तानी सरकार गुप्त रुप से ड्रोन हमलों का समर्थन करती है.

संबंधित समाचार