एमक्यूएम फिर सरकार के पाले में

  • 7 जनवरी 2011
गीलानी
Image caption गीलानी ने एमक्यूएम नेताओं से बातचीत की

पिछले दिनों पाकिस्तान में पैदा हुआ राजनीतिक संकट समाप्त होता नज़र आ रहा है.

रविवार को सत्ताधारी गठबंधन से समर्थन वापस लेने वाली पार्टी मुत्तहिदा कौमी मूवमेंट (एमक्यूएम) ने एक बार फिर गठबंधन में शामिल होने का फ़ैसला किया है.

कराची में प्रधानमंत्री यूसुफ़ रज़ा गीलानी के साथ एक संवाददाता सम्मेलन में एमक्यूएम के प्रवक्ता रज़ा हारून ने इसकी घोषणा की.

उन्होंने कहा, "देश और लोकतंत्र के हित में एमक्यूएम ने फ़ैसला किया है कि पार्टी सदस्य संसद में सरकार के साथ बैठेंगे."

प्रधानमंत्री गीलानी ने कहा कि दोनों पार्टियाँ मिलकर इस तूफ़ान को पार कर जाएँगी. उन्होंने कहा, "हमारी एकता लोकतंत्र और देश के हित को फ़ायदा होगा."

घोषणा

अल्ताफ़ हुसैन की एमक्यूएम ने तेल की क़ीमतों में बढ़ोत्तरी को एक अहम मुद्दा बनाते हुए रविवार को सरकार से समर्थन वापस ले लिया था.

लेकिन गुरुवार को नेशनल असेंबली में प्रधानमंत्री यूसुफ़ रज़ा गीलानी ने ये बढ़ोत्तरी वापस लेने की घोषणा कर दी थी.

उसी समय से ये माना जा रहा था कि एमक्यूएम दोबारा गठबंधन में शामिल हो सकता है.

एमक्यूएम का समर्थन हासिल करने की कोशिशों के तहत राष्ट्रपति आसिफ़ अली ज़रदारी कराची में ही थे, तो प्रधानमंत्री गीलानी भी शुक्रवार को वहाँ पहुँचे.

संबंधित समाचार