'अधिकारी की हिरासत ग़ैरक़ानूनी'

रेमॉंड डेविस इमेज कॉपीरइट AFP
Image caption रेमॉंड डेविस ने कुछ दिन पहले लाहौर में गोलीबारी कर दो पाकिस्तानियों की हत्या कर दी थी.

अमरीका ने कहा है कि पाकिस्तान ने ग़ैर-क़ानूनी तौर पर उसके अधिकारी को हिरासत में रखा है, जो अंतरराष्ट्रीय नियमों का भी उल्लंघन है.

इस्लामाबाद स्थित अमरीकी दूतावास की ओर से जारी एक प्रेस विज्ञप्ति में कहा गया कि रेमंड डेविस इस्लामाबाद में तैनात थे और उनके पास कूटनयिक पासपोर्ट है, जिस पर 2012 तक का वैध वीज़ा है.

इससे पहले अमरिकी दूतावास ने शुक्रवार को एक बयान किया था कि डेविस लाहौर स्थित उसके वाणिज्य दूतावास के अधिकारी हैं.

अमरीकी नागरिक रेमंड डेविस ने गुरुवार को लाहौर की एक भीड़ भरी सड़क पर दो पाकिस्तानी लोगों को गोली मार दी थी.

पुलिस ने घटना के तुरंत बाद उन्हें हिरासत में ले लिया था और उनके ख़िलाफ़ मुक़दमा दर्ज कर लिया था. पुलिस ने शुक्रवार को उन्हें लाहौर की एक निचली अदालत में पेश किया.

रेमंड डेविस ने अदालत में अपना बयान दिया था कि उन्होंने जान-बूझ कर उन लोगों की हत्या नहीं की और उनकी जान को ख़तरा है. इसलिए उन्हें सुरक्षा प्रदान की जाए.

बाद में अदालत ने अमरीकी नागरिक डेविस को छह दिनों की रिमांड पर पुलिस के हवाले कर दिया था.

अमरीकी दूतावास के बयान में कहा गया है कि 27 जनवरी को उसके अधिकारी ने उस समय आत्मरक्षा में गोलियाँ चलाई थी जब दो मोटरसाइकिल सवार लोगों ने उनका पीछा किया था.

बयान में आगे कहा गया है कि वह दोनों व्यक्ति पहले एक पाकिस्तानी नागरिक को लूट चुके थे और अमरीकी अधिकारी को भी लूटना चाहते थे.

नियमों का उल्लंघन

दूतावास ने अपने बयान में बताया कि जब स्थानीय पुलिस ने रेमंड डेविस को गिरफ़्तार किया तो उन्होंने पुलिस को अपनी कूटनीतिज्ञ हैसियत बताई लेकिन पुलिस ने अमरिकी दूतावास से पुष्टि करने के बजाए उन्हें हिरासत में रखा.

बयान के अनुसार उसके अधिकारी को गिरफ़्तार करना और हिरासत में रखना अंतरराष्ट्रीय नियमों और वियाना समझौते का उल्लंघन है जिस पर पाकिस्तान ने भी हस्ताक्षर किए हैं.

अमरीका ने पाकिस्तान सरकार ने मांग की है कि वह उसके अधिकारी को तुरंत रिहा करे जो दोनों देशों के बहतर संबंधों के हित में है.

वॉशिंगटन में अमरीकी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता पीजे क्राउली ने कहा था कि अमरीका यह सुनिश्चित करने की कोशिश करेगा कि इस घटना से दोनों देशों के संबंधों पर कोई असर न हो.

संबंधित समाचार