पाक जेल में बंद भारतीय नागरिक की रिहाई का आदेश

भारतीय जेलों में बंद पाकिस्तानी नागिरक रिहा. इमेज कॉपीरइट Getty Images
Image caption कुछ दिनों पहले भारत ने यहां जेलों में बंद 20 पाकिस्तानी नागरिको को रिहा किया था.

पाकिस्तान के राष्ट्रपति आसिफ़ अली ज़रदारी ने पाकिस्तान की जेल में पिछले 27 साल से बंद एक भारतीय नागरिक गोपाल दास की रिहाई के आदेश दे दिए हैं.

पाकिस्तानी राष्ट्रपति का ये ऐलान ऐसे समय में आया है जब क्रिकेट के मैदान ने दोनों देशों को फिर से शांति वार्ता शुरू करने का मौक़ा दिया है और भारत के प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह की दावत पर पाकिस्तान के प्रधानमंत्री यूसुफ़ रज़ा गिलानी भारत-पाकिस्तान के बीच मोहाली में होने वाले विश्व कप के सेमी फ़ाइनल मैच को देखने के लिए भारत आ रहे हैं.

राष्ट्रपति ज़रदारी के प्रवक्ता फ़रहतुल्लाह बाबर ने एक बयान जारी कर कहा कि राष्ट्रपति ज़रदारी ने भारत के सुप्रीम कोर्ट की अपील का सम्मान करते हुए प्रधानमंत्री गिलानी की सलाह पर भारतीय नागरिक गोपाल दास की सज़ा माफ़ कर दी है.

सुप्रीम कोर्ट की अपील

बयान के मुताबिक़ भारत के कई समाचार पत्रों ने हाल ही में ये ख़बर छापी थी कि भारत के सुप्रीम कोर्ट ने असाधारण तौर पर पाकिस्तानी अधिकारियों से अपील की है कि वो मानवता के आधार पर पाकिस्तान की जेल में बंद भारतीय नागरिक की सज़ा माफ़ करने की अपील पर ग़ौर करें.

बयान में कहा गया है कि भारत के सुप्रीम कोर्ट के जज जस्टिस मारकंडेय और जस्टिस ज्ञान सिंह के दो सदस्यीय खंडपीठ ने कहा था कि हम पाकिस्तानी अधिकारियों को कोई आदेश नहीं दे सकते हैं लेकिन अपील कर सकते हैं.

फ़रहतुल्लाह बाबर ने कहा कि सरकारी रिकार्ड के मुताबिक़ पाकिस्तान की जेल में बंद गोपाल दास को 1987 में उम्र क़ैद की सज़ा सुनाई गई थी और क़ानून के तहत इस साल के आख़िर में उन्हें वैसे ही रिहा होना था.

इस्लामाबाद में बीबीसी संवाददाता ज़ुल्फ़िक़ार अली का कहना है कि राष्ट्रपति ज़रदारी के प्रवक्ता ने अपने बयान में ये नहीं बताया कि भारतीय नागरिक को किस जुर्म में सज़ा हुई थी और ये भी नहीं बताया है कि उम्र क़ैद में 14 साल की सज़ा होती है तो फिर गोपाल दास इतने लंबे समय से जेल में बंद क्यों हैं.

फ़रहतुल्लाह बाबर ने कहा कि मनमोहन सिंह की तरफ़ से पाकिस्तान और भारत के बीच सेमी फ़ाइनल मैच देखने के लिए भारत जाने की दावत क़बूल करने के तुरंत बाद राष्ट्रपति ज़रदारी ने गोपाल दास की सज़ा माफ़ करने के आदेश पर दस्तख़्त किए.

ग़ौरतलब है कि पाकिस्तानी प्रधानमंत्री भारत-पाकिस्तान सेमी फ़ाइनल मैच देखने के लिए बुधवार को मोहाली जाएंगे और सोमवार से दोनों देशों के गृह सचिव दो दिवसीय बातचीत की शुरूआत करेंगें. ऐसे में राष्ट्रपति ज़रदारी का ये क़दम एक तोहफ़े की तरह से देखा जा रहा है.

संबंधित समाचार