'पाकिस्तानी क्रिकेटर अछूत नहीं'

  • 8 अप्रैल 2011
शाहिद अफ़रीदी इमेज कॉपीरइट Getty

पाकिस्तानी क्रिकेट कप्तान शाहिद अफ़रीदी ने इंडियन प्रीमियर लीग में पाकिस्तानी खिलाड़ियों के हिस्सा न ले पाने पर दुख जताया है.

शाहिद अफ़रीदी ने भारतीय क्रिकेट बोर्ड से अपील करते हुए कहा कि बेशुमार पैसों वाली आईपीएल प्रतियोगिता के लिए खिलाड़ियों का चुनाव होते वक़्त पाकिस्तानी खिलाड़ियों को अछूत नहीं समझा जाना चाहिए.

शाहिद अफ़रीदी ने न्यूज़ एजेंसी पीटीआई से हुई बातचीत में कहा, "अब समय आ गया है कि पाकिस्तानी खिलाड़ियों को आईपीएल में खेलने का मौका मिलना चाहिए. इस सत्र को शामिल करते हुए, पिछले तीन सालों से हम इस प्रतियोगिता का हिस्सा नहीं बन सकें हैं."

शाहिद अफ़रीदी ने इस बात पर ज़ोर दिया कि पाकिस्तानी खिलाड़ियों को अछूत का दर्जा दिया जा रहा है.

अफ़रीदी ने कहा, "हमें भारत में क्रिकेट खेलने में कोई समस्या नहीं है और हमने अभी अभी भारत में विश्व कप के सेमी फ़ाइनल में हिस्सा लिया है."

'पाकिस्तानी जनता आहत'

खिलाड़ियों के आईपीएल में न खेल पाने की बात के साथ साथ पाकिस्तानी क्रिकेट कप्तान के मुताबिक़ उनके देश की जनता को इस बात से बहुत कष्ट पहुंचा हैं कि उनके पसंददीदा खिलाड़ी इस प्रतियोगिता से वंचित हैं.

साथ ही अफ़रीदी ने इस बात पर भी ज़ोर दिया कि भारत पकिस्तान के बीच होने वले क्रिकेट मैच जंग कि तरह से नहीं होते क्योंकि दोनों टीमों के खिलाड़ियों के आपस में मधुर संबंध हैं. 2008 में आयोजित इंडियन प्रीमियर लीग के पहले संस्करण में कम से कम 11 पाकिस्तानी खिलाड़ियों ने हिस्सा लिया था.

उस प्रतियोगिता में शाहिद अफ़रीदी सबसे महंगे पाकिस्तानी खिलाड़ी साबित हुए थे और उन्हें डेकन चार्जर्स ने करीब सात लाख अमरीकी डॉलर में खरीदा था.

हालांकि पाकिस्तानी क्रिकेटर 2009 और 2010 में हुई आईपीएल प्रतियोगिता में हिस्सा नहीं ले सके थे क्योंकि मुंबई में हुए चरमपंथी हमले के बाद से उनकी सुरक्षा को लेकर चिंताएं थीं.

संबंधित समाचार