'पाक-अमरीका तनाव की जड़ आईएसआई'

Image caption मलेन ने कहा है कि आईएसआई और चरमपंथी गुट हक्कानी नेटवर्क के संबंध पाक-अमरीका रिश्तों में तनाव पैदा कर रहा है.

अमरीका के शीर्ष सैन्य अधिकारी ऐडमिरल माइक मलेन ने पाकिस्तानी ख़ुफ़िया संगठन आईएसआई को अमरीका और पाकिस्तान के संबंधों में तनाव के लिए ज़िम्मेदार ठहराया है.

अपनी अफ़ग़ानिस्तान यात्रा के दौरान मलेन ने कहा है कि आपसी तनाव दोनों में से किसी देश के हित में नहीं है.

उन के अनुसार दोनों देशों के संबंधों में इस समय तनाव है और इस का कारण पाकिस्तान की ख़ुफ़िया एजेंसी आईएसआई है.

उन्होंने कहा कि आईएसआई उन चरमपंथियों के साथ संपर्क में है जो अफ़ग़ानिस्तान में हमले कर रहे हैं.

माइक मलेन ने कहा, “हमारे तनाव का कारण पाकिस्तानी ख़ुफ़िया एजेंसी आईएसआई और चरमपंथी गुट हक़्क़ानी नेटवर्क के संबंध हैं और हम इस पर काम कर रहे हैं.”

उन्होंने आगे बताया, “मैं पाकिस्तान जा रहा हूँ और वहाँ मेरी मुलाक़ात पाकिस्तान के सेनाध्यक्ष जनरल अशफ़ाक़ कियानी से होगी और इस मुद्दे को उठाऊँगा.”

मलेन बुधवार दोपहर पाकिस्तान पहुंच गए हैं.

ऐडमिरल मलेन के अनुसार दोनों देशों के संबंध काफ़ी ख़राब हो गए थे लेकिन इस के बावजूद दोनों ने फ़ैसला लिया कि संबंध स्थापित रखना बेहद महत्वपूर्ण है.

अमरीका और पाकिस्तान के सुरक्षा संपर्क पर बात करते हुए उन्होंने कहा, “हम सब को विश्वास था कि हमारे संबंध ख़त्म नहीं होंगे क्योंकि अगर ऐसा होता तो यह दोनों देशों और इस क्षेत्र के लिए ख़तरनाक था.”

अफ़ग़ानिस्तान की सुरक्षा स्थिति पर बात करते हुए उन्होंने कहा कि अफ़ग़ानिस्तान में अमरीका को पिछले साल काफ़ी नुक़सान हुआ और इस साल भी होगा लेकिन तालिबान के लिए पिछला साल काफ़ी मुश्किल था और ये साल उससे भी ज़्यादा मुश्किल है.

संबंधित समाचार