कराची में विस्फोट, 16 की मौत

इमेज कॉपीरइट afp

पाकिस्तान के कराची शहर में गुरुवार रात हुए विस्फोट में कम से कम 16 लोग मारे गए हैं और 30 लोग ज़ख्मी हुए हैं. पुलिस ने कहा है बम को रिमोट कंट्रोल के ज़रिए उड़ाया गया. अभी तक किसी ने हमले की ज़िम्मेदारी नहीं ली है.

विस्फोट कराची के लयारी इलाक़े में बम फटने से हुआ. पुलिस का कहना है कि इस इलाक़े में ग़ैर कानूनी ढंग से चलने वाले जुए के अड्डे हैं जिन्हें विभिन्न आपराधिक गैंग चलाते हैं. इनकी आपसी में दुश्मनी रहती है लेकिन ऐसा कम ही होता है कि वे एक दूसरे पर हमला करें.

जिस समय हमला हुआ उस वक़्त इलाक़े में काफ़ी चहल पहल थी और धमाका होते ही वहाँ अफ़रातफ़री मच गई. अधिकारियों ने बताया है कि हताहतों की संख्या इसलिए ज़्यादा है क्योंकि बहुत छोटी सी जगह में बहुत ज़्यादा लोग इकट्ठा थे.

हिंसा

इमेज कॉपीरइट afp

प्रत्यक्षदर्शियों ने बीबीसी को बताया कि बम के छर्रों से कई लोगों की शरीर तार-तार हो गए. कुछ लोगों की तो मौके पर ही मौत हो गई.

कराची में जुआ खेलना ग़ैर क़ानूनी है पर ये यहाँ धडल्ले से खेला जाता है. पुलिस ने बीबीसी को बताया है कि जिस तरह से बम को उड़ाया गया वो किसी स्थानीय अपराधी का काम नहीं हो सकता. पुलिस ने चरमपंथियों का हाथ होने का संदेह जताया है.

कराची में पिछले कुछ अरसे से कई धमाके हो चुके हैं, जातीय और राजनीतिक हिंसा ने कई लोगों की जान ली है. राजनीतिक और जातीय में पिछले साल 775 लोगों की जान गई थी. इसके अलावा सुरक्षाकर्मियों और दरगाहों पर हुए तालिबान के हमलों में भी कई लोग मारे जा चुके हैं.

पिछले साल नवबंर में कराची में एक ज़बरदस्त धमाका हुआ था जिसमें 20 से ज़्यादा लोगों की मौत हो गई थी. ये चरमपंथी हमला पुलिस की अपराध जांच शाखा यानि सीआईडी के दफ़्तर को निशाना बनाकर किया गया था.

जबकि पिछले साल कराची में बड़े स्तर पर राजनीतिक और जातीय हिंसा भी हुई थी जिसमें सैकड़ों लोगों को जान गवानी पड़ी.

संबंधित समाचार