पाकिस्तान लौटे ज़ुलकरनैन हैदर

ज़ुलकरनैन इमेज कॉपीरइट AFP

पाकिस्तान के पूर्व विकेटकीपर ज़ुलकरनैन हैदर लंदन से इस्लामाबाद लौट आए हैं और उन्होंने सोमवार को गृहमंत्री रहमान मलिक से मुलाक़ात की.

ज़ुलकरनैन हैदर पिछले साल नवंबर में अचानक दुबई से लंदन चले गए थे और उन्होंने बताया था कि दुबई में एक व्यक्ति ने उनपर मैच फ़िक्सिंग के लिए दबाव डाला था.

ज़ुलकरनैन जब एकाएक लंदन रवाना हुए थे उस समय पाकिस्तान और दक्षिण अफ़्रीका के बीच दुबई में एक दिवसीय श्रंखला खेली जा रही थी.

ज़ुलकरनैन हैदर सोमवार सुबह लंदन से इस्लामाबाद पहुँचे जहाँ उनके परिजनों ने उनका स्वागत किया.

पाकिस्तानी अधिकारियों ने पूर्व विकेटकीपर ज़ुलकरनैन को पत्रकारों से बात करने की इजाज़त नहीं दी और उन्हें अपने साथ ले गए.

इससे पहले ज़ुलकरनैन के भाई अक़ील हैदर ने बीबीसी को बताया था कि गृहमंत्री रहमान मलिक ने उनसे फ़ोन पर बात की है.

गृहमंत्री ने उन्हें पाकिस्तान में सुरक्षा प्रदान करने का आश्वासन दिया है जिसके बाद ज़ुलकरनैन ने स्वदेश लौटने का फ़ैसला लिया.

गृहमंत्री रहमान मलिक ने पिछले हफ़्ते लंदन में ज़ुलकरनैन हैदर से मुलाक़ात की थी और आश्वासन दिया था कि उनको और उनके परिवार को सुरक्षा प्रदान की जाएगी.

'सट्टेबाज़ी के लिए दबाव'

पिछले साल लंदन पहुँचने पर ज़ुलकरनैन हैदर ने पत्रकारों को बताया था कि एक व्यक्ति उनपर सट्टेबाज़ी के लिए दबाव डाल रहा है और इसलिए उन्होंने टीम छोड़ने का फ़ैसला लिया.

हालांकि ज़ुलकरनैन सोशल नेटवर्किंग वेबसाईट 'फ़ेसबुक' पर क्रिकेट में हो रहे भ्रष्टाचार पर लगातार लिखते रहे लेकिन अभी तक कोई ठोस बात सामनी नहीं आई है.

लंदन पहुँचने पर उन्होंने ब्रितानी सरकार को शरण के लिए लिखा था लेकिन पिछले हफ़्ते रहमान मलिक से हुई अपनी मुलाक़ात के बाद अपनी अर्ज़ी वापस ले ली थी.

ग़ौरतलब है कि ज़ुलकरनैन हैदर के मामले की जाँच पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड की एक तीन सदस्यी समिति ने की थी और अपनी रिपोर्ट भी पेश की थी.

समिति ने ज़ुलकरनैन हैदर से कहा था कि वह उसके समक्ष पेश हों और टीम छोड़ने के कारण लिखित रुप में समाने रखें.

संबंधित समाचार