कौन हैं अबू सुहैब अल मक्की

पाकिस्तान में सुरक्षा अधिकारियों ने बताया है कि मोहम्मद अल उर्फ़ अबू सुहैब अल मक्की को मई के पहले सप्ताह में गिरफ़्तार किया गया था.

उन्हें कराची के इलाक़े गुल्शने इक़बाल से गिरफ़्तार किया गया जहाँ वे रह रहे थे. गुल्शने इक़बाल कराची का भीड़ वाला इलाक़ा है.

अधिकारियों का दावा है कि अबू सुहैब अल मक्की कराची के अलावा ऐबटाबाद, फ़ैसलाबाद और पेशावर में भी रहा है और गिरफ़्तारी से बचने के लिए वह बड़ी तेज़ी से अपने ठिकाने बदलता रहा है.

अधिकारियों के मुताबिक़ अबू सुहैब अल मक्की पश्तो भाषा भी जानता है.उन्होंने पेशावर में एक फैकट्री में काम करने के दौरान पश्तो भाषा सीखी.

पाकिस्तानी सेना ने यह स्पष्ट नहीं किया है कि अबू सुहैब अल मक्की अल क़ायदा में किस पद पर हैं जबकि अमरीका की वंछित व्यक्तियों की सूची में उन का नाम नहीं है.

सेना का कहना है कि मोहम्मद अली उर्फ़ अबू सुहैब अल मक्की का कार्य क्षेत्र पाकिस्तान और अफ़ग़ानिस्तान की सीमा का इलाका था.

अधिकारियों का यह भी दावा है कि अबू सुहैब अल मक्की अल क़ायदा के वरिष्ठ नेता रमज़ी बिन अल शिबा के करीबी साथी थे और उन को ऐमन अल ज़्वाहरी का भी करीबी माना जाता है.

ग़ौरतलब है कि रमज़ी बिन अल शिबा को 2002 में कराची से गिरफ़्तार किया गया था.

संबंधित समाचार