पाक में ड्रोन हमला और मुठभेड़, 30 मरे

ड्रोन इमेज कॉपीरइट AP
Image caption पाकिस्तान में 2004 से लगातार ड्रोन हमले जारी है.

पाकिस्तान के क़बायली इलाक़े कुर्रम एजेंसी में अमरीकी ड्रोन विमानों के हमलों और मोहमंद एजेंसी में सुरक्षाबलों और चरमपंथियों के बीच मुठभेड़ में 30 लोग मारे गए जिसमें चार सुरक्षाकर्मी भी शामिल हैं.

स्थानीय प्रशासन के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बीबीसी को बताया कि अफ़ग़ानिस्तान की सीमा से सटे क़बायली इलाक़े कुर्रम एजेंसी के तालुक़ा अलीज़ई में दो अमरीकी ड्रोन विमानों ने एक अस्पताल और एक वाहन को निशाना बनाया.

अधिकारी के मुताबिक़ जिस अस्पताल को निशाना बनाया गया उसमें कुछ चरमपंथियों का इलाज चला रहा था और वाहन को भी चरमपंथी इस्तेमाल कर रहे थे.

'दो बड़े विस्फ़ोट'

उन्होंने बताया कि हमले में एक ड्रोन विमान ने वाहन पर दो मिसाइल फ़ायर किए जिसमें तीन लोग मारे गए और हमले के समय वाहन में दो बड़े विस्फोट भी हुए.

अधिकारी का कहना था कि कुछ समय बाद उसी इलाक़े में मिट्टी से बने हुए कुछ कमरों के अस्पताल पर दो मिसाइल फ़ायर किए गए जिसमें तीन लोग मारे गए.

स्थानीय लोगों ने बताया कि यह कोई निजी अस्पताल नहीं था बल्कि कुछ कमरे थे जिसमें कुछ चरमपंथियों का इलाज चल रहा था.

ग़ौरतलब है कि पिछले कुछ सालों से अमरीकी ड्रोन विमान उत्तर और दक्षिण वज़ीरिस्तान के विभिन्न इलाक़ों में चरमपंथियों के ठिकानों को निशाना बना रहे हैं.

कुर्रम एजेंसी में सबसे पहले 2009 में ड्रोन हमला किया गया था.

'चरमपंथियों से मुठभेड़'

दूसरी ओर पाकिस्तानी सेना के अनुसार क़बायली इलाक़े मोहमंद एजेंसी में सुरक्षाबलों और चरमपंथियों के बीच मुठभेड़ में चार सुरक्षाकर्मी और 20 चरमपंथी मारे गए.

वहीं तालिबान विद्रोहियों ने 19 सुरक्षाकर्मियों को मारने का दावा किया है.

एक वरिष्ठ सैन्य अधिकारी ने बीबीसी को बताया कि यह मुठभेड़ मोहमंद एजेंसी के इलाक़े ख़ोएज़ई में हुई जिसमें सैंकड़ों सुरक्षाकर्मियों ने भाग लिया.

उन्होंने बताया कि इस कार्रवाई में 20 चरमपंथी और चार सुरक्षाकर्मी मारे गए और आठ सुरक्षाकर्मी घायल हो गए.

संबंधित समाचार