पाक में इस वर्ष भी बाढ़ की चेतावनी

पाक बाढ़
Image caption पाकिस्तान में पिछले साल भयंकर बाढ़ आई थी जिसमें लाखों लोग प्रभावित हुए थे.

पाकिस्तान में सिंध की प्रांतीय सरकार ने इसी साल सिंधु नदी में साढ़े दस लाख क्यूसिक पानी आने की आशंका जताई है जिससे दस लाख परिवार प्रभावित हो सकते हैं.

पिछले साल पाकिस्तान में भयंकर बाढ़ आई थी और सिंधु नदी से करीब साढ़े 11 लाख क्यूसेक पानी ने प्रवेश किया था जिससे 75 लाख लोग पीड़ित हुए थे.

प्रांतीय आपदा प्रबंधन विभाग ने आपात स्थिति से निपटने के लिए एक परियोजना तैयार की है जिसमें कहा गया है कि सिंधु नदी के दाहिने किनारे पर स्थित ज़िले कश्मोर, शिकारपुर, जैकबाबाद, लाड़काना, कंबर-शहदादकोट और बाएं किनारे पर ज़िले घोटकी, सखर, ख़ैरपुर, नौशहरोफ़ीरोज़ और बेनज़ीराबाद को हमेशा बाढ़ से ख़तरा रहता है.

इसके साथ कंबर-शहदादकोट और दादू ज़िलों में पहाड़ों पर होने वाली बारिश का पानी भी सिंधु नदी में प्रवेश करता है.

'इसी साल भी है ख़तरा'

सिंध सरकार के अनुसार इसी साल बाढ़ से सबसे ज़्यादा ख़तरा ज़िला ठटा को हो सकता है जहाँ दो लाख परिवार प्रभावित हो सकते हैं. इसके इलावा जैकबाबाद, कश्मोर, शिकारपुर और ख़ैबर दूसरे ज़िलों की तुलना में ज़्यादा बाढ़ से पीड़ित हो सकते हैं.

प्रांतीय आपदा प्रबंधन विभाग ने इन ज़िलों में सिंधु नदी के बाँधों और नहरों के पास ऐसी जगहों पर निशानदेही की है जो संवेदनशील हैं. पिछले साल आई बाढ़ के दौरान सिंधु नदी और उससे निकलने वाली नहर तीन हज़ार से ज़्यादा जगहों से टूट गई थी.

बाढ़ से बचने के लिए सिंधु सरकार ने सभी ज़िलों में कंट्रोल रुम बना दिए हैं जिससे वो दूसरे विभागों के साथ संपर्क करेंगे और राहतकार्यों में मदद करेंगे.

'सेना को सतर्क रहने के आदेश'

प्रांतीय आपदा प्रबंधन विभाग के मुताबिक़ बाढ़ की सूचना देने के लिए सिंचाई विभाग को सतर्क किया गया है और वह लोगों को तुरंत सूचना देगा.

परियोजना में बताया है कि बाढ़ में सेना स्थानीय प्रशासन की मदद करेगी और इस बार सेना के 18 हेलीकॉप्टर और एक हज़ार नौकाएँ मदद के लिए तैयार रहेंगी.

ग़ौरतलब है कि पिछले साल पाकिस्तान में सदी की सबसे भीषण बाढ़ आई थी जिसमें देश का पाँचवाँ हिस्सा पानी में डूबा हुआ था.

बाढ़ से इसकी वजह से 12 लाख से ज़्यादा मकान नष्ट हो गए थे.

संबंधित समाचार