'भारत महत्वपूर्ण पड़ोसी देश है'

गिलानी इमेज कॉपीरइट AFP
Image caption स्वात घाटी में हुई सभा में सेनाध्यक्ष जनरल कियानी भी मौजूद थे.

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री यूसुफ़ रज़ा गिलानी ने कहा है कि पाकिस्तान भारत को अपना अहम पड़ोसी समझता है और सभी समस्याएँ बातचीत के ज़रिए हल करना चाहता है.

उन्होंने यह बात स्वात घाटी में पाकिस्तानी सेना की ओर आयोजित एक सभा को संबोधित करते हुए कही जहाँ सेनाध्यक्ष जनरल अशफ़ाक़ परवेज़ कियानी और कई वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे.

उन्होंने कहा,"हम आशा करते हैं कि पाकिस्तान और भारत के बीच चल रही शांति वार्ता के लाभयादक परिणाम निकलेंगे और पाकिस्तान सभी मुद्दों को बातचीत के माध्यम से हल करना चाहता है."

प्रधानमंत्री ने बताया कि इस पूरी प्रक्रिया में भारत को अधिक सकारात्मक और सरल भूमिका निभानी पड़ेगी और सुरक्षा को लेकर पाकिस्तान की चिंताओं पर ध्यान देना पड़ेगा.

उन्होंने कहा,"द्विपक्षीय संबंधों में एक नया अध्याय लिखने के लिए भारत, पाकिस्तान की इच्छाशक्ति में कोई कमी नहीं देख पाएगा."

'आतंकवाद बड़ी चुनौती'

पाकिस्तान में आतंकवाद और चरमपंथ पर बात करते हुए उन्होंने कहा कि जनता, राजनीतिक दलों और सेना के सामूहिक प्रयास ने स्वात और उसके आस-पास के इलाक़ों में चरमपंथ को ख़त्म करने में मदद की.

उन्होंने कहा कि आतंकवाद के ख़िलाफ़ चल रहे युद्ध में पाकिस्तान ने बड़ी चुनौतियों का सामना किया है और अंतरराष्ट्रीय स्तर पर पाकिस्तान की कोशिशों को मान्यता देनी चाहिए.

क़बायली इलाक़ों में हो रहे अमरीकी मानवरहित विमानों के हमलों का विरोध करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि पाकिस्तान में अमरीकी ड्रोन हमलों से पाकिस्तान की कोशिशों पर नकारात्मक प्रभाव पड़ रहा है.

उन्होंने कहा कि उनकी सरकार ने राष्ट्र हित में चरमपंथ और आतंकवाद को ख़त्म करने केलिए कई उचित क़दम उठाए हैं.

उन्होंने कहा,"हम अपने अंतरराष्ट्रीय सहयोगियों के साथ मिल कर आतंकवाद को ख़त्म करने केलिए कोशिश कर रहे हैं और आतंकवादी गतिविधियों के पाकिस्तानी अपनी ज़मीन इस्तेमाल करने की अनुमति किसी को नहीं देगा."

अफ़ग़ानिस्तान पर बात करते हुए उन्होंने कहा कि स्थिर और शांत अफ़ग़ानिस्तान पाकिस्तान के राष्ट्रीय हित में है.

संबंधित समाचार