'पाक-अमरीका संबंध सामान्य हो रहे हैं'

  • 16 जुलाई 2011
हिना इमेज कॉपीरइट AP
Image caption हिना रब्बानी खर ने समिति को बताया कि अब संबंध सामान्य हो रहे हैं.

पाकिस्तानी संसद की विदेशी मामलों की स्थायी समिति ने कहा है कि पाकिस्तान और अमरीका के द्विपक्षीय संबंधों में प्रगति हो रही है और कुछ महीनों में यह सामान्य हो जाएँगे.

मुस्लिम लीग क्यू के वरिष्ठ सांसद और समिति के अध्यक्ष सलीम सैफ़ुल्लाह ने बीबीसी को बताया कि विदेशी मामलों की राज्य मंत्री हिना रब्बानी खर ने समिति को विस्तार से विवरण दिया है जिसमें बताया गया है कि अगले कुछ महीनों में मुद्दे तय पा जाएंगे.

उन्होंने कहा कि अमरीका के साथ संबंधों में तनाव ज़रुर है लेकिन अमरीका एक विश्व शक्ति है उसके साथ संबंध ख़त्म करना कोई बेहतर रणनीति नहीं होगी.

दूसरी ओर ख़ुफ़िया एजेंसी आईएसआई के प्रमुख लैफ़्टीनेंट अहमद शुजा पाशा अपनी अमरीका यात्रा से लौट कर पाकिस्तान पहुँच गए.

अमरीका स्थित पाकिस्तानी राजदूत हुसैन हक़्क़ानी ने सोशल नेटवर्किंग वेबसाईट ट्विटर पर अपने एक संदेश में लिखा है कि जनरल पाशा ने अपनी अमरीका यात्रा को पूरा कर लिया है.

अमरीकी अधिकारियों ने भी पाकिस्तानी और अमरीकी गुप्तचर विभागों के प्रमुख के बीच मुलाक़ातें सकारात्मक रुप से संपन्न हो गई जबकि पाकिस्तानी अधिकारियों का कहना है कि इस दौरे ने संबंधों को सामान्य कर दिया है.

'सैनिक साहयता पर रोक'

ग़ौरतलब है कि अमरीका ने कुछ दिन पहले पाकिस्तान को 80 करोड़ डॉलर की सैनिक सहायता रोकने की घोषणा की थी.

उस घोषणा के तुरंत बाद आईएसआई के प्रमुख लैफ़्टीनेंट जनरल अहमद शुजा पाशा अमरीका चले गए थे और विश्लेषकों ने इस यात्रा को बहुत ही महत्वपूर्ण क़रार दिया था.

गत दो मई को ऐबटाबाद में अमरीकी सैनिकों ने कार्रवाई कर अल-क़ायदा के प्रमुख ओसामा बिन लादेन को मार दिया था.

अमरीकियों ने यह कार्रवाई पाकिस्तान को बिना जानकारी दिए की थी जिसपर पाकिस्तानी सरकार ने कड़ी आपत्ति जताई थी.

उस घटना के बाद से दोनों देशों के बीच संबंधों में काफ़ी तनाव हो गया है.

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार