पाकिस्तान में बाढ़ से लाखों प्रभावित

  • 16 अगस्त 2011
बाढ़ इमेज कॉपीरइट Reuters
Image caption सिंध पिछले साल भयंकर बाढ़ से हज़ारों प्रभावित हुए थे.

पाकिस्तान के सिंध प्रांत में अधिकारियों का कहना है कि भारी बारिश के कारण आई बाढ़ से 23 लाख 30 हज़ार लोग प्रभावित हुए हैं जबकि पंजाब में बाढ़ से कई फ़सले नष्ट हो गई हैं.

सिंध के बदीन और टंडो मोहम्मद ख़ान ज़िले सबसे ज़्यादा प्रभावित हुए हैं. प्रांतीय सरकार ने बदीन, टंडो मोहम्मद ख़ान, मीरपुर ख़ास ज़िले के दो तालुक़ा और थरपारकर के एक तालुक़ा को आपदा प्रभावित क्षेत्र घोषित कर दिया है.

सरकारी आँकड़ों के मुताबिक़ बदीन ज़िले में 15 लाख, टंडो मोहम्मद ख़ान में छह लाख, मीरपुर ख़ास में दो लाख और थरपारकर में 23 हज़ार लोग प्रभावित हुए हैं जिसमें से कम लोग ही सरकारी केंद्रों तक पहुँच सके हैं.

ज़िला बदीन के एक वरिष्ठ अधिकारी दादलो ज़ोहरानी ने बीबीसी को बताया कि बदीन में 15 लाख लोग ताज़ा बारिशों से प्रभावित हुए हैं और पीड़ियों केलिए 144 केंद्र बनाए गए हैं जिसमें करीब 40 हज़ार लोग रह रहे है.

बदीन और मीरपुर ख़ास ज़िलों के अधिकतर इलाक़े नहर में दरार पड़ने से डूब गए हैं और बारिश की वजह से बदीन के नहरों में 40 से ज़्यादा दरारें पड़ी हैं और वह अभी तक बंद नहीं की जा सकी हैं.

'सैकड़ों पीड़ित सड़कों पर'

बदीन के निवासी हबीब जत ने टेलीफ़ोन पर बीबीसी को बताया कि उनका गाँव पूरी तरह से पानी में डूब गया है और आधे से ज़्यादा घर नष्ट हो गए हैं.

उनके अनुसार कुछ लोगों ने आसपास के स्कूलों में शरण ली है और कुछ सड़कों पर खुले आसमान के नीचे रहन पर मजबूर हैं.

बदीन के वरिष्ठ अधिकारी दादलो ज़ोहरानी का कहना है कि जिस प्रकार की तबाही आई है, उसमें लोगों की शिकायत तो आएँगी लेकिन प्रशासन अपने तौर पर लोगों को साहयता पहुँचाने में व्यस्त है.

प्रधानमंत्री यूसुफ़ रज़ा गिलानी ने सोमवार को सिंध मुख्यमंत्री सैयद क़ायम अली शाह से साथ ज़िला बदीन और टंडो मोहम्मद ख़ान का हवाई दौरा किया.

टंडो मोहम्मद ख़ान में पत्रकारों से बातचीत करते हुए सैयद क़ायम अली शाह ने कहा कि सरकार ने टंडो मोहम्मद ख़ान को आपदा प्रभावित क्षेत्र घोषित कर दिया है और यहाँ बड़ी तबाही हुई है.

'पंजाब में बाढ़'

उस मौक़े पर प्रधानमंत्री यूसुफ़ रज़ा गिलानी ने कहा कि केंद्रीय और प्रांतीय सरकार पीड़ियों की साहयता और पुनर्निर्माण में अपनी भूमिका अदा करेंगी ताकि लोगों को मदद मिल सके.

दूसरी ओर पंजाब प्रांत के सतलज नदी में बाढ़ से सैकड़ों लोग प्रभावित हुए हैं और कई फ़सले तबाह हो गई हैं.

ज़िला कसूर के वरिष्ठ अधिकारी सयद इरशाद हुसैन ने बताया कि भारतीय सीमा से सटे गंडा सिंह इलाक़े में भारी तबाही आई है.

कई गाँवों को ख़ाली भी करवाया गया है.

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार