30 से ज़्यादा पाक बच्चे अग़वा

पाकिस्तान-अफ़गानिस्तान सीमा इमेज कॉपीरइट AP
Image caption पाकिस्तान-अफ़गानिस्तान की लंबी सीमा पर सुरक्षा एक बड़ी चुनौती रही है.

गलती से अफ़ग़ानिस्तान की सीमा पार कर गए 30 से ज़्यादा पाकिस्तानी बच्चों को चरमपंथियों ने अग़वा कर लिया है.

10 से 15 साल की उम्र के ये बच्चे ईद के मौके पर घूमने के लिए पाकिस्तान के क़बायली इलाके बाजौड़ गए थे.

इन लड़कों को गुरुवार को अग़वा किया गया लेकिन इस ख़बर को सार्वजनिक नहीं किया क्योंकि क़बायली नेता अपने स्तर पर इन लड़कों की रिहाई की कोशिशें कर रहे थे.

पाकिस्तान-अफ़गानिस्तान की लंबी सीमा पर सुरक्षा एक बड़ी चुनौती रही है.

बीबीसी उर्दू सेवा को मिली जानकारी के मुताबिक इस समूह में शामिल कुछ बड़े बच्चे अपहरणकर्ताओं के चंगुल से भागने में क़ामयाब रहे और उन्होंने क़बायली नेताओं को अपहरण की जानकारी दी.

समाचार एजेंसी एएफपी ने स्थानीय प्रशासन के एक अधिकारी के हवाले से बताया, ''ये बच्चे ईद के दूसरे दिन पिकनिक मनाने गए थे और गलती से सीमा लांघ गए, जिसके बाद चरमपंथियों ने उन्हें अग़वा कर लिया.''

ये पहली बार नहीं है जब पाकिस्तान के क़बायली इलाकों से बड़ी संख्या में पाकिस्तानी बच्चों को अग़वा किया गया था.

जून 2009 में इस इलाके में सफ़र कर रहे दर्जनों बच्चों को तालिबान की ओर से अग़वा कर लिया गया था और कुछ दिन बाद इन बच्चों को रिहा किया गया.

इस इलाके में काम करने वाले संवाददाताओं के मुताबिक़ पाकिस्तान और अफ़गानिस्तान की सीमा के आर-पार काम करने वाले कई चरमपंथी संगठनों के तार एक-दूसरे से जुड़े हुए हैं.

संबंधित समाचार