'पाकिस्तान को आर्थिक सहायता रोके ब्रिटेन'

इमरान ख़ान

पाकिस्तान के प्रमुख विपक्षी नेता और पूर्व क्रिकेट खिलाड़ी इमरान ख़ान ने ब्रिटेन से उनके देश को मिलने वाली आर्थिक मदद रोकने की गुज़ारिश की है.

इमरान ख़ान ने बीबीसी के रेडियो 4 को बताया कि पाकिस्तान इस समय पहले से कहीं अधिक ग़रीब है और अंतरराष्ट्रीय सहायता ज़रुरतमंदों पर नहीं पहुंच रही है.

ब्रिटेन आने वाले सालों में पाकिस्तान की दी जाने वाली सालाना सहायता को 14 करोड़ पाउंड से बढ़ा 35 करोड़ पाउंड करने वाला है.

लेकिन इमरान ख़ान ने बीबीसी को बताया, “अगर हमें आर्थिक सहायता नहीं मिलती है तो हम आर्थिक सुधार करने पर मज़बूर हो जाएंगे और इस तरह अपने पैरों पर खड़े हो पाएंगे. ”

‘अनुदान अभिशाप है’

इमरान ख़ान पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ़ पार्टी के प्रमुख हैं. उन्होंने कहा कि अनुदान राशि पाकिस्तान में भ्रष्ट सरकारों का पोषण कर रही है और आर्थिक सुधार ही उनके देश को बचा पाएंगे.

उन्होंने कहा, “दुर्भाग्य से आर्थिक सहायता पाकिस्तान के लिए अभिशाप है. कुल अनुदान राशि दो हज़ार करोड़ अमरीकी डॉलर है. इतनी बड़ी रकम भी पाकिस्तान के लोगों को राहत नहीं दे पा रही है. ”

गत सप्ताह इमरान ख़ान ने बीबीसी को बताया था कि पाकिस्तान को अमरीका से अनुदान राशि स्वीकार नहीं करनी चाहिए.

उन्होंने ये कहा था कि आतंकवाद से लड़ने के मुद्दे पर अमरीका को पाकिस्तान पर भरोसा करना चाहिए.

संबंधित समाचार