लादेन के परिवारजनों को भेजा जा सकता है स्वदेश

इमेज कॉपीरइट BBC World Service
Image caption ऐबटाबाद के इसी घर में लादेन छुपे हुए थे

पाकिस्तान की सरकार ने सउदी अरब और यमन की सरकारों से संपर्क किया है जिससे ओसामा बिन लादेन के परिवार के लोगों को वापस उनके देश भेजा जा सके.

बीबीसी को मिली जानकारी के अनुसार अधिकारियों का कहना है कि अब लादेन के परिवारजनों से बातचीत की ज़रुरत नहीं है और उनसे जितनी पूछताछ की जानी थी वो की जा चुकी है.

ऐबटाबाद में अमरीकी सैनिकों के ओसामा बिन लादेन को मार देने के बाद उनकी तीन पत्नियाँ और दो बेटियां पाकिस्तान सरकार की हिरासत में थे.

उनके परिवार को स्वदेश भेजने के कार्रवाई तब शुरू हो रही है जब ओसामा बिन लादेन की मौत की जाँच कर रहे पाकिस्तानी न्यायिक आयोग ने ओसामा की तीन पत्नियों और दो बेटियों के बयान रिकॉर्ड कर लिए हैं.

अब जो जानकारी मिली है उसके अनुसार पाकिस्तान सरकार के अधिकारी सउदी अरब और यमन के अधिकारियों से इस सिलसिले में बातचीत कर रहे हैं.

लादेन के मामले में पाकिस्तान सरकार पहले से ही सांसत में है. जहां उसे अमरीका के विरोध का सामना करना पडा है वहीं घरेलू स्तर पर भी सरकार परेशानी में है.

पाकिस्तान सरकार ऐबटाबाद में लादेन के मारे जाने की घटना की कई स्तर पर जांच हो रही है. बताया जाता है कि जांच इस बात की भी की जा रही है कि अमरीका को लादेन के वहां छुपे होने की जानकारी कैसे मिली.

इसी संबंध में उस डॉक्टर को भी हिरासत में लिया गया है जो कथित रुप से पोलियो का टीका लगाने ऐबटाबाद के उस घर में गया था जहां लादेन छिपे हुए थे.

संबंधित समाचार