ड्रोन हमले में तीन चरमपंथी मारे गए

  • 13 अक्तूबर 2011
ड्रोन इमेज कॉपीरइट Getty
Image caption उत्तर और दक्षिण वज़ीरिस्तान शहर सामान्यतौर पर ड्रोन मिसाइल हमलों का निशाना बनता रहा है

पाकिस्तान के उत्तर पश्चिम इलाक़े में हुए एक अमरीकी ड्रोन हमले में कम से कम तीन संदिग्ध चरमपंथी मारे गए हैं.

पाकिस्तानी खुफ़िया अधिकारियों के अनुसार उत्तरी वज़ीरिस्तान के क़बायली क्षेत्र में स्थित मीरानशाह शहर के एक परिसर के नज़दीक ड्रोन से दो मिसाइल हमले किए गए.

उत्तर और दक्षिण वज़ीरिस्तान शहर सामान्यतौर पर ड्रोन मिसाइल हमलों का निशाना बनते रहे हैं.

अमरीका का कहना है कि ये क्षेत्र अल-क़ायदा और तालिबान विद्रोहियों को शरण देता है, जो अफ़ग़ानिस्तान में मौजूद नेटो सेनाओं पर हमले करते हैं.

अगस्त महीने में उत्तरी वज़ीरिस्तान में हुए एक ड्रोन हमले में कम से कम 21 चरमपंथी मारे गए थे. मरने वालों में कई विदेशी भी शामिल थे, जिनका संबंध हक़्क़ानी नेटवर्क से बताया जाता है.

हमलों में बढ़ोत्तरी

बराक ओबामा के साल 2008 में राष्ट्रपति बनने के बाद से क्षेत्र में ड्रोन हमले बढ़ गए हैं. इस इलाक़े में पिछले साल 100 से ज़्यादा छापे मारे जाने की ख़बर दर्ज की गई है.

हालांकि अमरीका हर बार ड्रोन हमले की पुष्टि नहीं करता है, लेकिन विश्लेषकों का कहना है कि केवल अमरीकी सेना में ऐसे एयरक्राफ्ट वहां तैनात करने की क्षमता है.

पाकिस्तान ड्रोन हमलों की आलोचना करता है. उसका कहना है कि ऐसे हमलों से आम नागरिक भी चरमपंथियों का समर्थन करते है.

लेकिन पर्यवेक्षकों का कहना है कि प्रशासन इन हमलों पर ध्यान नहीं देता है, लेकिन हाल ही में ऐसे संकेत मिले है जो ये बताते है कि वो इन हमलों को सीमित करना चाहते हैं.

इन छापों में कई चरमपंथियों के अलावा बहुत से आम नागरिक भी मारे गए हैं.

संबंधित समाचार