पाक: क़बाइली इलाक़े से 12 लोग अग़वा

पाकिस्तानी सेना इमेज कॉपीरइट AFP
Image caption पाकिस्तान के क़बायली इलाक़ों में सेना पिछले कई सालों से चरमपंथियों का मुक़ाबला कर रही है.

पाकिस्तान के कबाइली इलाक़े ख़ैबर एजेंसी में पिछले कुछ दिनों से हत्या और अपहरण की घटनाओं में एक बार फिर बढ़ोतरी हुई है और ताज़ा घटना में 12 लोगों का अपहरण किया गया है.

स्थानीय प्रशासन के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बीबीसी को बताया कि गुरुवार की कुछ अज्ञात सशस्त्र लोगों ने पहाड़ी इलाक़े शलमान में मलिक सुलतान नामक कबाइली नेता के घर में दाख़ित हुए और वहाँ मौजूद 12 लोगों को हथ्यारों के ज़ोर पर अग़वा कर अपने साथ ले गए.

उन्होंने कहा कि उन लोगों को उस समय अग़वा किया गया जब वे सो रहे थे और इन लोगों को फ़िरौती के लिए अग़वा किया गया है.

स्थानीय लोगों का कहना है कि अग़वा किए गए लोग पाकिस्तान और अफ़ग़ानिस्तान की सीमा पर विदेशी सामान का व्यापार करते थे. अभी तक किसी गुट ने इसी ज़िम्मेदारी नहीं ली है.

'सरकारी समर्थकों का अपहरण'

कुछ लोगों का कहना है कि अग़वा किए गए लोग सरकार के समर्थक हैं लेकिन सरकारी और अन्य सूत्रों से इसकी पुष्टि नहीं हो सकी है.

ग़ौरतलब है कि अपहरण की घटना जिस इलाक़े में घटी है वह कबाइली इलाक़े मोहमंद एजेंसी की सीमा से सटा हुआ है और उस इलाक़े में चरमपंथियों कार्रवाईयों में बढ़ोतरी हो रही है.

ख़ैबर एजेंसी में अपहरण की बढ़ती घटनाओं ने आम लोगों को चिंतित कर दिया है. गुरुवार को ख़ैबर एजेंसी के इलाक़े जमरूद में एक मानवाधिकार कार्यकर्ता लतीफ़ आफ़रीदी को मार दिया गया था.

पाकिस्तान मानवाधिकार आयोग ने इसकी कड़े शब्दों में निंदा की थी और सरकार से मांग की थी कि वह प्रांत में मानवाधिकार कार्यकर्ताओं की सुरक्षा सुनिश्चित करें.

संबंधित समाचार