पाक: वज़ीरिस्तान में फिर फैला पोलियो

पाकिस्तान पोलियो इमेज कॉपीरइट AFP
Image caption पाकिस्तान के क़बायली इलाक़ों में पोलियो से बचाव की बूँदें पिलाने का विरोध किया जाता है.

पाकिस्तान के कबायली इलाके उत्तर वजीरिस्तान में इस साल पोलियो से पीड़ित बच्चों की संख्या 15 तक पहुँच गई है.

इस्लामाबाद स्थित पोलियो लैब ने कबायली इलाके मीरान शाह की निवासी जानुल्लाह के सात महीनों के बेटे बखतुल्लाह को पोलियो से पीड़ित क़रार दिया.

विश्व स्वास्थ्य संगठन के मुताबिक़ सितंबर 2009 से अब तक वजीरिस्तान के 25 हज़ार से ज़्यागा बच्चों को पोलियो से बचाव की बूँदें नहीं पिलाई जा सकी, जिसका बड़ा कारण चरमपंथी कार्रवाईयों के चलते इलाकों तक न पहुँचना है.

विश्व स्वास्थ्य संगठन के आँकड़े बताते हैं कि पाकिस्तान में पिछले साल पोलियो से पीड़ित 198 बच्चों की पहचान हुई जबकि इसी साल में अब तक बलूचिस्तान और सिंध में दो दो, पंजाब से एक और ख़ैबर पख़्तूनख़्वाह से चार और क़बायली इलाक़ों से तीन बच्चों की पहचान हुई है.

'चिंता का विषय'

रिपोर्ट का कहना है कि उत्तर वजीरिस्तान में इसी साल का यह पहला पोलियो का केस सामने आया है और इसी तरह पोलियो के पीड़ित बच्चों की संख्या 15 तक हो गई है.

विश्व स्वास्थ्य संगठन के वरिष्ठ अधिकारी ने बीबीसी को बताया कि कबायली इलाकों में पोलियो का सामने आना चिंता का विषय है और पोलियो ने पूरे इलाके को अपनी चपेट में ले लिया है.

ग़ौरतलब है कि पाकिस्तान के खैबर पख्तूनख़्वाह प्रांत और क़बायली इलाक़ों में आम तौर पर बच्चों को पोलियो से बचाव की बूँदें पिलाने का विरोध किया जाता है और चरमपंथी संगठन भी इसके ख़िलाफ़ हैं.

दुनिया में पाकिस्तान, अफ़ग़ानिस्तान और नाईजेरिया केवल तीन ऐसे देश हैं जो पोलियो पर काबू पाने में नाकाम रहे हैं और इस वक़्त दुनिया में 70 प्रतिशत के ज़्यादा पोलियो से पीड़ित बच्चों का संबंध पाकिस्तान से है.

विश्व स्वास्थ्य संगठन ने पिछले साल अक्तूबर में चीन में पोलियो का केस सामने आने की ज़िम्मेदारी पाकिस्तान पर लागू की थी और बताया गया था कि पोलियो को वाइरस पाकिस्तान से आया था.

संबंधित समाचार