गिलानी को सुप्रीम कोर्ट की नई समयसीमा

गिलानी इमेज कॉपीरइट BBC World Service
Image caption प्रधानमंत्री गिलानी दो बार सुप्रीम कोर्ट के सामने पेश हो चुके हैं

पाकिस्तानी के सुप्रीम कोर्ट ने प्रधानमंत्री यूसुफ रजा गिलानी को राष्ट्रपति आसिफ अली जरदारी के खिलाफ भ्रष्टाचार के आरोप में कार्रवाई शुरू करने के लिए नई समयसीमा दी है.

अदालत ने कहा है कि प्रधानमंत्री गिलानी स्विट्जरलैंड के अधिकारियों को पत्र लिखकर राष्ट्रपति जरदारी के खिलाफ भ्रष्टाचार के मामलों को फिर से खोलने को कहें.

अदालत ने प्रधानमंत्री से कहा है कि इस मामले पर 21 मार्च को अदालत में रिपोर्ट दी जाए.

सुप्रीम कोर्ट का ये भी कहना है कि गिलानी या तो रिपोर्ट भेजें या फिर खुद अदालत में पेश हों.

इनकार

पहले प्रधानमंत्री गिलानी सुप्रीम कोर्ट के ऐसे आदेश को मानने से इनकार कर चुके हैं और इस कारण उनके खिलाफ अवमानना का मामला चल रहा है.

प्रधानमंत्री दो बाद सुप्रीम कोर्ट के सामने पेश भी हो चुके हैं.

इस मामले में प्रधानमंत्री के वकीलों का कहना है कि कानून मंत्रालय ने यह सलाह दिया था कि चूँकि राष्ट्रपति जरदारी को इस मामले में छूट मिली हुई है, इसलिए उनके खिलाफ मामलों को नहीं चलाया जा सकता.

इस्लामाबाद से बीबीसी संवाददाता इल्यास खान का कहना है कि सुप्रीम कोर्ट के आदेश से गिलानी सरकार और न्यायपालिका के बीच तनाव बढ़ने के आसार हैं.

संबंधित समाचार