पाकिस्तान: अहले सुन्नत-वल-जमात पर पाबंदी

  • 10 मार्च 2012
नोटिस
Image caption नोटिस के तहत अहले सुन्नत-वल-जमात एक चरमपंथी संगठन है.

बीबीसी के पास मौजूद दस्तावेज के अनुसार पाकिस्तान सरकार ने धार्मिक संगठन अहले सुन्नत-वल-जमात पर पाबंदी लगा दी है.

ये संगठन पहले सिपाहे सहाबा के नाम से पाकिस्तान में सक्रिय था.

पाकिस्तान के गृह मंत्रालय की तरफ से जारी नोटिस में कहा गया है कि सरकार को शक है कि अहले सुन्नत-वल-जमात और इससे पहले प्रतिबंधित संगठन सिपाहे सहाबा चरमपंथी गतिविधियों में शामिल है इसलिए सरकार ने आतंकवाद निरोधक कानून के तहत इस संगठन पर पाबंदी लगा दी है.

पाकिस्तान के गृह मंत्री रहमान मलिक से इस बारे में बातचीत करने के लिए कई बार कोशिश की गई लेकिन उनसे संपर्क नहीं हो सका.

ये संगठन पाकिस्तान में धार्मिक संगठनों के समूह 'पाकिस्तान दिफ़ा काउंसिल' का एक अहम हिस्सा है.

लेकिन इस संगठन के प्रमुख मौलाना अहमद लुधियानवी ने कहा कि उन्हें संगठन पर पाबंदी लगने के बारे में कोई जानकारी नहीं है.

'शांति में यकीन'

बीबीसी ऊर्दू के संवाददाता रियाज सुहैल से बातचीत के दौरान मौलाना लुधियानवी ने कहा कि वे लोग शांति में यकीन रखने वाले लोग हैं और वे सिर्फ़ पाकिस्तान की सुरक्षा के लिए काम करते हैं.

उनका कहना था, ''अमरीका और पाकिस्तान में बैठे अमरीकी समर्थकों को ये बात स्वीकार नहीं. इस समय हम पर जो पाबंदी लगाता है वो दर असल पाकिस्तान पर पाबंदी लगाने की कोशिश करता है.''

उनका कहना था कि उनके संगठन ने हमेशा संवैधानिक दायरे में रहकर काम किया है और उन्होने कभी भी कानून को अपने हाथ में नही लिया.

मौलाना लुधियानवी ने कहा कि अगर सरकार उनके संगठन पर पाबंदी लगाती है तो वो कानूनी तरीके से इसका विरोध करेंगें.

गौरतलब है कि पूर्व राष्ट्रपति जनरल परवेज मुशर्रफ ने 2002 में सिपाहे सहाबा समेत पाचं संगठनों पर पाबंदी लगा दी थी.

इसके बाद ही अहले सुन्नत-वल-जमात का गठन हुआ था.

सिपाहे सहाबा का गठन 1985 में हुआ था और परवेज मुशर्रफ के कार्यकाल से पहले ये संगठन चुनावों में भी हिस्सा लेता रहा है.

सिपाहे सहाबा के ही कुछ कार्यकर्ताओं ने बाद में लश्कर-झांग्वी के नाम से एक संगठन बनाया था.

पुलिस के अनुसार ये संगठन चरमपंथी गतिविधियों में शामिल है और तालेबान से भी इसके संबंध हैं.

लेकिन अहले सुन्नत-वल-जमात का कहना है कि लश्कर-झांग्वी से उनका कोई संबंध नहीं है.

संबंधित समाचार