'एक गोली से मारे गए थे ओसामा बिन लादेन'

ओसामा बिन लादेन का घर इमेज कॉपीरइट AP
Image caption अमरीकी सैनिकों ने दो मई 2011 को ऐबाटाबाद में कार्रवाई कर ओसामा को मार दिया था.

पाकिस्तान में अल कायदा प्रमुख ओसामा बिन लादेन की उपस्थिति और उनकी मौत की जाँच कर रहे आयोग का कहना है कि ऐबटाबाद में दो मई 2011 को हुई कार्रवाई में ओसामा बिन लादेन एक गोली से मारे गए थे.

पाकिस्तानी न्यायिक आयोग ने दो मई 2011 को ऐबटाबाद में हुई घटना को संकलित करने का काम पूरा कर लिया है.

जाँच कर रहे न्यायिक आयोग की इस ‘ड्राफ्ट रिपोर्ट’ में दो मई के दिन हुई घटना की जो जानकारी दी गई है, वह अमरीका की ओर से दी गई जानकारी से कुछ अलग है.

रिपोर्ट में दो मई 2011 को ऐबटाबाद में हुई कार्रवाई पर अमरीकी पक्ष के बारे में भी कुछ सवाल उठाए गए हैं.

यह रिपोर्ट दो मई की घटना के बारे में पाकिस्तान की ओर से पहला औपचारिक रुप से बयान होगा. अभी तक किसी पाकिस्तानी अधिकारी ने दो मई को ऐबटाबाद में घटी घटना की औपचारिक रूप से कोई विस्तृत जानकारी नहीं दी है.

ऐबटाबाद आयोग के सदस्यों ने एक तरफ इस मामले की जाँच जारी रखी हुई है, तो दूसरी ओर ओसामा बिन लादेन की पाकिस्तान में उपस्थिति, अमरीकी सैनिकों के हाथों उनकी मौत और पाकिस्तानी खुफिया विभाग की चूक पर एक विस्तृत रिपोर्ट तैयार करने का सिलसिला भी जारी है.

आयोग के सदस्यों ने रिपोर्ट तैयार करने के लिए आपस में अपनी जिम्मेदारियाँ बाँट ली हैं और उसके विभिन्न पहलुओं पर ध्यान केंद्रित किया हुआ है.

गोलीबारी क्यों नहीं हुई?

न्यायिक आयोग ने दो मई के दिन हुई घटना की जानकारी भी इकट्ठा की है. उस घटना की जानकारी की बुनियाद ओसामा बिन लादेन के परिजनों, मोहल्ले वालों और अमरीकी कार्रवाई पूरी होने के बाद घर में प्रवेश करने वाले अधिकारियों के बयानों पर है.

इसके साथ ही आयोग के सदस्यों और विशेषज्ञों की ओसामा के घर के दौरे से भी कुछ परिणाम लिए गए हैं.

रिपोर्ट में बताया गया है कि ओसामा बिन लादेन के छह से ज्यादा हथियारबंद साथी मौजूद थे और वहाँ ओसामा की मौत के लिए की गई अमरीकी कार्रवाई के दौरान केवल एक गोली का खोल और निशान मिला है.

गोली का निशान ओसामा बिना लादेन के सोने के कमरे की दीवार पर पाया गया था, जहाँ ओसामा बिन लादेन को मार दिया गया था.

आयोग की रिपोर्ट का कहना है कि यह वही गोली का निशान है तो अल कायदा के प्रमुख की मौत का कारण बनी. रिपोर्ट में संभावना जताई गई है कि यह गोली ओसामा बिन लादेन के सिर के एक हिस्से की चीरती हुई दीवार पर लगी थी.

रिपोर्ट में बताया गया है कि उस गोली के निशान के सिवा घर में कहीं भी गोली का न ही निशान है और न ही कोई खोल मौजूद है.

रिपोर्ट में सवाल उठाया गया है कि ओसामा बिन लादेन के साथियों ने अमरीकी सैनिकों पर एक भी गोली क्यों नहीं चलाई, क्योंकि अमरीकी अधिकारियों का कहना है कि उस पूरी कार्रवाई में इसका कोई अधिकारी दुश्मन की गोली का निशाना नहीं बना.

यह रिपोर्ट प्रधानमंत्री यूसुफ़ रज़ा गिलानी को पेश की जाएगी और वही फैसला करेंगे कि रिपोर्ट सर्वजानिक की जाए या नहीं.

संबंधित समाचार