परीक्षाओं में ज़रदारी की खिल्ली उड़ाई गई

नवीं परीक्षा के लिए पर्चा इमेज कॉपीरइट BBC World Service
Image caption पंजाब प्रांत में परीक्षा के पर्चों में राष्ट्रपति ज़रदारी और प्रधानमंत्री गिलानी की खिला उड़ाई गई है.

पाकिस्तान में इन दिनों अनोखी राजनीति चल रही है और राजनीतिक दलों के बीच मतभेद छात्रों की परीक्षाओं में भी दिख रहे हैं.

सत्ताधारी दल पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी और विपक्षी दल मुस्लिम लीग नवाज़ के बीच पिछले कई सालों से टकराव की स्थिति चल रही है.

केंद्र में गठबंधन सरकार का नेतृत्व पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी कर रही है जबकि पंजाब प्रांत में मुस्लिम लीग नवाज़ की सरकार है और दोनों दल हमेशा आपस में लड़ते रहते हैं.

दो दिन पहले पंजाब प्रांत में नवीं कक्षा की परीक्षाएँ हुई, जिसमें मुस्लिम लीग नवाज़ के प्रमुख नवाज़ शरीफ और पंजाब के मुख्यमंत्री शहबाज़ शरीफ के प्रतिद्वंदी राष्ट्रपति आसिफ ज़रदारी और प्रधानमंत्री यूसुफ रज़ा गिलानी की काफी चर्चा हुई.

हुआ यूँ कि नवीं कक्षा की परीक्षा के दौरान उम्मीदवारों को जो पर्चे बांटे गए, उसमें राष्ट्रपति आसिफ ज़रदारी और प्रधानमंत्री यूसुफ रज़ा गिलानी के नाम सवालों के जवाबों में शामिल थे.

'ज़रदारी-गिलानी निशाने पर'

लाहौर बोर्ड की ओर से उर्दू भाषा के पर्चे में नवीं कक्षा के उम्मीदवारों से यह सवाल पूछा गया कि ‘हमारा निज़ाम-ए-ज़िंदगी किस चीज़ पर कायम है?’ उस सवाल के जवाब के लिए छात्रों को चार विकल्प दिए गए थे जिसमें दीन (धर्म), दुनिया, दौलत (संपत्ति) और राष्ट्रपति ज़रदारी शामिल था.

इसी तरह दक्षिण पंजाब के शहर मुल्तान बोर्ड के पर्चे में यह सवाल पूछा गया था कि ‘पाकिस्तान की हिफाज़त किसकी ज़िम्मेदारी है? (पाकिस्तान की सुरक्षा किसकी ज़िम्मेदारी है?’ संभावित जवाब के लिए चार विकल्प दिए गए, जिसमें अल्लाह, आवाम (जनता), राष्ट्रपति ज़रदारी, और प्रधानमंत्री गिलानी का नाम दर्ज था.

लाहौर बोर्ड ने अपने बयान में कहा है कि नवीं कक्षा के पर्चे में शामिल सवाल के बारे में वह नहीं जानते हैं क्योंकि यह पर्चा दक्षिणी ज़िले डेरा गाज़ी खान से तैयार हो कर आया था और वहीं के किसी अध्यापक ने यह पर्चा तैयार किया है.

'जाँच के आदेश'

पंजाब के प्रांतीय शिक्षा मंत्री मुजतबा शुजा रहमान ने इस मामले को नोटिस लेते हुए जाँच के आधेश दिए हैं.

उन्होंने पत्रकारों से बातचीत करते हुए कहा कि परीक्षाओं के पर्चों में किसी भी राजनीतिक शख्सियत के नाम नहीं होने चाहिएँ और जाँच रिपोर्ट आने के बाद मामले में लिप्त लोगों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी.

सत्ताधारी दल पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी ने परीक्षाओं के पर्चों में राष्ट्रपति आसिफ अली ज़रदारी और प्रधानमंत्री यूसुफ़ रज़ा गिलानी का नाम शामिल करने पर कड़ी प्रतिक्रिया व्यक्त की है.

केंद्रीय सूचना एवं प्रसारण मंत्री फिरदौस आशिक आवाण ने नवीं कक्षा की परीक्षा के पर्चे में राजनीतिक शख्सियत के नाम शामिल करने का ज़िम्मेदार पंजाब के मुख्यमंत्री शाहबाज़ शरीफ को क़रार दिया है.

संबंधित समाचार