मां की हत्या के लिए मुशर्रफ दोषी: बिलावल

  • 26 मई 2012
बिलावल इमेज कॉपीरइट BBC World Service
Image caption बिलावल ने कहा कि मुशर्रफ़ ने जब बेनज़ीर का रूख उनके खिलाफ़ देखा तो बेनज़ीर की सुरक्षा घटा दी गई थी.

पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी के अध्यक्ष और पाकिस्तान की पूर्व प्रधानमंत्री बेनजीर भुट्टो के बेटे बिलावल भुट्टो ने कहा है कि उनकी मां बेनजीर भुट्टो की हत्या के लिए पाकिस्तान के तत्कालीन राष्ट्रपति परवेज मुशर्रफ जिम्मेदार हैं.

अमरीका के दौरे पर आए हुए बिलावल भुट्टो ने ये बातें अमरीकी समाचार चैनल सीएनएन को दिए गए एक साक्षातकार में कहीं.

टीवी के इंटरव्यू में जब उनसे पूछा गया कि वे ऐसा क्यों कह रहे हैं तब उन्होंने कहा कि, मुशर्रफ को ना सिर्फ उनकी मां को मिलने वाली धमकियों के बारे में पता था बल्कि उन्होंने खुद बेनजीर को धमकी देकर कहा था कि उनकी सुरक्षा दोनों के संबंधों पर निर्भर करेगी.

बिलावल भुट्टो ने कहा,“उन्होंने मेरी मां का कत्ल किया. मैं उन्ही को ज़िम्मेदार मानता हूं, क्यूंकि उनको सारी धमकियों का पता था, और उन्होंने खुद मेरी मां को पहले भी धमकी दी थी.”

उन्होंने कहा कि परवेज़ मुशर्रफ़ ने धमकी दी थी कि बेनज़ीर भुट्टो की सुरक्षा इस बात से जुड़ी है कि वह मुशर्रफ़ के साथ सहयोग करती हैं कि नहीं.

बिलावल ने कहा कि मुशर्रफ़ ने जब बेनज़ीर का रूख उनके खिलाफ़ देखा तो बेनज़ीर की सुरक्षा घटा दी गई थी.

सुरक्षा में चूक

बिलावल भुट्टो का कहना था, “परवेज़ मुशर्ऱफ़ ने मेरी मां से कहा था कि आपकी सुरक्षा इस बात पर निर्भर करती है कि आप मेरे साथ कैसे रिश्ते रखती हैं और मेरे साथ कितना सहयोग करती हैं. और जब मेरी मां ने मुशर्रफ़ के खिलाफ़ बोलना शुरू किया तो उनकी सुरक्षा कम कर दी गई थी.”

एक अन्य अमरीकी टी वी चैनल से बात करते हुए सत्ताधारी पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी के अध्यक्ष बिलावल भुट्टो ने अमरीका को चेताया कि ओसामा बिन लादेन के मारे जाने में सीआईए की मदद करने वाले पाकिस्तानी डॉक्टर शकील आफ़रीदी की सज़ा उनके देश का कानूनी मामला है और कानून के हिसाब से ही उन्हे सज़ा दी गई है.

इसके अलावा पाकिस्तान और अमरीका के बिगड़ते रिश्तों के बारे में बात करते हुए बिलावल भुट्टो ने कहा कि अमरीका और पाकिस्तान के रिस्ते पिछले एक साल में बिगड़ गए हैं लेकिन उन्होंने कहा कि अमरीका को सलाला हमले के मामले में पाकिस्तान से माफ़ी मांग लेनी चाहिए जिससे हालात बेहतर हो सकें.

पिछले साल नवंबर महीने में अफ़्गान-पाक सीमा पर स्थित सलाला सैनिक चौकी पर अमरीका द्वारा किए गए इस हमले में 24 पाकिस्तानी सैनिक मारे गए थे. इस हमले के बाद पाकिस्तान ने नेटो की सपलाई का रास्ता बंद कर दिया है और इस मुद्दे पर अमरीका और पाकिस्तान के बीच तनाव औऱ बढ़ गया है.

पाकिस्तान में अपने राजनीतिक करियर के बारे में बिलावल भुट्टो ने कहा कि वे अगले चुनावों में ज्यादा सक्रिय भूमिका निभाएंगे और राजनीति में पूरे तौर से उतरेंगे.

बिलावल कहते हैं, “मैं अपने देश के लोगों की मदद जिस तरह भी कर सकता हूं ज़रूर करूंगा. पाकिस्तान एक मुश्किल समय से गुज़र रह है और हम सबको मिलकर मदद करनी होगी. ”

पाकिस्तान में अपनी सुरक्षा के बारे में वह चिंतित हैं कि नहीं इस सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि उनको कोई परेशानी नहीं है, औऱ उनको भरोसा है कि मौजूदा सरकार उनको पर्याप्त सुरक्षा देगी.

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार