बलूचिस्तान में विदेशी एजेंसियां सक्रिय: फ्रंटियर कोर

फाइल फोटो इमेज कॉपीरइट Getty
Image caption ओबेदुल्ला खान ने 'अफगानिस्तान में सक्रिय' चरमपंथी शिविरों का भी जिक्र किया

पाकिस्तान में अर्धसैनिक बल फ्रंटियर कोर के प्रमुख ने कहा है कि बलूचिस्तान में 20 देशों की खुफिया एजेंसियां सक्रिय हैं.

बलूचिस्तान और कबाइली इलाकों में चरमपंथियों के खिलाफ अभियानों में पाकिस्तानी सेना के साथ-साथ फ्रंटियर्स कोर की भी मदद ली जाती रही है.

फ्रंटियर कोर के प्रमुख - आईजी मेजर जनरल ओबेदुल्ला खान ने क्वेटा में पत्रकारों से बातचीत करते हुए दावा किया कि बीते कुछ समय से पाकिस्तान के संस्थानों के खिलाफ मुहिम चलाई जा रही है ताकि अराजकता फैले और जनता का भरोसा सरकारी संस्थानों से उठ जाए.

उन्होंने कहा कि बलूचिस्तान में विदेशी एजेंसियां की गतिविधियों पर काबू पाने के लिए पाकिस्तानी एजेंसिया प्रयास कर रही हैं और इन गतिविधियों में देश के अंदर और बाहर बैठे हुए तत्व शामिल हैं.

आईजी खान ने बलूचिस्तान में पृथकतावादियों के 121 शिविरों का उल्लेख किया और कहा कि अफगानिस्तान में भी चरमपंथियों के 30 शिविर हैं.

उनका कहना था कि अफगानिस्तान में मौजूद विदेशी फौजों को इसके बारे में पता है, फिर भी उनके खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की जा रही है.

उन्होंने ये भी कहा कि एक खास योजना के तहत सुरक्षाबलों और फ्रंटियर कोर को निष्क्रिय करने की कोशिश की जा रही है.

संबंधित समाचार